banner

केंद्रीय मंत्री श्री आर.के. रंजन ने केंद्र सरकार द्वारा आयोजित पहली फ्लोटिंग फोटो प्रदर्शनी का उद्घाटन किया और कहा कि पूर्वोत्तर भारत के कम-से-कम 100 स्वतंत्रता सेनानियों को स्वतंत्रता संग्राम के समग्र इतिहास में शामिल किया जाएगा

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के केंद्रीय संचार ब्यूरो क्षेत्रीय कार्यालय, इंफाल, मणिपुर द्वारा आयोजित पहली तीन-दिवसीय “फ्लोटिंग” फोटो प्रदर्शनी आज लोकटक झील में शुरू हुई। यह अभिनव प्रदर्शनी झील पर एक विशेष रूप से निर्मित फ्लोटिंग प्लेटफॉर्म पर लगाई गई है। किनारे से लकड़ी के पुल से यहां तक पहुंचा जा सकता है। केंद्रीय संचार ब्यूरो द्वारा 50 से अधिक वर्षों के इतिहास में पहली बार इस तरह का प्रयास किया गया है। केंद्रीय संचार ब्यूरो क्षेत्रीय कार्यालय, इंफाल के विभागीय कलाकारों और निजी मंडलियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी इस विशेष रूप से निर्मित फ्लोटिंग स्टेज पर मंचन किया गया। इसके अलावा, झील के आसपास के समुदायों के पारंपरिक मछुआरों और मछुआरिनों द्वारा नावों पर नृत्य प्रस्तुत किया गया।

केंद्रीय विदेश और शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. आर.के. रंजन ने भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के गुवाहाटी के महानिदेशक (उत्तर-पूर्वी जोन) श्री बी. नारायणन और मणिपुर सरकार के एमएसपीडीसीएल के अध्यक्ष श्री तोंगब्रम रोबिन्द्रो सिंह और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

इस प्रदर्शनी में “सेवा, सुशासन, गरीब कल्याण के आठ साल” पर आधारित मणिपुरी भाषा में 88 आलेख और मणिपुर के गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों पर आधारित लगभग 11 आलेख प्रदर्शित किए जा रहे हैं, जो शुक्रवार शाम तक जनता के लिए खुली है।

यह भी पढ़ें :   कैबिनेट ने नए ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट धोलेरा, अहमदाबाद के विकास की मंजूरी दी

अपने भाषण में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मिशन को प्रदर्शित करने वाली प्रदर्शनी संभवत: झील पर तैरती हुई दुनिया की पहली प्रदर्शनी होगी।

डॉ. रंजन ने कहा कि इस तरह की प्रदर्शनी देश के प्रधानमंत्री के रूप में श्री नरेन्द्र मोदी के आठ साल के कार्यकाल के दौरान विभिन्न उपलब्धियों को रेखांकित करते हुए सभी को प्रेरित करने में सक्षम होगी।

उन्होंने कहा कि भारत द्वारा नौ महीने के भीतर कोविड-19 के खिलाफ दो टीकों का उत्पादन प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश की महत्वपूर्ण उपलब्धियों में से एक है।

इसके अलावा, भारत ऐसा देश है जहां सबसे ज्यादा लोगों ने कोविड-19 के टीके लगवाए हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमारा देश पड़ोसी देशों को भी टीकों की मुफ्त आपूर्ति कर रहा है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम नायकों के योगदान को शामिल किए बिना देश के स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास पूरा नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि इसे ध्यान में रखते हुए, केंद्र सरकार स्वतंत्रता संग्राम के समग्र इतिहास पर काम कर रही है, न कि वंश-आधारित, और केंद्र सरकार देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र के कम-से-कम 100 स्वतंत्रता सेनानियों के नाम इतिहास में शामिल करने के प्रति इच्छुक है।

यह भी पढ़ें :   सुरक्षा मांगने आया जोड़ा, HC ने कहा- कुछ तो गड़बड़ है

उद्घाटन समारोह के सम्मानित अतिथि के रूप में अपना भाषण देते हुए,  एमएसपीडीसीएल के अध्यक्ष श्री टी. रोबिन्द्रो सिंह ने प्रदर्शनी के आयोजन के लिए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को धन्यवाद दिया। यह प्रदर्शनी लोगों को स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास की याद दिलाएगी। उन्होंने कहा कि इस तरह की प्रदर्शनी के आयोजन से युवाओं में देशभक्ति की भावना जगाने में मदद मिलेगी।

महानिदेशक (एनईजेड) श्री बी. नारायणन ने बताया कि आज उद्घाटन की गई फ्लोटिंग प्रदर्शनी का उद्देश्य युवाओं को अपनी नवीनता और नवाचार की ओर आकर्षित करना है। महानिदेशक ने यह भी कहा कि ब्यूरो की पहल के तहत आने वाली प्रदर्शनी में मणिपुर के स्वतंत्रता संग्राम के और गुमनाम नायकों को प्रदर्शित किया जाएगा।

*****

एमजी/एएम/एसकेएस/एसके

यह भी देखें :   Todabhim : पानी की किल्लत से परेशान ग्रामीण, अधिकारियों ने समस्या से मुँह मोड़ा | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें