banner

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (एबीडीएम) नागरिकों के स्वास्थ्य रिकॉर्ड को उनके आभा संख्या से जोड़ने और डिजिटल बनाने की दिशा में लगातार प्रगति कर रहा है

एनएचए इस योजना के तहत डिजिटल स्वास्थ्य इकोसिस्टम को और अधिक बढ़ावा देने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों, जिलों, स्वास्थ्य सुविधाओं और इंटीग्रेटर्स को सम्मानित करेगा

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) अपनी प्रमुख योजना आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (एबीडीएम) के तहत देश के लिए एक व्यापक डिजिटल स्वास्थ्य इकोसिस्टम का निर्माण कर रहा है। सितंबर 2021 में, पूरे देश में अपनी शुरुआत के बाद से एबीडीएम ने 23 करोड़ से अधिक आभा संख्या (इसे पहले स्वास्थ्य आईडी के रूप में जाना जाता था), स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री (एचएफआर) में पंजीकृत 1.14 लाख स्वास्थ्य सुविधाओं, स्वास्थ्य सेवा पेशेवर रजिस्ट्री (एचपीआर) के तहत 33,000 स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों, 6.6 लाख आभा एप डाउनलोड होने और व्यक्तियों के आभा से जुड़े 3.4 लाख स्वास्थ्य रिकॉर्ड दर्ज करने के साथ महत्वपूर्ण प्रगति की है।

पहले से अधिक व्यक्तियों के साथ अब स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों जैसे कि डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिक्स (चिकित्सा सहायक) और स्वास्थ्य सुविधाएं यानी अस्पताल, नर्सिंग होम, कल्याण केंद्र, क्लीनिक, डायग्नोस्टिक लैब, एबीडीएम में शामिल होने वाली फार्मेसियां, उनके निर्माण स्थल पर स्वास्थ्य रिकॉर्ड का डिजिटलीकरण संभव है। पुराने स्वास्थ्य रिकॉर्ड के डिजिटलीकरण के लिए व्यक्ति अपने रिकॉर्ड को स्कैन करने और इसे सुरक्षित रखने के लिए आभा एप या किसी अन्य व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड (पीएचआर) एप का उपयोग कर सकते हैं। इन डिजिटल रिकॉर्ड को उनके आभा से जोड़कर व्यक्ति डिजिटल रूप से पेशेवरों व सेवाओं से जुड़ने में सक्षम होंगे और भौगोलिक दूरी के बावजूद गुणवत्ता और सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें :   भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमी खिलौना निर्माताओं को 630 लाइसेंस प्रदान किए

कई राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों ने अब तक इस योजना की प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इनका विवरण निम्नलिखित है:

आभा से जुड़े स्वास्थ्य रिकॉर्डों की संख्या

क्रम संख्या

राज्य/केंद्रशासित प्रदेश

आभा से जुड़े स्वास्थ्य रिकॉर्डों की संख्या

1

आंध्र प्रदेश

69,683

2

दादरा और नागर हवेली व दमन और दीव (डीएनएचडीडीडी)

28,186

3

लद्दाख

15,672

4

चंडीगढ़

14,391

5

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह

9,775

 

चालू स्वास्थ्य सुविधाओं की संख्या

क्रम संख्या

राज्य/केंद्रशासित प्रदेश

प्रमाणित स्वास्थ्य सुविधाओं की संख्या

1

उत्तर प्रदेश

26,824

2

आंध्र प्रदेश

13,346

3

महाराष्ट्र

12,787

4

बिहार

12,270

5

मध्य प्रदेश

12,109

 

कार्यशील स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों की संख्या

क्रम संख्या

राज्य/केंद्रशासित प्रदेश

प्रमाणित स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों की संख्या

1

आंध्र प्रदेश

16,194

2

महाराष्ट्र

3,153

3

जम्मू और कश्मीर

2,709

4

छत्तीसगढ़

1,971

5

चंडीगढ़

1,788

 

इस मिशन को आगे बढ़ाने और स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच व सामर्थ्य में सुधार करने में संबंधित राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के सहयोग और सक्रिय भागीदारी को स्वीकार करते हुए एनएचए एबीडीएम के तहत सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों, जिलों व स्वास्थ्य सुविधाओं (सार्वजनिक के साथ-साथ निजी) को उनके योगदान के लिए सम्मानित करेगा।

योजना की पहली वर्षगांठ के दौरान 01.08.2022 से 19.09.2022 तक यानी 50 दिनों की अवधि में सबसे अधिक योगदान देने वाले राज्यों/ केंद्रशासित प्रदेशों, जिलों और स्वास्थ्य सुविधाओं को 4 श्रेणियों के तहत सम्मानित किया जाएगा:

श्रेणी ए: 01.08.2022 से 19.09.2022 की अवधि में प्रति एक लाख जनसंख्या पर आभा से जुड़े सबसे अधिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड वाले राज्य/केंद्रशासित प्रदेश।

यह भी पढ़ें :   केन्‍द्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने किसानों की आय बढ़ाने और जम्मू तथा कश्मीर के लिए एकीकृत अरोमा डेयरी उद्यमिता का प्रस्ताव रखा

श्रेणी बी: 01.08.2022 से 19.09.2022 तक प्रति एक लाख जनसंख्या पर आभा से जुड़े सबसे अधिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड वाले जिले।

श्रेणी सी: 19.09.2022 तक निजी और सार्वजनिक क्षेत्र में एचएफआर व एचपीआर रजिस्ट्रियों की जनसंख्या में उच्चतम हिस्सेदारी संतृप्ति प्राप्त करने वाले राज्य/केंद्रशासित प्रदेश।

श्रेणी डी: 01.08.2022 से 19.09.2022 तक यानी 50-दिन की अवधि में आभा से जुड़े सबसे अधिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड वाले सरकारी और निजी क्षेत्र की सुविधाएं।

उपरोक्त श्रेणियों के अलावा एनएचए 01.08.2022 से 19.09.2022 तक यानी 50 दिनों की अवधि के भीतर आभा से जुड़े स्वास्थ्य रिकॉर्ड की संख्या के आधार पर सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले एबीडीएम समाकलकों (योजना के साथ एकीकृत डिजिटल स्वास्थ्य समाधान) को सम्मानित करेगा। सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र के शीर्ष प्रदर्शन करने वाले समाकलकों (इंटीग्रेटर्स) को अलग-अलग श्रेणियों में सम्मानित किया जाएगा।

एबीडीएम के बारे में अधिक जानने के लिए: https://abdm.gov.in/ एबीडीएम के तहत राज्यवार प्रदर्शन के बारे में अधिक जानने के लिए सार्वजनिक डैशबोर्ड पर जा सकते हैं: https://dashboard.abdm.gov.in/abdm/

 

****

एमजी/एएम/एचकेपी/सीएस

यह भी देखें :   Gangapur City : स्वामी तेज बिहारी दास महाराज का देहान्त, गाजे – बाजे के साथ निकाली चकडोल | Part – 2

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें