संस्कृति मंत्रालय की संगीत नाटक अकादमी 19 और 20 नवंबर को इंडिया गेट पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन करेगी

प्रमुख बिंदु :

भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय की संगीत नाटक अकादमी 19 और 20 नवंबर, 2022 को नई दिल्ली स्थित इंडिया गेट लॉन (घास के मैदान) में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करेगी।

इन कार्यक्रमों में 19 नवंबर को चेंदा मेलम, कथक नृत्य, कठपुतली प्रदर्शन, मणिपुरी नृत्य और 20 नवंबर को ओडिसी नृत्य व कथक नृत्य का आयोजन शामिल हैं। ये सांस्कृतिक कार्यक्रम शाम छह बजे से शुरू होंगे।

19 और 20 नवंबर को दिल्ली पंचवाद्य ट्रस्ट की ओर से चेंदा मेलम का आयोजन किया जाएगा। पंचारी मेलम आघात वाद्ययंत्र (ड्रम) का एक प्रदर्शन है। यह केरल में मंदिर उत्सवों के दौरान किया जाता है। पंचारी मेलम (या सामान्य रूप से पंचारी), चेंदा मेलम (जातीय ड्रम प्रदर्शन) के प्रमुख रूपों में से एक है। यह क्षेत्रवाद्यम (मंदिर आघाच वाद्य) शैली में सबसे प्रसिद्ध और लोकप्रिय है। पंचारी मेलम में चेंदा, इल्लाथालम और आधार चेंदा (वालंथाला) जैसे वाद्य यंत्र शामिल हैं। इसका प्रदर्शन बिना किसी संदेह के सबसे शास्त्रीय विधि से मध्य केरल के कई मंदिर उत्सवों के दौरान किया जाता है। इसके अलावा उत्तर केरल (मालाबार) और दक्षिण- मध्य केरल (कोच्चि) में जटिल क्षेत्रीय अंतर होने के बावजूद भी पंचारी का प्रदर्शन पारंपरिक रूप से किया जाता है।

यह भी पढ़ें :   व्यापार मेले में आयुर्वेद के पौष्टिक खाद्य उत्पाद होंगे आकर्षण के केंद्र

कलाशीष के छात्र- छात्राएं कत्थक नृत्य का प्रदर्शन करेंगे। वे रागभोपाली, तीनताल में ओम नमः शिवाय प्रस्तुत करेंगे। इसके बाद पंडित विजय शंकर द्वारा एक तराना को मूल रूप से द्रुत तीन ताल, राग जन सम्मोहिनी पर नृत्य संयोजन (कोरियोग्राफ) किया जाएगा। असावरी पवार ने मौजूदा प्रस्तुति की कोरियोग्राफी की है।

इसके अलावा 19 नवंबर को कठपुतली का प्रदर्शन मोहम्मद शमीम व समूह और 20 नवंबर को कलाबाज समूह की ओर से किया जाएगा।

यह भी पढ़ें :   भारत-अफ्रीका रक्षा वार्ता प्रत्‍येक रक्षा प्रदर्शनी के साथ आयोजित की जाएगी

मणिपुरी नृत्य पांथोइबी जागोई मारुप और ओडिसी नृत्य संचारी फाउंडेशन द्वारा किया जाएगा। इसके अलावा 20 नवंबर को रुद्राक्ष की ओर से कत्थक नृत्य का प्रदर्शन किया जाएगा।

यह उल्लेखनीय है कि 8 सितंबर, 2022 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सेंट्रल विस्टा का उद्घाटन किए जाने के बाद आम तौर पर संस्कृति मंत्रालय ने महात्मा गांधी, गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर और राजा राम मोहन राय की स्मृति में कार्यक्रम आयोजित किए हैं। ये कार्यक्रम नेताजी सुभाष चंद्र बोस जैसे महान स्वतंत्रता सेनानियों से लेकर महिला सशक्तीकरण व साइबर अपराध तक कई सामाजिक मुद्दों और विषयों से जुड़े हुए हैं। इन कार्यक्रमों में सभी आगंतुक नि:शुल्क शामिल हो सकते हैं और उनका नए भारत की उभरती तस्वीर देखने के लिए स्वागत है।

*****

एमजी/एएम/एचकेपी/डीवी