banner

नागरिक-केंद्रित 58 सेवाएं पूरी तरह से ऑनलाइन उपलब्ध कराने के लिए अधिसूचना जारी, आरटीओ जाने की जरूरत नहीं, स्वैच्छिक आधार पर आधार सत्यापन की सहायता से सेवाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच); परिवहन संबंधी सेवाओं का लाभ प्राप्त करने में अधिक सुविधा प्रदान करने के लिए कई नागरिक केंद्रित सुधार कर रहा है।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने 16 सितंबर 2022 को एसओ 4353 (ई) जारी किया है, जिसके माध्यम से ड्राइविंग लाइसेंस, कंडक्टर लाइसेंस, वाहन पंजीकरण, परमिट, स्वामित्व के हस्तांतरण आदि से संबंधित कुल 58 नागरिक-केंद्रित सेवाओं का लाभ अब पूरी तरह से ऑनलाइन प्राप्त किया जा सकता है, जिससे आरटीओ जाने की आवश्यकता समाप्त हो गयी है। स्वैच्छिक आधार पर आधार सत्यापन की सहायता से इन सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :   पश्चिम रेलवे के मुंबई डिवीजन ने 100वीं टेक्सटाइल एक्सप्रेस का संचालन किया

संपर्क करने और व्यक्तिगत रूप से मिलने की जरूरत ख़त्म होने से नागरिकों के महत्वपूर्ण समय को बचाने तथा अनुपालन बोझ को कम करने में मदद मिलेगी। परिणामस्वरूप, आरटीओ में आगंतुकों की संख्या में कमी आयेगी, जिससे उनके कामकाज में अधिक कुशलता आएगी।

राजपत्र अधिसूचना देखने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें :   पूरे देश में महीने भर चलने वाला स्वच्छ भारत अभियान जोरों पर

 

एमजी/एएम/जेके

यह भी देखें :   Live : देखिये प्रधान मंत्री की सुरक्षा में चूक को लेकर एक ग्रामीण ने क्या कहा

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें