banner

आनंद दिघे पर फिल्म बनाने के लिए इसलिए प्रेरित हुआ क्योंकि उनके योगदान को महाराष्ट्र के बाहर कम लोग जानते हैं: ‘धर्मवीर – मुक्काम पोस्ट ठाणे’ निर्माता मंगेश देसाई

गोवा में 53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में पीआईबी द्वारा आयोजित ‘टेबल टॉक्स’ सत्र में फिल्म और मीडिया के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के दौरान ‘धर्मवीर: मुक्काम पोस्ट ठाणे’ के निर्माता मंगेश देसाई ने महाराष्ट्र में शिवसेना नेता आनंद दिघे के योगदान का जिक्र करते हुए कहा, “ज्यादातर फिल्मों में एक माँ और एक बच्चे के बीच के रिश्ते को दिखाया जाता है, जबकि पिता और संतान के बीच के रिश्ते के महत्त्व की उपेक्षा की जाती रही है। पिता के परिवार में अत्यधिक योगदान देने के बावजूद, उनके योगदान पर अक्सर ध्यान नहीं दिया जाता है।”

अपनी फिल्म ‘धर्मवीर: मुक्काम पोस्ट ठाणे’ के बारे में बात करते हुए मंगेश देसाई ने बताया कि महाराष्ट्र के लोगों के लिए दो प्रमुख व्यक्तित्व पिता तुल्य है, बालासाहेब ठाकरे और आनंद दिघे। उन्होंने अपनी फिल्म के निर्माण को एक सपने के पूरा होने के रूप में वर्णित किया, जिसे उन्होंने 2013 से ही देखा था। मंगेश देसाई ने कहा कि एक नवोदित निर्माता के लिए, एक ऐसे दिग्गज नेता पर फिल्म बनाना, जिसे एक देवता के रूप में देखा जाता है, एक चुनौती और जिम्मेदारी दोनों है।

यह भी पढ़ें :   पार्टनरशिप मोड में नए सैनिक स्कूल स्थापित करने हेतु पंजीकरण के दूसरे दौर के लिए वेब पोर्टल को फिर से खोला गया

फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर मिली अपार सफलता पर मंगेश देसाई ने कहा, “मुझे बिल्कुल विश्वास था कि एक ऐसे व्यक्ति के बारे में एक फिल्म जो लोगों को बांध सकती है और लोगों को आकर्षित कर सकती है, निश्चित रूप से दर्शकों द्वारा सराही जाएगी।” उन्होंने निर्देशक और लेखक प्रवीण तर्डे की उस जुनून के लिए भी प्रशंसा की जिसके साथ उन्होंने फिल्म के लिए काम किया। मुख्य अभिनेता प्रसाद ओक के बारे में बात करते हुए, उन्होंने बताया कि उनके बिना फिल्म बनाना अकल्पनीय था। मंगेश देसाई ने यह भी बताया कि फिल्म को लोगों से मिले प्यार से वह अभिभूत हैं और इसे फिर से रिलीज करने की कई मांगें की जा रही हैं।

यह भी पढ़ें :   केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार से दिव्यांगता से जुड़े क्षेत्रों में सहयोग पर चर्चा करने के लिए ऑस्ट्रेलिया के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की

प्रमुख अभिनेता प्रसाद ओक ने एक ऐसी महान शख्सियत को चित्रित करने में सक्षम होने पर अपनी खुशी साझा की, जिसकी तस्वीरें कई महाराष्ट्रीयन घरों की दीवारों को सजाती हैं। उन्होंने कहा कि एक अभिनेता के रूप में यह उनके लिए एक चुनौतीपूर्ण काम था।

इफ्फी 53 में भारतीय पैनोरमा खंड के तहत ‘धर्मवीर: मुक्काम पोस्ट ठाणे’ का प्रदर्शन किया जा रहा है। मराठी फिल्म दिवंगत शिवसेना नेता आनंद दीघे की बायोपिक है।

 

*******

एमजी/एएम/केसीवी/डीवी

यह भी देखें :   जनता का दिल जितने में सफल नही हुए तो दिखाया प्रशासन का डर – सपोटरा

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें