fbpx
शनिवार , जनवरी 22 2022
Breaking News
banner

10 से 16 जनवरी 2022 तक प्रतिष्ठित सप्ताह के दौरान भारी उद्योग मंत्रालय आजादी का अमृत महोत्सव मनाएगा

आजादी का अमृत महोत्सव प्रगतिशील भारत के 75 साल और अपने लोगों, संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास को मनाने और अभिनंदन करने की भारत सरकार की पहल है। इस पहल के तहत भारी उद्योग मंत्रालय प्रतिष्ठित सप्ताह 10 से 16 जनवरी 2022 तक आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है।

भारी उद्योग मंत्रालय स्वचालित और पूंजीगत सामान क्षेत्र सहित विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी, हरित और प्रौद्योगिकी संचालित विनिर्माण क्षेत्र विकसित करने पर केंद्रित है, जो विकास और रोजगार सृजन को बढ़ावा देता है।

आजादी का अमृत महोत्सव समारोह मनाने के तहत भारी उद्योग मंत्रालय ने प्रतिष्ठित सप्ताह के दौरान अपने सीपीएसई और स्वायत्त निकायों के साथ मिलकर देश भर में कई कार्यक्रमों और गतिविधियां चलाने की योजना बनाई है, जिसमें हरिद्वार, बेंगलुरु, भोपाल, झांसी, पुणे, हैदराबाद आदि शामिल हैं। यह कार्यक्रम ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एआरएआई), पुणे, एंड्रयू यूले एंड कंपनी लिमिटेड (एवाईसीएल), भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल), ब्रेथवेट बर्न एंड जेसॉप कंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड (बीबीजे), कोलकाता, ब्रिज एंड रूफ लिमिटेड (बीएंडआर), कोलकाता, सीमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (सीसीआई), सेंट्रल मैन्युफैक्चरिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (सीएमटीआई), बेंगलुरु, इंजीनियरिंग प्रोजेक्ट्स (इंडिया) लिमिटेड (ईपीआईएल), द्रव नियंत्रण अनुसंधान संस्थान (एफसीआरआई), पलक्कड, हिंदुस्तान मशीन टूल्स लिमिटेड (एचएमटी), हिंदुस्तान साल्ट्स लिमिटेड/सांबर साल्ट्स लिमिटेड (एचएसएल/एसएसएल) आदि में होंगे।

नवाचार, विनिर्माण उत्कृष्टता, आत्मानिर्भर भारत, पर्यावरण और स्थिरता, स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत, स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम नायकों आदि के क्षेत्रों में एक्शन @75, उपलब्धियां @75, विचार @75, संकल्प @75 और स्वतंत्रता संग्राम के विषयों पर ध्यान केंद्रित किया गया है। इन कार्यक्रमों में उद्घाटन, नए उत्पाद लॉन्च, प्रौद्योगिकी का प्रदर्शित करने, तकनीकी प्रदर्शनियां, सेमिनार, वेबिनार, विशेषज्ञ व्याख्यान, योग और ध्यान सत्र, स्वास्थ्य शिविर, स्वच्छता अभियान, स्वतंत्रता संग्राम और आंदोलनों पर प्रतियोगिताओं का आयोजन आदि शामिल हैं।

सप्ताह भर चलने वाले समारोहों में “संपूर्ण सरकारी दृष्टिकोण” और लोगों की भागीदारी यानी जनभागीदारी का पालन करने पर पूरा जोर दिया गया है। कार्यक्रमों और गतिविधियों के दौरान कोविड-19 को लेकर उचित दूरी और स्वच्छता प्रोटोकॉल सुनिश्चित करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। कार्यक्रमों/गतिविधियों के आयोजन को लेकर सूचना प्रौद्योगिकी और वर्चुअल मोड का लाभ उठाने पर जोर दिया गया है।

***

एमजी/एएम/आरकेजे/एसएस

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें

Check Also

राजस्थान

मुख्यमंत्री का प्रधानमंत्री को पत्र भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रतिनियुक्ति नियमों में प्रस्तावित संशोधन सहकारी संघवाद की भावना के विपरीत सरदार पटेल द्वारा ‘स्टील फ्रेम ऑफ इंडिया’ बताई गई सेवाएं भविष्य में कमजोर होंगी

Description मुख्यमंत्री का प्रधानमंत्री को पत्रभारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रतिनियुक्ति नियमों में प्रस्तावित संशोधन सहकारी …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *