banner

केंद्रीय राज्य मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने कंबोडिया के सिएम रीप सिटी में आयोजित आसियान- भारत आर्थिक मंत्रियों की 19वीं बैठक की सह-अध्यक्षता की

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने कंबोडिया के वाणिज्य मंत्री श्री पैन सोरासाक के साथ मिल कर 16 सितंबर, 2022 को कंबोडिया के सिएम रीप सिटी में आयोजित आसियान-भारत आर्थिक मंत्रियो की 19वीं बैठक की सह-अध्यक्षता की। आसियान के सभी 10 देशों- ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम के आर्थिक मंत्रियों या उनके प्रतिनिधियों ने बैठक में भाग लिया।

मंत्रियों ने नोट किया कि आसियान और भारत के व्यापारिक और आर्थिक संबंध कोविड-19 महामारी के प्रभाव से उबरने लगे हैं और भारत तथा आसियान के बीच दोतरफा व्यापार वर्ष दर वर्ष के आधार पर 39.2 प्रतिशत बढ़कर 2021 में 91.5 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया। मंत्रियों ने आसियान भारत  आर्थिक साझीदारी बढ़ाने के लिए आसियान भारत व्यवसाय परिषद (एआईबीसी) द्वारा की गई अनुशंसाओं तथा 2022 में एआईबीसी द्वारा शुरू किए गए कार्यकलापों पर भी ध्यान दिया।

मंत्रियों ने महामारी के आर्थिक प्रभाव को कम करने के लिए सामूहिक कार्रवाई करने तथा कोविड-19 के बाद स्थायी सुधार की दिशा में काम करने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई। मंत्रियों ने वस्तु समझौता उन्नयन वार्ताओं में आसियान – भारत व्यापार (एआईटीआईजीए) लॉन्‍च करने के माध्यम से अनिवार्य वस्तुओं एवं सेवाओं के प्रवाह का बनाये रखने के लिए एक मजबूत आपूर्ति श्रृंखला कनेक्टिविटी सुनिश्चित करने, कोविड-19 टीकाकरण को परस्पर मान्यता दिए जाने, टीका उत्पादन, सार्वजनिक स्वास्थ्य निगरानी तथा महामारी के बाद सुधार प्रतिक्रियाओं के साथ आगे बढ़ने और भविष्य के स्वास्थ्य संकटों का सामना करने के लिए सामूहिक कार्रवाई करने के लिए आसियान और भारत का स्वागत किया।

यह भी पढ़ें :   श्री मनसुख मंडाविया ने केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला

श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने सभी पात्र नागरिकों के टीकाकरण पर अपने वर्तमान फोकस के साथ कोविड-19 महामारी पर नियंत्रण पाने में भारत द्वारा हासिल की गई प्रगति और जनवरी 2021 में टीकाकरण स्कीम के आरंभ होने के 18 महीनों के बाद जुलाई 2022 में अर्जित बूस्टर डोजों सहित 2 बिलियन टीका खुराक दिए जाने की प्रमुख उपलब्धि के बारे में बैठक को जानकारी दी। उन्होंने भारत द्वारा अपनी एफडीआई नीति को उदार तथा सरलीकृत बनाने के लिए उठाये गए कदमों, जिसका परिणाम नए रिकॉर्ड स्थापित करते हुए एफडीआई आवकों की अब तक की सबसे अधिक बढ़ी हुई मात्रा के रूप में सामने आया है, के बारे में भी जानकारी साझा की। उन्होंने आसियान देशों को भारत में निवेश करने तथा इसकी सफलता में साझीदार बनने के लिए आमंत्रित किया।

मंत्रियों ने स्विट्जरलैंड के जिनेवा में 12-17 जून 2022 को आयोजित 12वें विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) मंत्रीस्तरीय सम्मेलन के सफल परिणामों का स्वागत किया तथा एक नियम आधारित, गैर-भेदभावपूर्ण, खुली, निष्पक्ष, समावेशी, न्यायसंगत और पारदर्शी बहुपक्षीय व्यापारिक प्रणाली, जैसाकि डब्ल्यूटीओ में सन्निहित है, के लिए अपना समर्थन दुहराया।

यह भी पढ़ें :   केंद्रीय मंत्री श्री जी. किशन रेड्डी ने तेलंगाना में रामप्पा-काकतीय रुद्रेश्वर मंदिर में यूनेस्को की विश्व विरासत शिलालेख पट्टिका का अनावरण किया

एक उल्लेखनीय घटनाक्रम में, मंत्रियों ने वस्तु समझौता उन्नयन वार्ताओं में आसियान – भारत व्यापार (एआईटीआईजीए) की समीक्षा के दायरे का समर्थन किया जिससे कि इसे उपयोगकर्ताओं के लिए अधिक अनुकूल, सरल और व्यवसायों के लिए व्यापार सुगमकारी और साथ ही आपूर्ति श्रृंखला बाधाओं सहित वर्तमान वैश्विक एवं क्षेत्रीय चुनौतियों के प्रति उत्तरदायी बनाया जा सके। मंत्रियों ने एआईटीआईजीए की समीक्षा में तेजी लाने के लिए एआईटीआईजीए संयुक्त समिति को भी सक्रिय किया।

श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने एक मजबूत, समेकित तथा समृद्ध आसियान की सहायता करने तथा दोनों साझीदारों की आकांक्षाओं को संतुलित करने वाले न्यायसंगत और टिकाऊ व्यापार क लिए भी भारत की प्रतिबद्धता दोहराई। 

***

एमजी/एएम/एसकेजे/एसएस

यह भी देखें :   शातिर वाहन चोर धर्मेन्द्र जाट 5 मोटर साइकिलों सहित गिरफ्तार – श्री महावीर जी

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें