banner

जनजातीय गौरव दिवस के अवसर पर केंद्रीय मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने रेल भवन में भगवान बिरसा मुंडा को पुष्पांजलि अर्पित की

रेल, संचार एवं इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने आज रेल भवन में महान आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी भगवान बिरसा मुंडा को पुष्पांजलि अर्पित की।

भारतीय रेल द्वारा ‘धरती आबा’ भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को समर्पित ‘जनजातीय गौरव दिवस’ पूरे उत्साह के साथ मनाया गया। नई दिल्ली स्थित रेल भवन में आयोजित कार्यक्रम में माननीय रेल मंत्री श्री @AshwiniVaishnaw जी समेत रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।#JanJatiyaGauravDivas2022 pic.twitter.com/EMJVsNLo2l

भारत सरकार ने वर्ष 2021 से आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी “बिरसा मुंडा” की जयंती के उपलक्ष्य में 15 नवंबर को ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के रूप में मनाने का निर्णय लिया है, जो न केवल एक स्वतंत्रता सेनानी थे बल्कि वे एक समाज सुधारक भी थे, जिन्होंने ब्रिटिश औपनिवेशिक सरकार की शोषणकारी व्यवस्था के खिलाफ जनजातीय आंदोलन अर्थात् उलगुलान (विद्रोह) का नेतृत्व किया था। उन्हें धरती अब्बा के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि उन्होंने जनजातीय समुदायों को अपनी सांस्कृतिक जड़ों को समझने और एकता का पालन करने के लिए प्रोत्साहित किया था।

यह भी पढ़ें :   भारतीय रेलवे ने अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए जून 2022 में 125.50 मीट्रिक टन की रेकॉर्ड माल ढुलाई की

भारतीय रेल में जनजातीय गौरव दिवस देशभक्ति की भावना के साथ मनाया गया। इस अवसर पर देश के प्रमुख रेल स्टेशनों पर डिजिटल रूप में बैनर प्रदर्शित किए गए। इस अवसर के महत्व के बारे में रेल स्टेशनों पर जन संबोधन प्रणाली के तहत ऑडियो क्लिप भी चलाए गए। इसके अलावा, क्षेत्रीय रेलवे द्वारा ऑनलाइन क्विज, निबंध और पेंटिंग प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गईं। क्षेत्रीय रेलवे की सांस्कृतिक टीमों द्वारा लोक गीत गाए गए।

यह भी पढ़ें :   केंद्रीय गृह मंत्री ने ‘'स्वराज' से 'न्यू इंडिया' तक भारत के विचारों का पुनरावलोकन’ विषय पर अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन किया

पिछले 8 वर्षों में, रेलवे ने अनुसूचित क्षेत्रों में बड़ी संख्या में परियोजनाओं की शुरुआत की है, जिनसे वहां रहने वाले लोगों के लिए कनेक्टिविटी और व्यापार के अवसरों को गति मिली है।

 

एमजी/एएम/जेके

यह भी देखें :   Live : L&T का कार्य बना जी का जंजाल, आखिर गंगापुर कब होगा इस दुर्व्यवस्था से मुक्त ?

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें