banner

दूरसंचार उद्योग ने प्रधानमंत्री के दूरसंचार सुधारों का जवाब दिया : 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी 1,50,173 करोड़ रुपए तक पहुंची

भारत सरकार ने नीलामी के लिए 72,098 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम रखा था, जिसमें से 51,236 मेगाहर्ट्ज (कुल का 71 प्रतिशत) 1,50,173 करोड़ रुपये की बोली के साथ बेचा गया है।

मेसर्स अडानी डेटा नेटवर्क्स लिमिटेड ने एमएम वेव बैंड (26 गीगाहर्ट्ज़) में 400 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम प्राप्त किया है। मेसर्स भारती एयरटेल लिमिटेड ने 900, 1800, 2100, 3300 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज़ बैंड में 19,867.8 मेगाहर्ट्ज प्राप्त किया है। मेसर्स रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड ने 700, 800, 1800, 3300 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज़ में 24,740 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम प्राप्त किया है। मेसर्स वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने 1800, 2100, 2500, 3300 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज़ में 6,228 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम प्राप्त किया है।

1,50,173 करोड़ रुपये की कुल बोली राशि में अडानी डेटा नेटवर्क की 212 करोड़ रुपये की भारती एयरटेल लिमिटेड की 43,048 करोड़ रुपए की, रिलायंस जियो इन्फोकॉम की 88,078 करोड़ रुपए और वोडाफोन आइडिया लिमिटेड की 18,799 करोड़ रुपए की बोलियां शामिल हैं। सभी प्रतिभागियों द्वारा भुगतान की जाने वाली वार्षिक किस्त 13,365 करोड़ रुपए की है।

वार्षिक किश्तों की गणना में ब्याज दर 7.2 प्रतिशत है और कुछ प्रतिभागी अधिक अग्रिम भुगतान भी कर सकते हैं।

पहली बार 600 मेगाहर्ट्ज बैंड नीलामी के लिए रखा गया था। इस बैंड के लिए कोई बोली प्राप्त नहीं हुई थी। मोबाइल टेलीफोनी के लिए 600 मेगाहर्ट्ज बैंड का उपकरण इकोसिस्टम अभी तक विकसित नहीं हुआ है। कुछ वर्षों में यह बैंड महत्वपूर्ण हो सकता है।

700 मेगाहर्ट्ज में, 5जी  इकोसिस्टम अच्छी तरह से विकसित है। इसका एक बड़ा सेल आकार है और बुनियादी ढांचे की आवश्यकता कम है। यह बैंड एक बड़ी रेंज और अच्छी कवरेज उपलब्ध करता है। मैसर्स रिलायंस जियो ने अखिल भारतीय 10 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम प्राप्त किया है।

यह भी पढ़ें :   ज्वाइंट स्टैटिस्टिकल पब्लिकेशन (जेएसपी) 2021 और जेएसपीस्नैपशॉट 2021 को जारी करने के लिए ब्रिक्स देशों के राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालयों (एनएसओ) के प्रमुखों की 13वीं बैठक

800 से 2,500 के बीच के बैंड के लिए, प्रतिभागियों ने मुख्य रूप से क्षमता बढ़ाने और    4जी कवरेज में सुधार के लिए स्पेक्ट्रम हेतु बोली लगाई है।

मिड बैंड यानी 3300 मेगाहर्ट्ज बैंड अच्छी प्रवाह क्षमता (थ्रूपुट) प्रदान करने में महत्वपूर्ण है। तीनों मौजूदा ऑपरेटरों ने इस बैंड में स्पेक्ट्रम प्राप्त कर लिया है। ऑपरेटरों द्वारा मौजूदा 4जी क्षमता को बढ़ाने और 3300 मेगाहर्ट्ज बैंड में 5जी सेवाएं उपलब्ध कराने की संभावना है।

एमएम वेव बैंड यानी 26 गीगाहर्ट्ज में उच्च प्रवाह क्षमता है, लेकिन की रेंज बहुत कम है। इस बैंड के कैप्टिव या गैर-सार्वजनिक नेटवर्क के लिए उपयोग किए जाने की संभावना है। इस बैंड में पूरे विश्व में फिक्स्ड वायरलेस एक्सेस (एफडब्ल्यूए) लोकप्रियहो रहा है। एफडब्ल्यूए को उच्च घनत्व/भीड़ वाले शहरी क्षेत्रों में फाइबर के विकल्प के रूप में इस्तेमाल  किया जा सकता है। सभी चार प्रतिभागियों ने इस बैंड में स्पेक्ट्रम प्राप्त किया है।

मैसर्स मेटल स्क्रैप ट्रेडिंग कॉरपोरेशन (एमएसटीसी), भारत सरकार का एक सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम नीलामकर्ता है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा किए गए सुधारों और स्पष्ट नीति निर्देश के परिणामस्वरूप सफल स्पेक्ट्रम नीलामी हुई है। इससे यह भी पता चलता है कि दूरसंचार क्षेत्र विकास की राह पर अग्रसर है।

स्पेक्ट्रम आवंटन की प्रक्रिया समय सीमा के भीतर पूरी कर ली जाएगी और 5जी सेवाएं सितंबर/अक्टूबर तक शुरू होने की संभावना है।

टेलीकॉम कनेक्टिविटी के लिए स्पेक्ट्रम बहुत जरूरी है। स्पेक्ट्रम की बेहतर उपलब्धता से सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार होने का अनुमान है।

यह भी पढ़ें :   केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज ‘’डिलीवरिंग डेमोक्रेसी: सरकार के प्रमुख के रूप में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के दो दशक’ विषय पर तीन-दिवसीय राष्ट्रीय गोष्ठी का शुभारंभ किया

बोलीदाता-वार प्राप्त स्पेक्ट्रम की मात्रा और देय राशि का विवरण नीचे दिया गया है-

 

मात्रा

ऑपरेटर

700 मेगाहर्टज

800 मेगाहर्टज

900 मेगाहर्टज

1800 मेगाहर्टज

2100 मेगाहर्टज

2500 मेगाहर्टज

3300 मेगाहर्टज

26 गीगाहर्टज

योग

नीलामी के लिए रखा गया कुल स्पेक्ट्रम

550

136

74

267

160

230

7,260

62,700

72,098

मैसर्स अडानी डाटा नेटवर्क्स लि.

400

400

भारती एयरटेल लि.

12.8

25

30

2,200

17,600

19,867.8

रिलायंस जियो इन्फोकॉम

220

20

60

2,440

22,000

24,740

वोडोफोन आइडिया लि.

3.4

5

20

850

5,350

6,228.4

योग

220

20

12.8

88.4

35

20

5490

45,350

51,236.2

प्रतिशत स्पेक्ट्रम बोली

40 प्रतिशत

15 प्रतिशत

17 प्रतिशत

33 प्रतिशत

22 प्रतिशत

9 प्रतिशत

76 प्रतिशत

72 प्रतिशत

71 प्रतिशत

भुगतान की जाने वाली बोली राशि (करोड़ रुपए में)

ऑपरेटर

700 मेगाहर्टज

800 मेगाहर्टज

900 मेगाहर्टज

1800 मेगाहर्टज

2100 मेगाहर्टज

2500 मेगाहर्टज

3300 मेगाहर्टज

26 गीगाहर्टज

योग

मैसर्स अडानी डाटा नेटवर्क्स लि.

212

212

भारती एयरटेल लि.

349

2,763

2,680

31,700

5,592

43,084

रिलायंस जियो इन्फोकॉम

39,270

1050

7,028

33,740

6,990

88,078

वोडोफोन आइडिया लि.

584

500

650

15,150

1,915

18,799

योग

39,270

1050

349

10,375

3,180

650

80,590

14,709

1,50,173

 

***

एमजी/एएम/आईपीएस/एचबी

यह भी देखें :   Gangapur City : फव्वारे पर मिली अज्ञात महिला, इसे घर पहुंचाने में मदद करें, शेयर करें G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें