बीते कल शाम “ग्लोबल क्लीन एनर्जी एक्शन फोरम-2022” अमेरिका के पेंसिल्वेनिया स्थित पिट्सबर्ग में हाइन्ज हिस्ट्री सेंटर में उद्घाटन समारोह के साथ शुरू हुआ

ग्लोबल क्लीन एनर्जी एक्शन फोरम-2022 के पहले दिन के उपलक्ष्य में आयोजित एक रात्रिभोज बैठक आयोजित की गई। इसमें केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने अमेरिकी ऊर्जा मंत्री जेनिफर ग्रानहोम और फोरम के अन्य महत्वपूर्ण मंत्रियों के साथ हिस्सा लिया।

इससे पहले एक्शन फोरम-2022 की शुरुआत अमेरिका के पेंसिल्वेनिया स्थित पिट्सबर्ग में हाइन्ज हिस्ट्री सेंटर में आयोजित एक उद्घाटन समारोह के साथ की गई थी।

 

अमेरिकी ऊर्जा विभाग और कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय संयुक्त रूप से पिट्सबर्ग में 21 से 23 सितंबर तक स्वच्छ ऊर्जा मंत्रिस्तरीय (सीईएम13) और मिशन नवाचार (एमआई-7) आयोजित कर रहा है।

जेनिफर ग्रानहोम के अलावा स्पीकरों में एलेघेनी काउंटी कार्यकारी रिच फिट्जगेराल्ड, पिट्सबर्ग के मेयर एड गेनी और कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय के अध्यक्ष फरनाम जहानियन और कोलंबिया विश्वविद्यालय के सेंटर ऑन ग्लोबल एनर्जी पॉलिसी के इनॉगरल फेलो डेविड सैंडलो शामिल हैं, जिन्होंने इस्पात शहर के प्रारंभिक ऊर्जा अर्थव्यवस्था से स्वच्छ ऊर्जा व नवाचार औद्योगिक केंद्र में रूपांतरण को साझा करते हुए पिट्सबर्ग में आने वाले देश के प्रतिनिधिमंडलों का स्वागत किया। इसके अलावा उन्होंने यह भी साझा किया कि हम मिशन नवाचार व स्वच्छ ऊर्जा मंत्रिस्तरीय की शुरुआत और ग्लोबल नेट जीरो अर्थव्यवस्था प्राप्त करने के लिए जरूरी नवाचार व त्वरित तैनाती के माध्यम से यहां तक कैसे पहुंचें।

माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स और जलवायु के लिए अमेरिका के विशेष राष्ट्रपति दूत जॉन केरी के इस ग्लोबल क्लीन एनर्जी एक्शन फोरम में उपस्थित होने की संभावना है।

डॉ. जितेंद्र सिंह, जो विद्युत, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय व विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के एक उच्च स्तरीय संयुक्त भारतीय मंत्रिस्तरीय आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं, 30 अन्य देशों के ऊर्जा मंत्रियों के साथ डेविड एल लॉरेंस कन्वेंशन सेंटर डाउनटाउन में पर्यावरण शिखर सम्मेलन के लिए पिट्सबर्ग में उपस्थित हुए।

यह भी पढ़ें :   प्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में महिला क्रिकेट टीम के सदस्यों को रजक पदक जीतने पर शुभकामनाएं दीं

इसके बाद डॉ. जितेंद्र सिंह मंत्रियों और वीआईपी के लिए एक निजी रात्रिभोज में शामिल हुए। इनमें अमेरिका के ऊर्जा सचिव जेनिफर ग्रानहोम, कनाडा के प्राकृतिक संसाधन मंत्री जोनाथन विल्किंसन, चिली के ऊर्जा मंत्री डिएगो पार्डो, नीदरलैंड के जलवायु व ऊर्जा नीति मंत्री रॉब जेटन, यूक्रेन के ऊर्जा मंत्री जर्मन गलुशचेंको, ब्रिटेन के जलवायु राज्य मंत्री ग्राहम स्टुअर्ट, नॉर्वे के पेट्रोलियम और ऊर्जा मंत्रालय में राज्य सचिव एंड्रियास एरिक्सन, कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय के अध्यक्ष फरनाम जहानियन और विश्व ऊर्जा परिषद की महासचिव एंजेला विल्किंसन थीं।

 

 

 

डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि वह क्लीनटेक लीडर्स राउंडटेबल (गोलमेज) में हिस्सा लेने और कल अमेरिका के डीओई के अधिकारियों और उद्योग जगत के नेताओं के साथ जुड़ने के अलावा विश्व के प्रमुख वैज्ञानिकों व शिक्षाविदों और भारतीय प्रवासियों से मिलने के लिए उत्सुक हैं। मंत्री ने इसका उल्लेख किया कि ग्लोबल क्लीन एनर्जी एक्शन फोरम की बैठक भारत को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जलवायु और स्वच्छ ऊर्जा की सोच को विश्व के सामने रखने का अवसर प्रदान करता है।

डॉ. जितेंद्र सिंह ग्लोबल क्लीन एनर्जी एक्शन फोरम के पूर्ण और दो गोलमेज सम्मेलनों से काफी गहरे रूप से जुड़े रहेंगे। केंद्रीय मंत्री द्वारा टिकाऊ जैव ऊर्जा और बायो-रिफाइनरियों विषयवस्तु पर आयोजित पहले गोलमेज सम्मेलन में महत्वपूर्ण स्वच्छ ऊर्जा हिस्से के साथ ऊर्जा परिदृश्य को रूपांतरित करने की दिशा में काम करने की भारत की योजना के बारे में संबोधन की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें :   केंद्रीय वित्त तथा कंपनी मामले मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन वित्त मंत्रालय के आजादी का अमृत महोत्सव समारोहों के प्रतिष्ठित सप्ताह कार्यक्रमों के दौरान सिंगल नोडल एजेंसी ( एसएनए ) डैशबोर्ड लांच करेंगी

वहीं, कनेक्टेड कम्युनिटी के साथ नेट जीरो बिल्ट एनवायरनमेंट (वातावरण) पर आयोजित दूसरे गोलमेज सम्मेलन में डॉ. सिंह पिछले दशक के दौरान 3.43 करोड़ अमरीकी डॉलर के निवेश के साथ भारत समर्थित अनुसंधान विकास और प्रौद्योगिकियों की तैनाती के बारे में विस्तार से बताएंगे।

इन दोनों गोलमेज सम्मेलन के बाद स्वच्छ ऊर्जा मंत्रिस्तरीय (सीईएम13) और मिशन नवाचार (एमआई-7) की संयुक्त मंत्रिस्तरीय पूर्ण बैठक होगी। इस बैठक में डॉ. जितेंद्र सिंह मंत्रियों और प्रतिनिधियों को इसकी जानकारी देंगे कि एमआई और सीईएम को शुरू किए जाने के बाद से ही दोनों का संस्थापक व सक्रिय सदस्य रहा है और अब विभिन्न मिशनों व प्लेटफॉर्म वर्क स्ट्रीम्स के माध्यम से एमआई 2.0 के साथ सक्रिय रूप से जुड़ा हुआ है। इन आयोजनों के बाद डॉ। जितेंद्र सिंह चुनिंदा प्रख्यात वैज्ञानिकों, शिक्षाविदों, डॉक्टरों और परोपकारी लोगों के साथ निजी रात्रिभोज करेंगे।

एमजी/एएम/एचकेपी/सीएस

यह भी देखें :   बसंत पंचमी : कैला देवी मंदिर में छप्पन भोग झांकी का आयोजन | Gangapur City | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें