जापान-भारत समुद्री अभ्यास 2022 का समापन

भारतीय नौसेना द्वारा आयोजित जापान-भारत समुद्री अभ्‍यास 2022 का छठा संस्करण, जेआईएमईएक्‍स 22 बंगाल की खाड़ी में संपन्न हुआ। इसके पश्‍चात दोनों पक्षों ने 17 सितम्‍बर, 2022 को पारंपरिक स्टीम पास्ट के साथ एक-दूसरे को विदाई दी।

फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग ईस्टर्न फ्लीट के रियर एडमिरल संजय भल्ला के नेतृत्‍व में भारतीय नौसेना के जहाजों और जापान मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स (जेएमएसडीएफ) के जहाजों इजुमो और ताकानामी ने रियर एडमिरल हिराता तोशि‍युकी के नेतृत्‍व में सप्ताह भर चलने वाले इस अभ्यास में भाग लिया।

यह भी पढ़ें :   जगजीवन राम रेलवे सुरक्षा बल, अकादमी लखनऊ में रेलवे सुरक्षा बल स्थापना दिवस समारोह परेड का आयोजन कल

जेआईएमईएक्‍स 22 दोनों नौसेनाओं द्वारा संयुक्त रूप से किए गए कुछ सबसे जटिल अभ्यासों का साक्षी बना। इस दौरान दोनों देशों के जवानों ने उन्नत स्तर के पनडुब्बी रोधी युद्ध, हथियारों से गोलाबारी और वायु रक्षा अभ्यास में भाग लिया। इस अभ्यास में शिपबोर्न हेलि‍कॉप्टर, लड़ाकू विमान और पनडुब्बियों ने भी भाग लिया। आपूर्ति और सेवाओं के पारस्परिक प्रावधान (आरपीएसएस) के समझौते के तहत आईएन और जेएमएसडीएफ के जहाजों ने समुद्र में एक-दूसरे के साथ संयुक्‍त रूप से अभियान को संचालित किया।

2012 में अपनी स्थापना के बाद से इस अभ्यास के माध्‍यम से जेआईएमईएक्‍स की दसवीं वर्षगांठ मनाई गई है। अभ्‍यास के दौरान दोनों नौसेनाओं के बीच आपसी समझ और पारस्‍परिक सामंजस्‍य को और मजबूत किया गया।

यह भी पढ़ें :   छात्रवृृत्ति आवेदन अब 28 फरवरी तक किये जा सकेंगे

 

 

***

एमजी/एएम/एसएस/वीके

यह भी देखें :   Live: सेना के हवलदार का पार्थिव शरीर आने का हो रहा है इंतजार – कैमरी

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें