banner

‘75 क्रियेटिव माइंड्स ऑफ टूमॉरो’ कल से आरंभ होने वाले ’53 हॉवर चैलेंज’ में हिस्सा लेंगे

अब समय आ गया है कि फिल्म निर्माण का जुनून रखने वाले 75 युवा अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा सकें! ये सभी 75 युवा 18-35 वर्ष आयुवर्ग के हैं, जो ‘75 क्रियेटिव माइंड्स ऑफ टूमॉरो’ प्रतिस्पर्धा की सूची में नाम दर्ज करवाने में सफल हुये हैं। इन्हें 15-15 के समूहों में बांटा जायेगा और ये कल शुरू होने वाले “15 हॉवर चैलेंज” में हिस्सा लेंगे। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण तथा खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर कल (21 नवंबर, 2022) गोवा में चुनौती का शुभारंभ करेंगे। इस प्रतिस्पर्धा को 53वें भारत अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) के दौरान आयोजित किया जा रहा है। प्रतिस्पर्धा में इन सभी को इंडिया@100 के विचार पर एक लघु फिल्म बनाने की चुनौती दी गई है। इन सभी फिल्मों की संयुक्त अवधि 53 घंटे होगी। इफ्फी-53 के इस वर्ग को शॉर्ट्स टीवी के सहयोग से राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम समर्थन दे रहा है।

ये युवा प्रतिभायें आज 53वें भारत अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के उद्घाटन समारोह में उपस्थित थीं। श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने एशिया के सबसे पुराने फिल्म महोत्सव में उनका स्वागत किया और उनसे आग्रह किया कि वे इस सिने-पर्व में ‘उद्योग के अत्यंत प्रतिभाशाली दिग्गजों के साथ मिलकर पड़ताल करें, अनुभव प्राप्त करें और उनके साथ जुड़ें।’

इफ्फी-53 के उद्घाटन समारोह में इस प्रतियोगिता के बारे में श्री ठाकुर ने कहा कि ‘75 क्रियेटिव माइंड्स ऑफ टूमॉरो’ की अवधारणा युवाओं को अपनी प्रतिभा का परिचय देने के लिये उन्हें मंच प्रदान करने के सम्बंध में प्रधानमंत्री की परिकल्पना से प्रेरित है। श्री ठाकुर ने बताया कि 10 वर्गों में लगभग 1000 प्रविष्टियां प्राप्त हुई थीं। इन 75 युवाओं को फिल्म निर्माण, मुख्यतः निर्देशन, अभिनय, सिनेमाटॉग्राफी, फिल्म-संपादन, पटकथा-लेखन, प्लेबैक गायन, संगीत रचना, कॉस्ट्यूम व मेक-अप, आर्ट-डिजाइन, एनीमेशन, विजुअल इफेक्ट्स (वीएफएक्स), ऑगमेंटेड रियालिटी (एआर) और वर्चुअल रियालिटी (वीआर) जैसी विधाओं में उनकी प्रतिभा के बल पर चुना गया है। इनमें से 15 निर्देशन, 13 उदीयमान कलाकार और 12 फिल्म-संपादन के क्षेत्र से जुड़े हैं।

यह भी पढ़ें :   डाक विभाग अपने 1.5 लाख डाकघरों के सर्वव्यापी नेटवर्क के साथ देश के हर एक नागरिक के लिए "हर घर तिरंगा" कार्यक्रम को कार्यान्वित कर रहा है

‘75 क्रियेटिव माइंड्स ऑफ टूमॉरो’ को प्रतिष्ठित ज्यूरी ने कड़ी चयन प्रक्रिया का पालन करने के बाद चुना है। ज्यूरी में राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त और जीवन-पर्यन्त पुरस्कार प्राप्त, ग्रैमी और ऑस्कर पुरस्कार से सम्मानित लोग शामिल हैं। श्री
ठाकुर ने गौर किया कि फिल्म व्यवसाय से जुड़ी ये भावी प्रतिभायें 19 राज्यों से सम्बंध रखती हैं, जैसे जैनतिया हिल्स (मेघालय), लख्मीपुर (असम), खुर्दा (ओडिशा) इत्यादि। श्री ठाकुर ने बताया कि इनमें से एक प्रतिस्पर्धी मात्र 18 वर्ष का है!

इन विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता सम्बंधी चार क्षेत्रों की पहचान की गई है और उन्हें इस बार के ‘75 क्रियेटिव माइंड्स ऑफ टूमॉरो’ पहल में जोड़ा गया है। ये चार नये वर्ग हैं – 1) संगीत रचना, 2) कॉस्ट्यूम व मेक-अप, 3) आर्ट-डिजाइन और 4) एनीमेशन/वीएफएक्स/एआर/वीआर। इन वर्गों को इसलिये शुरू किया गया है, ताकि गैर-पारंपरिक कौशल और विशेषज्ञता को प्रोत्साहित किया जाये तथा इन क्षेत्रों में करियर बनाने के लिये अधिक से अधिक लोगों को प्रेरित किया जाये।

युवा प्रतिभाओं को ‘फिल्म बाजार’ में सिनेमा के कार्य-व्यापार को जानने का अवसर मिलेगा। ‘फिल्म बाजार’ दक्षिण एशिया और अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समुदायों के बीच सहयोग को बढ़ावा देने का माध्यम है। युवा कलाकारों के लिये आने-जाने, रहने, स्थानीय यातायात और 53वीं इफ्फी का उसके पूरी भव्यता के साथ अवलोकन करने की निशुल्क व्यवस्था की गई है।

यह भी पढ़ें :   केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह अमेरिका में आयोजित वैश्विक स्वच्छ ऊर्जा कार्य मंच (ग्लोबल क्लीन एनर्जी एक्शन फोरम) में भाग लेने के लिए बिजली, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा तथा विज्ञान और प्रौद्योगिकी के संयुक्त भारतीय मंत्रिस्तरीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं

चुनी हुई ‘75 क्रियेटिव माइंड्स ऑफ टूमॉरो’ की बहुप्रतीक्षित सूची कुछ दिन पहले जारी की गई थी। बता दें कि इसका चयन स्क्रीनिंग/सेलेक्शन ज्यूरी ने किया और उसके बाद ग्रैंड ज्यूरी ने उस पर गौर किया। इस प्रक्रिया के बाद सूची जारी की गई।

सबसे कम आयु के विजेताओं में हरियाणा के 18 वर्षीय नीतीश वर्मा और महाराष्ट्र के 18 वर्षीय तौफीक मंडल हैं। इन दोनों को संगीत रचना में उनकी प्रतिभा के कारण चुना गया है। महाराष्ट्र से सबसे अधिक विजेता (23 कलाकार) हैं। उसके बाद तमिलनाडु (नौ विजेता) और दिल्ली (छह रचनाशील प्रतिभायें) हैं।

आने वाले कल की ये उदीयमान सिनेमाई प्रतिभायें भारत के भिन्न-भिन्न 19 राज्यों की हैं, जिनमें आंध्रप्रदेश, असम, दिल्ली, गोवा, हरियाणा, कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, राजस्थान, बिहार, हिमाचल प्रदेश, जम्मू व कश्मीर, ओडिशा, तमिल नाडु, उत्तरप्रदेश, झारखंड और पश्चिम बंगाल शामिल हैं। सबसे अधिक विजेता महाराष्ट्र के हैं। उसके बाद तमिलनाडु, दिल्ली, उत्तरप्रदेश और पश्चिम बंगाल आते हैं।

ग्रैंड ज्यूरी में शामिल हैं:

सेलेक्शन/स्क्रीनिंग ज्यूरी सदस्य हैं:

 

* * *

एमजी/एएम/एकेपी

यह भी देखें :   Gangapur City : शॉर्टसर्किट से लगी मकान में आग, आग बुझाने के किये जा रहे प्रयास | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें