ग्रामीण भारत में 19 नवंबर 2022 को विश्व शौचालय दिवस 2022- ‘स्वच्छता दौड़’ का आयोजन

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत जल शक्ति मंत्रालय का पेयजल और स्वच्छता विभाग (डीडीडब्ल्यूएस) 19 नवंबर, 2022 को विश्व शौचालय दिवस के मौके पर ग्रामीण भारत में ‘स्वच्छता दौड़’ का आयोजन कर रहा है। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लोकल हीरोज, स्वच्छाग्रहियों, आशा कार्यकर्ताओं, स्वयंसेवकों, युवाओं, स्कूली बच्चों और स्थानीय लोक कलाकारों आदि को शामिल करते हुए ग्राम पंचायत स्तर पर “स्वच्छता दौड़” आयोजित करने का निर्देश दिया गया। स्थानीय निर्वाचित प्रतिनिधियों / स्थानीय लोक कलाकारों को भी इसमें शामिल करने का सुझाव दिया गया है। स्थानीय लोगों को भागीदारी के लिए उत्साहित करने के लिए खिलाड़ियों/ सेलेब्रिटीज/ स्थानीय प्रभावशाली व्यक्तियों द्वारा “दौड़” को झंडी दिखाकर रवाना किया जाएगा। राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को इस दौड़ के प्रारंभ में सभी प्रतिभागियों द्वारा ‘स्वच्छता प्रतिज्ञा’ लेने; स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) चरण-II के बैनर, पोस्टर, स्लोगन और अन्य बाहरी सूचना, शिक्षा और संचार (आईईसी) सामग्री को मार्ग में प्रदर्शित करने, ऐतिहासिक महत्व के स्थल और/या पंचायत कार्यालय में “दौड़” शुरू और समाप्त करने; रीफ्रेशमेंट, मेडिकल किट, टी-शर्ट और भागीदारी प्रमाण पत्र के प्रावधान का ग्राम पंचायत द्वारा ध्यान रखने के बारे में सूचित किया गया है। 

कार्यक्रम के मुख्य बिंदु-

एनआईसी के साथ डीडीडब्ल्यूएस ने स्वच्छता दौड़ गतिविधियों की निगरानी के लिए एक समर्पित ई-मॉड्यूल विकसित किया है। राज्य और केंद्र-शासित प्रदेश “दौड़” के स्थान के बारे में जानकारी अपलोड करेंगे, गणमान्य व्यक्ति फ़्लैगिंग/दौड़ में भाग लेंगे, प्रतिभागियों की संख्या और “दौड़” की तस्वीरें और घटना का संक्षिप्त विवरण भी जिलों से प्राप्त किया गया था। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण)आईईसी संचार सामग्री की एक सॉफ्टकॉपी, जिसमें “दौड़” के बारे में अधिसूचना शामिल है, क्यूआर कोड के माध्यम से राज्यों को प्रदान की गई थी जिसे 17 नवंबर 22 को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ आयोजित एक प्रारंभिक वीडियो कॉन्फ्रेंस में साझा किया गया था।

यह भी पढ़ें :   कोविड-19 टीकाकरण अपडेट - 482वां दिन

2013 से प्रतिवर्ष आयोजित होने वाला यह वैश्विक आयोजन, शौचालयों का जश्न मनाता है और स्वच्छता तक पहुंच के बिना रहने वाले लोगों के लिए जागरूकता बढ़ाता है। 2022 की थीम ‘मेकिंग द इनविजिबल विजिबल’ है और यह पता लगाने का प्रयास करती है कि कैसे अपर्याप्त स्वच्छता प्रणालियां मानव अपशिष्ट को नदियों, झीलों और मिट्टी में फैलाती हैं और भूमिगत जल संसाधनों को प्रदूषित करती हैं। यह समस्या अदृश्य लगती है क्योंकि जल प्रदूषण भूमिगत होता है। यह विशेष दिन वैश्विक स्वच्छता संकट से निपटने और सतत विकास लक्ष्य 6.2: 2030 तक सभी के लिए स्वच्छता और पानी प्राप्त करने के लिए कार्यों को उजागर करने के बारे में है। भले ही भारत सुरक्षित स्वच्छता तक पहुंच से संबंधित एसजीसी लक्ष्य 6.2 पहले ही हासिल कर चुका है, जब देश ने अक्टूबर 2019 में खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) का दर्जा हासिल किया; यह अब ओडीएफ प्लस का दर्जा हासिल करने के अपने प्रयासों में लगा हुआ है।

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) को दुनिया के सबसे बड़े व्यवहार परिवर्तन कार्यक्रम के रूप में मान्यता दी गई है। यह लोगों की भागीदारी के प्रभावशाली बल – ‘जल आंदोलन’ का प्रतिनिधित्व करता है, जिसने सामाजिक लाभ, आर्थिक लाभ, पर्यावरण सुरक्षा और सबसे महत्वपूर्ण रूप से महिलाओं की गरिमा तथा सुरक्षा के मामले में ग्रामीण भारत की आबादी के जीवन को बदल दिया। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) का दूसरा चरण स्वस्थ व्यवहार की इस मजबूत नींव पर ध्यान केंद्रित करता है और ओडीएफ प्लस की दिशा में सूचित, शिक्षित और कार्रवाई करता है। ‘स्वच्छता दौड़’ भी जनता को शामिल करने की एक ऐसी कार्रवाई है। “दौड़” का उद्देश्य स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) चरण II घटकों से जुड़े शौचालय, सुरक्षित स्वच्छता और दृश्य स्वच्छता के उपयोग के महत्व के बारे में लोगों के बीच जागरूकता पैदा करना है।

यह भी पढ़ें :   अन्तराष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस पर राज्य स्तरीय विशेष योग्यजन पुरस्कारों के लिए प्रस्ताव आमंत्रित

स्वच्छता दौड़ के आयोजन के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखे गए पत्र को देखने के लिए यहां क्लिक करें-

 

19 नवंबर 2022 को ग्रामीण भारत में ‘स्वच्छता दौड’ का आयोजन किया जा रहा है।

19 नवंबर 2022 को ग्रामीण भारत में ‘स्वच्छता दौड’ का आयोजन किया जा रहा है।

 

“स्वच्छता रन” में में भाग लें और ओडीएफ प्लस के विभिन्न घटकों के बारे में जागरूकता बढ़ाएं। आइए हम अपने गांवों को ओडीएफ प्लस बनाने की दिशा में काम करें।#SwachhataRun #SwachhBharatMission #ODFPlus #SBMG #Swachhata #CleanIndiaGreenIndia #SwachhBharat pic.twitter.com/Pgq5dpbp0g

“स्वच्छता रन” के दौरान स्थानीय नायक, स्वच्छाग्रही, आशा कार्यकर्ता, युवा, स्कूली बच्चे और स्थानीय लोक कलाकार स्वच्छ भारत मिशन – ग्रामीण 2.0 के घटकों के बारे में जागरूकता बढ़ाएंगे। आइए हम हिस्सा लें और अपने गांवों को #ओडीएफप्लस बनाने की दिशा में काम करें।#SwachhBharatMission #SBMG pic.twitter.com/1eGoi2voPq

****

एमजी/एएम/पीके/वाईबी