banner

इफ्फी में 53-घंटे के चैलेंज में 75 नवोदित प्रतिभाशाली फिल्मकारों ने इंडिया@100 के विचार को प्रस्तुत करने वाली “पांच बेहतरीन फिल्में” बनाईं

75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमॉरो का दूसरा संस्करण आज “53-आवर चैलेंज” के पुरस्कार समारोह के साथ संपन्न हुआ। प्रतियोगिता में 75 नवोदित प्रतिभाशाली फिल्मकारों को 53 घंटों में इंडिया@100 के उनके विचार पर एक लघु फिल्म बनाने की चुनौती दी गई थी।

इस चैलेंज की शुरुआत 21 नवंबर को केंद्रीय सूचना और प्रसारण तथा युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने घंटा बजाकर और कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए की थी। इफ्फी53 का यह खंड शॉर्ट्स टीवी के सहयोग से राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम द्वारा संचालित है। चैलेंज का आज फिनाले था। 53 घंटों के दौरान 5 लघु फिल्में बनाई गईं। शूटिंग से लेकर अंतिम फिल्म डिलीवरी तक, फिल्म निर्माताओं ने अपनी पटकथा को जीवंत करने के लिए बिना रुके काम किया।

यह भी पढ़ें :   प्रेस विज्ञप्ति- गणतंत्र दिवस पर भारतीय नौसेना कर्मियों को विशिष्ट सेवा पुरस्कार

विजेता टीम ‘टीम पर्पल’ है, जिसकी फिल्म डियर डायरी को जूरी की सराहना और काफी प्रशंसा मिली है, जिसमें एक ऐसी महिला की कहानी पेश की गई है जो अपनी बहन से मिलने पर अपने अतीत के घाव का सामना करने के लिए मजबूर हो जाती है, जो उस स्थान पर जाना चाहती है जहां उसके साथ उत्पीड़न हुआ था। विजेता फिल्म इस बात पर प्रकाश डालती है कि भविष्य में महिला सुरक्षा कैसे एक नई सामान्य स्थिति होगी।

सिनेमा के विभिन्न क्षेत्रों जैसे सिनेमैटोग्राफी, निर्देशन, अभिनय, संगीत रचना, पार्श्व गायन, एनीमेशन और वीएफएक्स, पटकथा लेखन, कॉस्ट्यूम डिजाइनिंग, मेकअप, संपादन और कला डिजाइन में क्षमताओं के आधार पर 15 उम्मीदवारों वाली विजेता टीम का चयन किया गया। विजेता टीम को 53 घंटों में फिल्म निर्माण के असाधारण प्रदर्शन के लिए 2,25,000 रुपये राशि का चेक प्रदान किया गया।

यह भी पढ़ें :   केवीआईसी ने बांस उद्योग की उच्च लाभप्रदता के लिए बांस चारकोल पर "निर्यात मनाही" हटाने का प्रस्ताव रखा

Winners of the ’53 hour challenge’ #75CreativeMinds #IFFI53 #AmritMahotsav pic.twitter.com/znpiPccoyk

***
 

एमजी/एएम/केसीवी/एजे

यह भी देखें :   Gangapur City : मोबाइल छीनने की घटना व महिलाओं से बदतमीजी, मोटरसाइकिल चोरी अपराध रोकने की मांग

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें