विदेश , Page - 1 of 9

यूक्रेन पर रूसी हमलों के बीच यमन के हूती विद्रोहियों ने सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर मिसाइल से हमले किए।

यूक्रेन पर रूसी हमलों के बीच यमन के हूती विद्रोहियों ने सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर मिसाइल से हमले किए।

यूक्रेन पर रूसी हमलों के बीच यमन के हूती विद्रोहियों ने सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर मिसाइल से हमले किए। सऊदी अरब के समर्थन में उतरा अमरीका। सनकी तानाशाह किम जोंग ने जापान के समुद्र में मिसाइल गिरार्ई। विश्वयुद्ध की आशंका। अब भारत पर असर पड़ेगा। ========= यमन के हूती विद्रोहियों ने सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर मिसाइलों से हमला शुरू कर दिया है। ऐसे हमले 25 मार्च से लगातार जारी है। इन हमलों का इसलिए महत्व है क्योंकि यमन के हूती विद्रोही शिया मुसलमानों से संबंध रखते हैं। इस संगठन की स्थापना 1990 में यमन के शासकों …

Read More »

पेट्रोल 50 रुपये तो डीजल 75 रुपये हुआ महंगा, इंडियन ऑयल ने एक झटके में इस जगह पर बढ़ाए दाम

पेट्रोल डीजलपरवैटमेंदोप्रतिशतकीकमी

पेट्रोल 50 रुपये तो डीजल 75 रुपये हुआ महंगा, इंडियन ऑयल ने एक झटके में इस जगह पर बढ़ाए दाम कच्चे तेल की कीमतों में उछाल के चलते भारत में पिछले कुछ दिनों से पेट्रोल और डीजल के दाम में तेज बढ़ोतरी होने के कयास लगाए जा रहे हैं रूस-यूक्रेन के संकट के चलते कच्चे तेल की कीमत अपने कई सालों के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है। इसके चलते भारत में पिछले कुछ दिनों से पेट्रोल और डीजल के दाम में तेज बढ़ोतरी होने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि इस बीच इंडियन ऑयल (Indian oil) की श्रीलंका …

Read More »

FaceBook : क्या फेसबुक उग्रवादी संगठन है? रूस ने तो यही कहा

FaceBook :

FaceBook :क्या फेसबुक उग्रवादी संगठन है? अंधाधुंध बम और मिसाइल बरसाने वाले रूस ने तो यही कहा रूस ने फेसबुक की पैरेंट कंपनी मेटा को एक ‘चरमपंथी/उग्रवादी संगठन’ बताते हुए उसके खिलाफ शुक्रवार को एक आपराधिक मामला दर्ज किया है रूस (Russia) में फेसबुक (Facebook), इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप की पैरेंट कंपनी मेटा (Meta) पर हमेशा के लिए बैन लगता है। रूस ने मेटा को एक ‘चरमपंथी/उग्रवादी संगठन’ बताते हुए उसके खिलाफ शुक्रवार को एक आपराधिक मामला दर्ज किया है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने यह जानकारी दी है। दरअसल फेसबुक की पैरेंट कंपनी मेटा ने कुछ दिनों पहले अपनी हेट स्पीच …

Read More »

तो फिर राष्ट्रपति जेलेंस्की ने अपने देश को बर्बाद क्यों करवाया?

तो फिर राष्ट्रपति जेलेंस्की ने अपने देश को बर्बाद क्यों करवाया?

यूक्रेन अब यूरोपियन यूनियन (नाटो) का सदस्य नहीं बनना चाहता। तो फिर राष्ट्रपति जेलेंस्की ने अपने देश को बर्बाद क्यों करवाया? रूस-यूक्रेन युद्ध के खत्म होने के आसार। ================ 9 मार्च को अमेरिका के एक मीडिया समूह को दिए इंटरव्यू में यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा है कि अब यूरोपियन यूनियन (नाटो) का सदस्य बनने में यूक्रेन की कोई रुचि नहीं है। वे एक ऐसे देश के राष्ट्रपति नहीं कहलाना चाहते हैं जो दूसरों के सामने गिड़गिड़ाए। वे रूस के राष्ट्रपति पुतिन के साथ बिना शर्त बात करने को तैयार है। इस इंटरव्यू के बाद सवाल उठता है कि …

Read More »

रूस की ताकत के आगे संयुक्त राष्ट्र संघ तमाशबीन बना। नाटो की आड़ में रूस पर कार्यवाही की गई तो अमेरिका और ब्रिटेन को परिणाम भुगतने होंगे।

274675183_4820264991342593_8636524304478133368_n

आखिर रूस ने यूक्रेन को अपने कब्जे में ले ही लिया। चीन और रूस की ताकत के आगे संयुक्त राष्ट्र संघ तमाशबीन बना। नाटो की आड़ में रूस पर कार्यवाही की गई तो अमेरिका और ब्रिटेन को परिणाम भुगतने होंगे। भारत तो तटस्थ देश की भूमिका निभाएगा। अभी भी 20 हजार भारतीय छात्र-छात्राएं यूक्रेन में फंसे हैं। ============ अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस जैसे ताकतवर देश चिल्लपों करते रह गए और रूस ने 22 फरवरी को यूक्रेन के सभी सैन्य ठिकानों को अपने कब्जे में ले लिया। रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने कहा है कि यदि नाटो की आड़ में अमेरिका, …

Read More »

चीन पर भड़का श्रीलंका, गुस्से में हजारों टन हानिकारक उर्वरक को लेने से किया इनकार, पेमेंट भी रोका

banner

चीन पर भड़का श्रीलंका, गुस्से में हजारों टन हानिकारक उर्वरक को लेने से किया इनकार, पेमेंट भी रोका अक्सर छोटे देशों को विकास के सपने दिखाकर पहले कर्ज देना और फिर उन पर कब्जा कर लेने वाले चीन को अब श्रीलंका ने एक बड़ा झटका दिया है. श्रीलंका ने चीन से आई करीब 20,000 टन उर्वरक की खेप को लेने से इनकार कर दिया. श्रीलंका ने इसका कारण जैविक खाद की खराब गुणवत्ता को ठहराया है. श्रीलंका के इस फैसले चीन को एक बड़ा नुकसान हुआ है और दोनों ही देश के बीच उर्वरक को लेकर कूटनीतिक खींचतान शुरू हो …

Read More »

श्रीलंका की फिर मदद करेगा भारत, IAF के विमानों से भेजी 100 टन नैनो यूरिया

श्रीलंकाकीफिरमददकरेगाभारत,IAFकेविमानोंसेभेजीटननैनोयूरिया

श्रीलंका की फिर मदद करेगा भारत, IAF के विमानों से भेजी 100 टन नैनो यूरिया नैनो लिक्विड यूरिया की मांग अब लगातार बढ़ती जा रही है. इसके तहत भारत ने श्रीलंका को यूरिया भेजी. भारतीय वायुसेना के विमानों से 100 टन नैनो लिक्विड यूरिया की खेप एयरलिफ्ट कर श्रीलंका भेजी गई. श्रीलंका में भारतीय उच्चायोग ने ट्वीट कर कहा कि श्रीलंका सरकार की ओर से नैनो यूरिया के लिए तत्काल समर्थन की मांग की गई थी, इसके चलते 2 भारतीय विमानों से नैनो यूरिया को एयरलिफ्ट कर भेजा गया है. भारतीय उच्चायोग ने ट्वीट करते हुए कहा कि दीपावली के …

Read More »

खालिस्तानी संगठन पर नकेल कसने कनाडा पहुंची NIA टीम, विदेशी फंडिंग की होगी जांच

ISISकेसमर्थनमेंबोलनेवालीमहिलाएंगिरफ्तार

खालिस्तानी संगठन पर नकेल कसने कनाडा पहुंची NIA टीम, विदेशी फंडिंग की होगी जांच खालिस्तानी संगठनों पर नकेल कसने के लिए नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की एक टीम कनाडा पहुंच गई है. ये टीम सिख फॉर जस्टिस केस की जांच के लिए कनाडा पहुंची है. मिली जानकारी के मुताबिक, NIA की 3 सदस्यीय टीम कनाडा में 4 दिन के दौरे पर है. IG स्तर के अधिकारी की अगुवाई में टीम कनाडा गई है. बता दें कि SFJ समेत दूसरे खालिस्तानी संगठन और उनसे जुड़े NGO की फंडिंग NIA की राडार पर है. NIA ने खालिस्तानी संगठन और इनके द्वारा चलाए जाने वाले, …

Read More »

कोरोना के इलाज को आया टेबलेट, ब्रिटेन में मिली मंजूरी

कोरोना के इलाज को आया टेबलेट ब्रिटेन में मिली मंजूरी

कोरोना के इलाज को आया टेबलेट, ब्रिटेन में मिली मंजूरी कोरोना वायरस के इलाज के लिए पहली गोली या पिल को ब्रिटेन में मंजूरी मिल गई है. Molnupiravir नाम की इस दवा ने कोरोना के खिलाफ बेहतर परिणाम दिए थे. हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं है कि यह पिल बड़े स्तर पर कब तक उपलब्ध हो सकेगी. इस पिल को 18 या इससे ज्यादा उम्र के कोविड मरीज और गंभीर बीमारी के जोखिम वाले मरीज इस्तेमाल कर सकेंगे. कहा जा रहा है कि हल्के से मध्यम कोरोना के इलाज के लिए इस दवा को 5 दिनों तक दिन में …

Read More »

चीन मे कोरोना फिर ले रहा आक्रमक रूप

corona new

चीन मे कोरोना फिर ले रहा आक्रमक रूप, सरकार ने लोगों से कहा- जरूरत का सामान इकट्ठा कर लें चीन में कोरोना महामारी के मामलों में एक बार फिर तेजी देखी जा रही है. देश के कई राज्यों में कोरोना के बढ़े मामलों के मद्देनजर प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है. इसी क्रम में सरकार ने आम लोगों से रोजमर्रा की जरूरतों का सामान इकट्ठा करने को कहा है. दरअसल कोरोना के आउटब्रेक के बाद से ही चीन जीरो कोविड की अवधारणा पर बेहद सख्त प्रतिबंध लगाता रहा है. हालांकि चीनी सरकार द्वारा सख्त नियम लगाए जाने के बावजूद …

Read More »