अब समय आ गया है कि हम अपने कौशल चैंपियंस का उत्सव मनाएं: श्री राजीव चंद्रशेखर

एक मजबूत 58 सदस्यीय भारतीय दल को आज राजधानी में ‘विजयी भव’  के संदेश के साथ एक भव्य समारोह में विदाई दी गई। ये प्रतियोगी दुनिया की सबसे बड़ी कौशल प्रतियोगिता, विश्व कौशल प्रतिस्पर्धा 2022 में दुनिया में सर्वश्रेष्ठ के खिलाफ अपने कौशल को सिद्ध करने के लिए प्रतिस्पर्धा के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। प्रतियोगी यूरोप, कोरिया, जापान और अमेरिका के 15 देशों में 52 ट्रेडों में अपने कौशल का प्रदर्शन करेंगे।

प्रतियोगिता के वर्तमान संस्करण में, टीम इंडिया आधुनिक दौर के छः नए कौशलों में प्रतिस्पर्धा करेगी, जिसमें उद्योग 4.0, रोबोट सिस्टम एकीकरण, योगात्मक विनिर्माण और नवीकरणीय ऊर्जा शामिल हैं। 58 सदस्यीय टीम में 19 प्रतिशत महिलाओं का प्रतिनिधित्व उनके बढ़ते सामर्थ्य को दर्शाता है, इसमें कौशल भी शामिल है जिसपर अधिकांश तौर पर पहले पुरुषों का आधिपत्य था। सभी भारतीय प्रतिस्पर्धियों ने टोयोटा, मारुति, निफ्ट, महिंद्रा एंड महिंद्रा और अन्य उद्योगों एवं शिक्षाविदों की सहायता से अपने कौशल को निखारने के लिए गहन प्रशिक्षण प्राप्त किया है।

प्रतियोगियों को संबोधित करते हुए, कौशल विकास और उद्यमिता, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना एवं प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर ने कौशल में नए मानक स्थापित करने के लिए राज्यों, माता-पिता और अन्य समर्थकों का प्रतिनिधित्व करने वाले सभी प्रतिस्पर्धियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि हम एक यर्थात युवा शक्ति देख रहे हैं और हम सभी कौशल रूपी इस शानदार वर्तमान परिदृश्य के साक्षी भी हैं जो हमारे देश के आर्थिक पहियों को आगे बढ़ा रही है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि कौशल शक्ति के साथ, हम जल्द ही भारत की शानदार प्रौद्योगिकी के भी साक्षी बनेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अभिकल्पना से प्रेरित होकर, हम विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी युवाओं को तैयार करने में सक्षम हुए हैं जो भारत को विश्व का कौशल केन्द्र बनाने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि आज प्रदर्शित कौशल का विशाल दायरा उनमें यह विश्वास जगाता है कि हमारे पास सम्मान प्रकट करने लिए बहुत से कौशल चैंपियन होंगे।

यह भी पढ़ें :   सीसीआई ने कारोबारी समूहन में संलिप्तता के लिए टायर निर्माताओं और उनके संघ पर जुर्माना लगाया

एमएसडीई के सचिव श्री अतुल कुमार तिवारी ने छात्रों और प्रशिक्षकों की कड़ी मेहनत की सराहना करते हुए सभी उम्मीदवारों को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि यह एक वास्तविकता है कि हमने महामारी सहित बड़ी चुनौतियों का सामना बेहद साहसपूर्वक किया है और यह हमारी सहनशक्ति और धैर्य का प्रमाण है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं से मिलने वाले शानदार परिणाम और अनुभव हमारे विश्वास को मजबूत बनाते हैं कि विश्व कौशल प्रतियोगिता 2022 में हम अपने देश के लिए और अधिक गौरव हासिल करेंगे।

यह भी पढ़ें :   भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने चेन्नई स्थित ट्रेलर ओनर एसोसिएशनों के प्रतिस्पर्धा-विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने पर उनके खिलाफ गतिविधियों को रोकने और बंद करने का आदेश जारी किया

असाधारण प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुए, वर्तमान टीम वर्ल्डस्किल्स इंडिया के उम्मीदवार, लिकिथ कुमार स्विटज़रलैंड के बर्न में आयोजित वर्ल्ड स्किल्स प्रतियोगिता 2022 (डब्ल्यूएससी2022) के पहले चरण में प्रोटोटाइप मॉडलिंग में पहले ही कांस्य पदक जीत चुके हैं।

पिछली विश्व कौशल प्रतियोगिताओं के विभिन्न विजेताओं ने भी भारतीय टीम को संबोधित किया। उन्होंने सबसे बड़ी कौशल प्रतियोगिता के अपने अनुभव साझा किए और इच्छुक सदस्यों को वैश्विक मंच पर अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता का प्रदर्शन करने के लिए उत्साहित किया। 46वीं विश्व कौशल प्रतियोगिता में 60 से अधिक देशों का प्रतिनिधित्व करने वाले 1,400 से अधिक युवा पेशेवरों को एक साथ लाते हुए एक मंच प्रदान किया जाएगा। 2019 में, भारत से 48 उम्मीदवारों ने रूस के कज़ान में वर्ल्डस्किल्स इंटरनेशनल में भाग लिया था। टीम ने उत्कृष्टता के लिए एक स्वर्ण (जल प्रौद्योगिकी), एक रजत (वेब ​​प्रौद्योगिकी), दो कांस्य (आभूषण और ग्राफिक डिजाइन प्रौद्योगिकी) और 15 पदक जीते थे।

****

एमजी/एएम/एसएस

यह भी देखें :   Gangapur City Mandi Bhav : आज के गंगापुर सिटी मंडी के भाव | 12/05/2022 | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें