fbpx
रविवार , अक्टूबर 17 2021
Breaking News
Phone Panchayat
अमिताभ बच्चन को तो पता नहीं कि वे किस उत्पाद का विज्ञापन कर रहे हैं। लेकिन विज्ञापन के बाद उत्पाद की बिक्री बढ़ जाती है।

अमिताभ बच्चन को तो पता नहीं कि वे किस उत्पाद का विज्ञापन कर रहे हैं। लेकिन विज्ञापन के बाद उत्पाद की बिक्री बढ़ जाती है।

अमिताभ बच्चन को तो पता नहीं कि वे किस उत्पाद का विज्ञापन कर रहे हैं। लेकिन विज्ञापन के बाद उत्पाद की बिक्री बढ़ जाती है।
विज्ञापन में सेलिब्रिटी को देखकर उत्पाद खरीदने वाले सबक लें। क्या 79 साल के बढ़े अमिताभ बच्चन एक साथ डेढ़ किलो बीकाजी की भुजिया खा सकते हैं?
============
12 अक्टूबर को 79 वर्ष पूरे करने पर मुंबइया हिन्दी फिल्मों के सुपर स्टार अमिताभ बच्चन ने स्वयं का कमला पसंद पान मसाला के विज्ञापन से अलग कर लिया है। अमिताभ का कहना है कि उन्हें पता नहीं था कि पान मसाला स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। अब वे ऐसे किसी भी उत्पाद का विज्ञापन नहीं करेंगे, जिसके सेवन पर सरकार भी चेतावनी देती है। कमला पसंद पान मसाले के पाउच पर साफ लिखा है कि यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। अमिताभ बच्चन के इस कथन से जाहिर है कि वे जिस उत्पाद का विज्ञापन करते हैं उसकी उन्हें जानकारी नहीं होती है। कमला पसंद पान मसाले के विज्ञापन में अमिताभ को पान मसाला खाते हुए दिखाया गया है। अब भले ही अमिताभ को देखकर नासमझ लोग कमला पसंद पान मसाला खाने लगे, लेकिन हकीकत यह है कि अमिताभ ने तो इस पान मसाले को चखा तक नहीं है। ऐसे बहुत सारे सेलिब्रिटी हैं जिन्हें विज्ञापन वाले उत्पाद की कोई जानकारी नहीं होती है, लेकिन विज्ञापन बनाने वाले ऐसा दिखाते हैं कि स्टार का पसंद वाला यही उत्पाद है। इससे बाजार में घटिया और हानिकारक उत्पाद की भी बिक्री बढ़ जाती है। जो लोग हीरा-हीरोईनों को देखकर उत्पाद खरीदते हैं, उन्हें अमिताभ बच्चन के ताजा कथन से सबक लेना चाहिए। जहां तक फिल्म स्टारों और अन्य सेलिब्रिटी के विज्ञापन करने का सवाल है तो उन्हें इसकी वज में लाखों करोड़ों रुपए का भुगतान मिलता है। विज्ञापन का भुगतान कोई भी निर्माता अपनी जेब से नहीं करता। स्टर को दी जानी वाली राशि भी उपभोक्ता से वसूली जाती है। जिस उत्पाद का विज्ञापन जितना बड़ा स्टार करता है, वह उत्पाद उतना ही महंगा होता है। जबकि स्थानीय स्तर पर ऐसे उत्पाद आधी कीमत में ही मिल जाते हैं। बीकाजी भुजिया के विज्ञापन में क्रिकेट मैच के दौरान अमिताभ को एक साथ तीन पैकेट की भुजिया खाते दिखाया गया है। एक पैकेट में आधा किलो भुजिया आती है। क्या 79 साल की उम्र में अमिताभ बच्चन एक दिन में डेढ़ किलो भुजिया खा सकते हैं? उत्पाद का विज्ञापन अमिताभ करें या शाहरुख खान या फिर क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी, उपभोक्ताओं को बाजार का अध्ययन करने के बाद ही उत्पाद खरीदना चाहिए। फिल्मों की हीरोईने जिन उत्पादों का विज्ञापन कर रही है, उनमें तो ज्यादा समझदारी दिखानी चाहिए। जिन विज्ञापन में अश्लीलता दिखाई देती हैं उनके उत्पादों का तो बहिष्कार किया जाना चाहिए। उन निर्माताओं को शर्म आनी चाहिए जो फिल्मों के कलाकारों को अर्धनग्न दिखाकर अपने उत्पाद बेचते हैं।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

असंगठित श्रमिकों पर आधारित भारत के पहले राष्ट्रीय डेटाबेस ई-श्रम पोर्टल पर 4 करोड़ से अधिक असंगठित श्रमिक पंजीकृत हुए

दो महीने से भी कम समय में 4 करोड़ (40 मिलियन से अधिक) से अधिक …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com