banner

मालदीव के राष्ट्रपति की भारत की आधिकारिक यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का प्रेस वक्तव्य

Your Excellency, My friend राष्ट्रपति सोलिह,

दोनों delegations के सदस्य,

मीडिया के प्रतिनिधि,

नमस्कार!

सबसे पहले मैं अपने मित्र राष्ट्रपति सोलिह और उनके डेलीगेशन का भारत में स्वागत करता हूँ। पिछले कुछ वर्षों में भारत और मालदीव के मित्रतापूर्ण संबंधों में नया जोश आया है, हमारी नजदीकियां बढ़ी है। महामारी से पैदा हुई चुनौतियों के बावजूद हमारा सहयोग एक व्यापक भागीदारी का रूप लेता जा रहा है।

Friends,

आज राष्ट्रपति सोलिह के साथ मैंने कई विषयों पर व्यापक चर्चा की। हमने हमारे द्विपक्षीय सहयोग के सभी आयामों का आकलन किया, और महत्वपूर्ण क्षेत्रीय एवं वैश्विक मुद्दों पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया।

अभी कुछ देर पहले हमने ग्रेटर माले कनेक्टिविटी प्रोजेक्टस की शुरुआत का स्वागत किया। यह मालदीव का सबसे बड़ा इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट होगा।

हमने आज ग्रेटर माले में 4000 सोशल हाउसिंग यूनिट्स के निर्माण के प्रोजेक्ट्स का रिव्यु भी किया। मुझे यह घोषणा करते हुए प्रसन्नता है कि हम इसके अतिरिक्त 2000 सोशल हाउसिंग यूनिट्स के लिए भी financial support देंगे।

यह भी पढ़ें :   पूर्ण रूप से टीकाकरण कराने वाले व्यक्तियों की संख्या पहली बार आंशिक रूप से टीका लगवाने योग्य आबादी से अधिक हुई है: डॉ मनसुख मंडाविया

हमने 100 मिलियन डॉलर की अतिरिक्त Line of Credit देने का निर्णय भी किया है, ताकि सभी projects समय-बद्ध तरीके से पूरे हो सकें।

Friends,

Indian Ocean में ट्रांस-नेशनल अपराध, आतंकवाद तथा ड्रग्स तस्करी का खतरा गंभीर है। और इसलिए, रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में भारत और मालदीव के बीच करीबी संपर्क और समन्वय पूरे क्षेत्र की शांति और स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण है। इन सभी साझा चुनौतियों के ख़िलाफ़ हमने अपना सहयोग बढ़ाया है। इसमें मालदीव के सुरक्षा अधिकारीयों के लिए capacity building और training सहयोग भी शामिल है। मुझे यह घोषणा करते हुए ख़ुशी है कि भारत मालदीव सुरक्षा बल के लिए 24 वाहन और एक Naval Boat प्रदान करेगा। हम मालदीव के 61 islands में पुलिस सुविधाओं के निर्माण में भी सहयोग करेंगे।

Friends,

मालदीव सरकार ने 2030 तक carbon एमिशन को Net Zero करने का लक्ष्य रखा है। मैं इस commitment के लिए राष्ट्रपति सोलिह को बधाई देता हूं, और यह आश्वासन भी देता हूँ कि इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए भारत मालदीव को हर संभव सहयोग देगा। भारत ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर One World, One Sun, One Grid इसकी पहल उठाई है, और इसके तहत हम मालदीव के साथ प्रभावी कदम ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें :   फसली ऋण वितरण के लक्ष्य में 2500 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी किसानों को मार्च 2022 तक 18500 करोड़ के फसली ऋण का होगा वितरण

Friends,

आज भारत-मालदीव पार्टनरशिप न सिर्फ दोनों देशों के नागरिकों के हित में काम कर रही है, बल्कि क्षेत्र के लिए भी शांति, स्थिरता और समृद्धि का स्रोत बन रही है।

मालदीव की किसी भी जरुरत या संकट में भारत first responder रहा है और आगे भी रहेगा।

मैं राष्ट्रपति सोलिह और उनके डेलीगेशन की सुखद भारत यात्रा की कामना करता हूँ।

बहुत बहुत धन्यवाद।

 

****

DS/ST

यह भी देखें :   Protest | किरोड़ीलाल मीना बैठे मोर्चरी के सामने धरने पर | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें