fbpx
शनिवार , जनवरी 22 2022
Breaking News

राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण के तहत अब तक 152.89 करोड़ से अधिक टीके लगाए जा चुके हैं

पिछले 24 घंटों में 92 लाख से अधिक (92,07,700) वैक्सीन की खुराक देने के साथ ही भारत का कोविड-19 टीकाकरण कवरेज आज सुबह 7 बजे तक अंतिम रिपोर्ट के अनुसार 152.89 करोड़ (1,51,89,70,294) से अधिक हो गया। इस उपलब्धि को 1,63,81,175 टीकाकरण सत्रों के जरिये प्राप्त किया गया है।

आज सुबह 7 बजे तक की अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार कुल टीकाकरण का विवरण इस प्रकार से है:

स्वास्थ्य कर्मी

पहली खुराक

1,03,89,162

दूसरी खुराक

97,49,504

प्रीकॉशन खुराक

5,19,604

 

 

अग्रिम पंक्ति के कर्मी

पहली खुराक

1,83,87,535

दूसरी खुराक

1,69,87,318

प्रीकॉशन खुराक

2,01,205

  15-18 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

2,62,35,531

 

 18-44 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

51,64,88,421

दूसरी खुराक

35,52,58,150

45-59 वर्ष आयु वर्ग

पहली खुराक

19,64,00,931

दूसरी खुराक

15,70,66,390

 

 

 

60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग

पहली खुराक

12,24,27,789

दूसरी खुराक

9,85,94,887

प्रीकॉशन खुराक

2,63,867

    प्रीकॉशन खुराक

9,84,676

कुल

 

1,52,89,70,294

 

पिछले 24 घंटों में 69,959 रोगियों के ठीक होने के साथ ही स्वस्थ होने वाले मरीजों (महामारी की शुरुआत के बाद से) की कुल संख्या बढ़कर 3,45,70,131 हो गई है।

 

नतीजतन, भारत में स्वस्थ होने की दर 96.36 प्रतिशत है।

 

 

पिछले 24 घंटे में 1,68,063 नए मरीज सामने आए हैं।

 

 

वर्तमान में 8,21,446 सक्रिय रोगी हैं। वर्तमान में ये सक्रिय मामले देश के कुल पुष्टि वाले मरीजों का 2.29 प्रतिशत हैं।

 

 

 

देश भर में जांच क्षमता का विस्तार लगातार जारी है। पिछले 24 घंटों में कुल 15,79,928 जांच की गई हैं। भारत ने अब तक कुल 69.31 करोड़ (69,31,55,280) जांच की गई हैं।

 

देश भर में जांच क्षमता को बढ़ाया गया है, साप्ताहिक पुष्टि वाले मामलों की दर 8.85 प्रतिशत है, दैनिक रूप से पुष्टि वाले मामलों की दर 10.64 प्रतिशत है।

 

 

 

*****

एमजी/एएम/एजे

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें

Check Also

राजस्थान

मुख्यमंत्री का प्रधानमंत्री को पत्र भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रतिनियुक्ति नियमों में प्रस्तावित संशोधन सहकारी संघवाद की भावना के विपरीत सरदार पटेल द्वारा ‘स्टील फ्रेम ऑफ इंडिया’ बताई गई सेवाएं भविष्य में कमजोर होंगी

Description मुख्यमंत्री का प्रधानमंत्री को पत्रभारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रतिनियुक्ति नियमों में प्रस्तावित संशोधन सहकारी …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *