भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का 53वां संस्करण 20 से 28 नवंबर, 2022 तक गोवा में आयोजित किया जाएगा

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव, यानी इफ्फी के 53वें संस्करण का आयोजन 20 से 28 नवंबर, 2022 को गोवा में किया जाएगा। ये वार्षिक फिल्म महोत्सव कला, फिल्मों और संस्कृति की एकजुट ऊर्जा और भावना को संजोते हुए इन क्षेत्रों के बड़े बड़े दिग्गजों को एक ही छत के नीचे साथ लाता है। इस साल 79 देशों की 280 फिल्में यहां दिखाई जाएंगी। भारत की 25 फीचर फिल्मों और 20 गैर-फीचर फिल्मों को ‘इंडियन पैनोरमा’ में दिखाया जाएगा, जबकि 183 फिल्में अंतरराष्ट्रीय प्रोग्रामिंग का हिस्सा होंगी।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और मत्स्यपालन, पशुपालन व डेयरी राज्यमंत्री डॉ. एल. मुरुगन ने नई दिल्ली के नेशनल मीडिया सेंटर में एक कर्टन रेज़र प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए घोषणा की कि स्पेनिश फिल्मकार कार्लोस सौरा को सत्यजीत रे लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा और इफ्फी में उनकी 8 फिल्मों का रेट्रोस्पैक्टिव आयोजित किया जाएगा। स्पैनिश फिल्मकार कार्लोस सौरा को बर्लिन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में ‘देप्रीसा देप्रीसा’ के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का गोल्डन बियर पुरस्कार मिल चुका है। उन्हें ‘ला काज़ा’ और ‘पेपरमिंट फ्रेपे’ के लिए दो सिल्वर बियर और ‘कारमेन’ के लिए एक बाफ्टा मिल चुका है। कई अन्य पुरस्कारों के साथ साथ उन्हें कान फिल्म महोत्सव में तीन पुरस्कार मिल चुके हैं। इस साल की दादासाहेब फाल्के पुरस्कार विजेता आशा पारेख की तीन फिल्में – तीसरी मंजिल, दो बदन और कटी पतंग ‘आशा पारेख रेट्रोस्पैक्टिव’ के हिस्से के रूप में प्रदर्शित की जाएंगी। पूर्वोत्तर भारत की फिल्मों को बढ़ावा देने की पहल के रूप में, 5 फीचर और 5 गैर-फीचर फिल्में मणिपुरी सिनेमा की स्वर्ण जयंती मनाएंगी।

डीटर बर्नर द्वारा निर्देशित ऑस्ट्रियाई फिल्म ‘एल्मा एंड ऑस्कर’ इस सालाना महोत्सव का आगाज़ करेगी, जबकि क्रिस्टॉफ ज़ानुसी की ‘परफेक्ट नंबर’ यहां की क्लोजिंग फिल्म होगी। फ्रांस इस बार का ‘स्पॉटलाइट’ देश है और कंट्री फोकस पैकेज के तहत इसकी 8 फिल्मों की स्क्रीनिंग की जाएगी। ‘होमेज’ सेक्शन में 15 भारतीय और 5 अंतर्राष्ट्रीय फिल्में शामिल होंगी। भारत रत्न लता मंगेशकर, गायक-संगीतकार बप्पी लाहिड़ी, कथक उस्ताद पं. बिरजू महाराज, अभिनेता रमेश देव और माहेश्वरी अम्मा, गायक केके, निर्देशक तरुण, असमी अभिनेता श्री निपोन दास और थियेटर कलाकार मजूमदार, गायक भूपिंदर सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। वहीं अंतर्राष्ट्रीय खंड में ये महोत्सव बॉब राफेलसन, इवान रीटमैन, पीटर बोगदानोविच, डगलस ट्रंबेल और मोनिका विट्टी को श्रद्धांजलि देगा।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की पहल ’75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमॉरो’ का दूसरा संस्करण भी इस बार के महोत्सव का एक अन्य आकर्षण है। इसमें जिस संख्या में फिल्मकारों को पहचाना जा रहा है वो भारतीय स्वतंत्रता के 75वें वर्ष का प्रतीक है। ये कल्पना की गई है कि आने वाले वर्षों में इसे ध्यान में रखते हुए ही युवा प्रतिभागियों की संख्या में बढ़ोतरी होगी।

‘फिल्म बाजार’ अपने विभिन्न वर्गों में कुछ बेहतरीन फिल्मों और फिल्मकारों को प्रदर्शित करेगा। पहली बार कान फिल्म महोत्सव के ‘मार्श डु केन’ जैसे प्रमुख अंतरराष्ट्रीय बाजारों की तर्ज पर इफ्फी में पैवेलियन दिखाई देंगे। इस साल कुल 42 पैवेलियन होंगे। ये पैवेलियन विभिन्न राज्य सरकारों, हिस्सा लेने वाले देशों, फिल्म उद्योग के लोगों और मंत्रालय की मीडिया इकाइयों के फिल्म कार्यालयों का काम करेंगे। ऐसा भी पहली बार होगा जब कई रिस्टोर की गई क्लासिक फिल्में ‘द व्यूइंग रूम’ में उपलब्ध होंगी, जहां कोई भी इन फिल्मों के अधिकार खरीद सकेगा और दुनिया भर के फिल्म समारोहों में इनका इस्तेमाल कर सकेगा।

‘दिव्यांगजन’ सेक्शन में प्रदर्शित रिचर्ड एटनबरो की ऑस्कर विजेता फिल्म ‘गांधी’ सरीखी फिल्में ऑडियो-विज़ुअल तौर पर सुसज्जित होगी जिसमें ऑडियो विवरण और सबटाइटल होंगे। ये इन फिल्मों को दिव्यांग फिल्म प्रशंसकों के लिए भी सुलभ बनाएगा और समावेश की भावना को बढ़ावा देगा।

किताबों में छपी अच्छी कहानियों और एडेप्टेप्शन के बाद फिल्मों में तब्दील की जा सकने वाली किताबों के बीच की खाई को पाटने की पहल के रूप में एक नया बुक एडेप्टेशन कार्यक्रम ‘बुक्स टू बॉक्स ऑफिस’ शुरू किया गया है। कुछ सर्वश्रेष्ठ प्रकाशकों के उन पुस्तकों के अधिकारों को बेचने के लिए यहां उपस्थित रहने की उम्मीद है जिन्हें सिनेमाई परदे के कॉन्टेंट में तब्दील किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :   थॉमस और उबर कप के भारतीय बैडमिंटन दल के साथ प्रधानमंत्री की बातचीत का मूल पाठ

‘इंडियन पैनोरमा’ की शुरुआत पृथ्वी कोन्नूर की कन्नड़ा फिल्म ‘हडिनेलेंटु’ से होगी, जबकि दिव्या कवासजी की ‘द शो मस्ट गो ऑन’ नॉन-फीचर फिल्म सेक्शन को हरी झंडी दिखाएगी। ऑस्कर की बेस्ट इंटरनेशनल फीचर फिल्म श्रेणी में भारत की एंट्री, पैन नलिन की’छेल्लो शो- द लास्ट फिल्म शो’ और मधुर भंडारकर की ‘इंडिया लॉकडाउन’ की विशेष स्क्रीनिंग होगी।

भारतीय राष्ट्रीय फिल्म अभिलेखागार की फिल्मों को एनएफडीसी द्वारा ‘इंडियन रिस्टोर्ड क्लासिक्स’ सेक्शन में प्रदर्शित किया जाएगा। इनमें सोहराब मोदी की 1957 की कॉस्ट्यूम ड्रामा ‘नौशेरवान-ए-आदिल’, रमेश माहेश्वरी की 1969 की राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता पंजाबी फिल्म ‘नानक नाम जहाज है’, के. विश्वनाथ की 1980 की तेलुगू म्यूजिकल ड्रामा ‘शंकराभरणम’ और सत्यजीत रे की दो क्लासिक फिल्में – 1977 की पीरियड ड्रामा ‘शतरंज के खिलाड़ी’ और 1989 में आई ‘गणशत्रु’ शामिल हैं।

सिनेमा को समर्थन देने और बढ़ावा देने के लिए हिंदी फिल्मों के कई गाला प्रीमियर होंगे जिनमें उन फिल्मों के कलाकार मौजूद रहेंगे। इनमें परेश रावल की ‘द स्टोरीटेलर’, अजय देवगन और तब्बू की ‘दृश्यम 2’, वरुण धवन और कृति सैनोन की ‘भेड़िया’ और यामी गौतम की ‘लॉस्ट’ शामिल हैं। आगामी तेलुगु फिल्म ‘रेमो’, दीप्ति नवल और कल्कि केकलां की ‘गोल्डफिश’ और रणदीप हुड्डा और इलियाना डीक्रूज की ‘तेरा क्या होगा लवली’ का भी इफ्फी में प्रीमियर होगा। इनके साथ साथ वधांधी, खाकी और फौदा सीजन 4 जैसे ओटीटी शोज़ के एपिसोड भी दिखाए जाएंगे।

इस दौरान एक बहुत बड़ा आकर्षण वे फिल्में होंगी जिन्होंने कान, बर्लिन, टोरंटो और वेनिस जैसे दुनिया भर के प्रतिष्ठित फिल्म समारोहों में कई पुरस्कार जीते हैं। कुछ फिल्में ऑस्कर विजेताओं द्वारा निर्देशित या अभिनीत हैं। इन फिल्मों में पार्क-चान वूक की ‘डिसीजन टू लीव’ और रुबेन ओस्टलुंड की ‘ट्राएंगल ऑफ सैडनेस’, ​​डैरेन एरोनोवस्की की ‘द व्हेल’ और गिएर्मो डेल टोरो की ‘पिनोचियो’, क्लेयर डेनिस की ‘बोथ साइड्स ऑफ द ब्लेड’ और गाय डवीडी की ‘इनोसेंस’, सेंट ओमर की ‘ऐलिस डियोप’ और मरियम तौज़ानी की ‘द ब्लू काफ्तान’ शामिल हैं।

प्रख्यात फिल्मकारों और अभिनेताओं के साथ 23 ‘मास्टरक्लास’ और ‘इन कन्वर्सेशन’ सत्र आयोजित किए जाएंगे जिससे ये एक खासा रोमांचक सप्ताह साबित होगा। स्क्रीनराइटिंग पर वी. विजयेंद्र प्रसाद, एडिटिंग पर ए. श्रीकर प्रसाद और एक्टिंग पर अनुपम खेर की मास्टरक्लास होगी। एसीईएस पर एक मास्टरक्लास में ऑस्कर एकेडमी के विशेषज्ञ होंगे, जबकि एनीमेशन से जुड़ी मास्टरक्लास में मार्क ओसबोर्न और क्रिश्चियन जेज्डिक होंगे। ‘इन-कन्वर्सेशन’ सत्र आशा पारेख, प्रसून जोशी, आनंद एल राय, आर बाल्की और नवाजुद्दीन सिद्दीकी व अन्य के साथ होंगे।

इफ्फी का 53वां संस्करण वर्चुअल तौर पर देखा जा सकेगा। पंजीकरण करने वाले यूज़र्स गोवा में नहीं होने के बावजूद इन मास्टरक्लास, बातचीत, पैनल चर्चाओं और उद्घाटन व समापन समारोहों का हिस्सा बन सकेंगे। इन लाइव सत्रों का कार्यक्रम जानने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं।

इफ्फी गोवा, 2022 में एफटीआईआई द्वारा क्यूरेट की गई मीडिया और मनोरंजन की टेक्नोलॉजी प्रदर्शनी होगी। इसमें 15 से अधिक कंपनियां अपने उपकरणों और सेवाओं का प्रदर्शन करेंगी। इनमें – सिनेओम, कैनन, ज़ीस, पल्ज़, प्रसाद कॉर्पोरेशन, सोनी, टेक्नीकलर क्रिएटिव सॉल्यूशंस, अमेज़ॅन, हंसा सिने इक्विपमेंट, एसआरएसजी जैसी कंपनियां शामिल हैं। आजादी का अमृत महोत्सव के मौके पर सीबीसी द्वारा मीडिया और मनोरंजन के टेक्नीकल एग्जीबिशन ज़ोन में आज़ादी का अमृत महोत्सव गतिविधियों की थीम पर प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। इफ्फी-53 में कई आकर्षण होने वाले हैं जिनमें 26 नवंबर 2022 को होने वाला शिगमोत्सव (वसंत महोत्सव) और 27 नवंबर 2022 को होने वाला गोवा कार्निवल शामिल है।

यह भी पढ़ें :   आवश्यक पैकेज नियमों के तहत खाद्यान्न की 100 प्रतिशत और चीनी की 20 प्रतिशत पैकिंग, जूट बैग में करने को अनिवार्य बनाया गया है

आयुष मंत्रालय आधिकारिक वेलनेस पार्टनर के रूप में एक सेक्शन लेगा ताकि यहां आने वाले प्रतिनिधि और आम लोग इस महोत्सव की अवधि के दौरान योग कर सकें और समग्र जांच करवा सकें। इस महोत्सव के दौरान होम्योपैथी, प्राकृतिक चिकित्सा, आयुर्वेद और योग, इन 4 आयुष के विभागों को बढ़ावा देने की योजना है।

इसके उद्घाटन और समापन समारोह में 14 सांस्कृतिक प्रदर्शन होंगे जिनमें भारत भर से शीर्ष फिल्मी हस्तियां हिस्सा लेंगी और इनमें फ्रांस, स्पेन और गोवा का प्रतिनिधित्व करने वाले संगीत और नृत्य समूह भी शामिल होंगे। उद्घाटन समारोह का विषय आजादी का अमृत महोत्सव समारोह के तहत होगा – पिछले 100 वर्षों में भारतीय सिनेमा का विकास।

मीडिया को संबोधित करते हुए राज्यमंत्री ने कहा, “इफ्फी के अंतरराष्ट्रीय फिल्म खंड में प्रदर्शन के लिए 180 फिल्मों को शॉर्टलिस्ट किया गया है। होमेज सेक्शन में पांच हस्तियों की फिल्में दिखाई जाएंगी और इफ्फी के ट्रिब्यूट सेक्शन में दो प्रतिष्ठित फिल्मकारों की फिल्में दिखाई जाएंगी।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव श्री अपूर्व चंद्रा ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, “इफ्फी का फिल्म बाजार काफी हद तक बदलने वाला है क्योंकि पहली बार पंजिम, गोवा में समुद्र के किनारे बेहद खूबसूरत सैरगाह पर कई देशों, राज्यों और फिल्म संगठनों के पैवेलियन स्थापित किए जाएंगे। फिल्म बाजार और इन पैवेलियन में प्रवेश इफ्फी के प्रतिनिधियों के लिए किसी भी समय खुला रहेगा और काम के दिनों में आम जनता के लिए दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक ये खुला रहेगा।

सूचना एवं प्रसारण सचिव के साथ 53वें इफ्फी की कर्टेन रेज़र प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते राज्यमंत्री डॉ. एल. मुरुगन

 

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और मत्स्यपालन, पशुपालन व डेयरी राज्यमंत्री डॉ. एल. मुरुगन ने 53वें इफ्फी की मुख्य बातों के बारे में मीडिया को जानकारी दी

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव पर एक शॉर्ट फिल्म का प्रदर्शन

 

📡LIVE NowCurtain Raiser Press Conference on 53rd International Film Festival of India📍National Media CentreWatch on #PIB’s📺YouTube: https://t.co/OQvKtNLJeyFacebook: https://t.co/Y3o6hcHNTO#IFFI #53IFFI https://t.co/aNIrInbIL6

In the International film section, 180 films are shortlisted to be screened at #IFFI Films of five personalities are going to be screened in the homage section; Two eminent filmmakers’ films will be screened in the tribute section of the #IFFIMoS @MIB_India @Murugan_MoS pic.twitter.com/Sf7gfJkosy

The film Bazar of #IFFI would be substantially changed as for the first time pavilion from several countries, states, and film organizations would be set up on a very beautiful promenade along the sea in Panjim. – Secretary @MIB_India #IFFI53 1/2 pic.twitter.com/ok5v9wmMEi

#WhyIFFI#IFFI53: Bringing you the worldwide allure of cinemaThe 53rd edition of #IFFI to cater to both filmmakers & film enthusiasts through multiple events like film screenings, masterclasses, musical events, Film Bazar, and more!🗓️- 20 to 28 Nov🌐-https://t.co/Hh8v0eIAF0 pic.twitter.com/Y4kxrdkxdq

The result of #75CreativeMindsOfTomorrow has been declaredA 53-hour challenge will be given to produce a short film in 53 hours showcasing, idea of [email protected] & the film will be streamed on short TV network;More than 25K schools will be shown the process of filmmaking-MD, NFDC pic.twitter.com/9CHK6VehaI

The beach state of Goa is getting ready to welcome delegates and cine goers🎞️🎥Are you ready for Asia’s one of the most significant film festival 🤘The 53rd edition of @IFFIGoa to showcase the best of world cinema 🗓️- 20 to 28 Nov 2022🌐-https://t.co/Hh8v0erxD0#IFFI53 pic.twitter.com/tpsby6id47

53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव की मुख्य विशेषताएं देखने के लिए यहां क्लिक करें

 

*********

एमजी/एएम/जीबी/डीके-

यह भी देखें :   Gangapur City : महाशिवरात्रि पर मंदिरो में भक्तो की भीड़ | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें