महासागर विज्ञान और मौसम विज्ञान में उपग्रह आधारित नौसेना अनुप्रयोगों पर सहयोग के लिए भारतीय नौसेना एवं अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र (इसरो) के बीच समझौता ज्ञापन

भारतीय नौसेना ने दिनांक 5 अगस्त 2022 को समुद्र विज्ञान एवं मौसम विज्ञान में उपग्रह आधारित नौसेना अनुप्रयोगों पर डेटा साझाकरण और सहयोग पर अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र (इसरो), अहमदाबाद के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

इस पहल के साथ दोनों संगठनों के पास आपसी सहयोग का एक साझा मंच होगा, जिसमें एसएसी द्वारा की गई वैज्ञानिक प्रगति का तालमेल भारतीय नौसेना के प्रयासों से कराया जाएगा जिससे देश की रक्षा को उपग्रह डेटा पुनर्प्राप्ति और अनुप्रयोगों के क्षेत्र में तेजी से विकास के साथ देश की रक्षा को बनाए रखा जा सके । यह समझौता ज्ञापन 2017 में हस्ताक्षरित पिछले समझौता ज्ञापन का विस्तार है और दो संगठनों के बीच सहयोग को आगे बढ़ाएगा ।

यह भी पढ़ें :   राज्य में ऊष्ट्र कल्याण शिविरों का आगाज, रेबारियों के डेरों में पहुंच किया उपचार

सहयोग के व्यापक क्षेत्र में गैर-गोपनीय अवलोकन संबंधी डेटा साझा करना, एसएसी से उत्पन्न मौसम संबंधी जानकारियों का सैन्य अभियानों में इस्तेमाल और नए उपकरणों के विकास, अंशांकन और ओशन मॉडल के सत्यापन के लिए उपग्रह डेटा के प्रसंस्करण हेतु विषय विशेषज्ञों (एसएमई) का प्रावधान शामिल है ।

भविष्य में सार्थक बातचीत और पेशेवर ढंग से आदान-प्रदान के लिए अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र (एसएसी) और भारतीय नौसेना द्वारा समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

यह भी पढ़ें :   आदिवासी बच्चियों को गुजरात में बेचने के विरोध में उदयपुर कलेक्ट्रेट में धरने पर बैठे डॉ किरोड़ी मीणा

**********

 

एमजी/एएम/एबी

यह भी देखें :   Gangapur City : भाजपा का जन हुंकार आंदोलन व धरना प्रदर्शन | Live – 1

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें