banner

खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग ने आधिकारिक बैठकों के दौरान और कैंटीन में बाजरा के उत्पादों का उपयोग करने का निर्देश दिया

बाजरा के उपभोग को बढ़ावा देने और स्वास्थ्य की दृष्टि से उसके लाभों को देखते हुए, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग (डीएफपीडी) के सभी कार्यालयों को हाल ही में अपनी कैंटीन और बैठकों में बाजरा को शामिल करने और बढ़ावा देने के निर्देश दिए गए हैं।

रागी बिस्कुट/कुकीज/लड्डू और भुने हुए बाजरे के चिप्स आदि जैसे बाजरे से बने स्नैक्स/बिस्किट (जिसमें मुख्य कच्चा माल के रूप में बाजरा शामिल हो) में से एक के रूप में बाजरा को बैठकों में परोसने जाने वाले स्नैक्स के रूप में शामिल किया जा सकता है। कैंटीन में बाजरा/रागी डोसा, बाजरा युक्त वड़ा, बाजरा युक्त पूरी एवं इडली/रागी के लड्डू आदि (जिसमें मुख्य कच्चा माल के रूप में बाजरा शामिल हो) का उपयोग किया जाना है और जहां तक ​​संभव हो सके स्थानीय रूप से उपलब्ध बाजरा आधारित उत्पादों का उपयोग किया जाना है।

यह भी पढ़ें :   प्रधानमंत्री ने यूनेस्को क्रियेटिव सिटीज नेटवर्क (यूसीसीएन) में श्रीनगर के शामिल होने पर खुशी व्यक्त की

वर्ष 2023 को अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष (आईवाईओएम) के रूप में मनाया जाएगा। डीएफपीडी देश में बाजरे की खरीद/खपत और खरीदे गए बाजरे का उपयोग टीपीडीएस/आईसीडीएस/एमडीएम योजना के तहत वितरण के लिए सक्रिय रूप से करने को बढ़ावा दे रहा है। बाजरे के सेवन से कई प्रकार के लाभ होते हैं और यह जीवन शैली के कारण होने वाले रोगों के प्रबंधन में मदद करता है। व्यापक मात्रा में विटामिन, खनिज, फाइटोकेमिकल्स और रेशेदार तत्वों सहित विभिन्न पोषक तत्वों से युक्त होने के कारण, बाजरा कुपोषण एवं सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी को दूर करने की दृष्टि से भी एक उत्कृष्ट अनाज है।  

यह भी पढ़ें :   नई शिक्षा नीति-2020 भारत को ज्ञान के क्षेत्र में वैश्विक महाशक्ति के रूप में बदल देगी- केन्द्रीय शिक्षा मंत्री

*******

एमजी/एएम/आर/डीवी

यह भी देखें :   Gangapur City : विधायक खिलाडी लाल बैरवा का जोर दर स्वागत | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें