अंतरराष्ट्रीय संधि (खाद्य और कृषि संगठन) के शासी निकाय (जीबी-9) के नौवें सत्र के दौरान अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष (आईवाईओएम) 2023 पर एफएओ साइड इवेंट आयोजित किया गया

भारत सरकार द्वारा नई दिल्ली में आयोजित किए जा रहे अंतरराष्ट्रीय संधि (खाद्य और कृषि संगठन) के शासी निकाय (जीबी-9) के नौवें सत्र के दौरान आज अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष (आईवाईओएम) 2023 पर एफएओ साइड इवेंट आयोजित किया गया।

आईवाईओएम-2023 पर कार्यक्रम मुख्य रूप से बाजरा किसानों पर केंद्रित था। कृषि और किसान कल्याण विभाग की संयुक्त सचिव (फसल) शुभा ठाकुर ने इस पर एक प्रस्तुति दी कि आईवाईओएम 2023 के लिए भारत की क्या तैयारी है और कैसे भारत किसानों व संपूर्ण मूल्य श्रृंखला के साथ मिलकर हर थाली में बाजरा पहुंचाने की दिशा में काम कर रहा है। प्रस्तुति में आईवाईओएम-2023 के लिए जागरुकता अभियान को लेकर 19 मंत्रालयों के ठोस प्रयासों और पूरे भारत व वैश्विक समुदाय में जी2बी, बी2बी और बी2सी संवादों में इसे शामिल किए जाने का जिक्र किया गया। उन्होंने आईवाईओएम 2023 के संदर्भ में किसानों की बेहतरी के समाधान के रूप में खाद्य सुरक्षा और फसल विविधता के केंद्र में बाजरे पर विशेष जोर दिया।

यह भी पढ़ें :   प्रधानमंत्री ने द्वारका शारदा पीठ शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के निधन पर शोक व्यक्त किया

 

शुभा ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित पैनल चर्चा में बाजरा एक्सपर्ट के तौर पर डॉ. दयाकर राव बी. प्रधान वैज्ञानिक, आईसीएआर-आईआईएमआर; मनीषा भसीन, कारपोरेट शेफ, आईटीसी होटल; डॉ. अरविंद कुमार, उप महानिदेशक (अनुसंधान) आईसीआरआईएसएटी; रोहित चौधरी, निदेशक विकास, अक्षय पात्र फाउंडेशन; श्री पी. सी. चौधरी, कृषि और खाद्य उत्पादन ओडिशा के निदेशक; श्री विजय पाटिल, कर्नाटक बाजरा मिशन के प्रतिनिधि श्री विजय पाटिल; विशाला रेड्डी, संस्थापक, बाजरा बैंक (स्टार्ट-अप); शर्मिला ओसवाल, संस्थापक, बेसिलिया ऑर्गेनिक्स (स्टार्ट-अप); कोंडा चाव्वा, ओआईसी, एफएओ इंडिया शामिल थे। कार्यक्रम का संचालन ऑल इंडिया रेडियो के सहायक निदेशक (कार्यक्रम) जैनेंद्र सिंह ने किया।

यह भी पढ़ें :   शोभारानी कुशवाह विधायक धौलपुर ने महात्मा ज्योतिबा फूले एवम् सावित्री बाई फूले मूर्ति अनावरण कार्यक्रम में शिरकत की

 

इस सत्र में दुनियाभर में आईवाईओएम 2023 मनाने के लिए भारत की तैयारियों और हर थाली में बाजरा पहुंचाने पर बात की गई।

 

इस कार्यक्रम में स्टॉल भी लगे थे, जिस पर कई बाजरा स्टार्ट-अप और एफपीओ ने अपने उत्पादों को प्रदर्शित किया था। सत्र के बाद उपस्थित सभी लोगों के लिए विशेष रूप से तैयार किए गए बाजरा लंच का आयोजन किया गया।

 

एमजी/एएम/एएस

यह भी देखें :   सालौदा-पीलौदा-बगलाई-शैवाला से नादौती तक बनने वाले स्टेट हाइवे – 124 का भूमि पूजन व शिलान्यास

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें