iPhone पसंद करने वालों के लिए खुशखबरी

iPhone पसंद करने वालों के लिए खुशखबरी

नई दिल्लीः आईफोन निर्माता कंपनी Apple Inc. ने कहा है कि वो भारत में अपने रिटेल स्टोर्स खोलने की योजना बना रही है। ​करीब पिछले एक दशक से Apple थर्ड पार्टी के जरिए ही भारतीय बाजार में अपने प्रोडक्ट्स बेचती है। लेकिन, अब कंपनी इसे बदलने की तैयारी में है। एनालिस्ट्स का कहना है कि एप्पल के ऑनलाइन स्टोर के लॉन्च होने के बाद कंपनी का मार्केट शेयर दिसंबर 2019 से लेकर दिसंबर 2020 के बीच 2 फीसदी तक बढ़ा है। ऑनलाइन स्टोर पर एप्पल अपने ग्राहकों को फाइनेंसिंग से लेकर अपग्रेडिंग तक के ऑफर देती है।

बुधवार को एप्पल के नतीजे जारी करने के बाद कंपनी के सीईओ टिम कुक (Tim Cook) ने कहा, ‘हम वहां भविष्य में रिटेल स्टोर्स भी खोलने जा रहे हैं। यह हमारी तरफ से एक और बड़ी पहल होगी। यहां हम अपने चैनल को और विकसित करेंगे।’

यह भी पढ़ें :   रेलवे दिल्ली के किशनगंज में 30.76 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से एक विश्व स्तरीय कुश्ती अकादमी की स्थापना करेगा

पिछले एक दशक में यह प्रीमियम स्मार्टफोन निर्माता कंपनी भारत में अपने हैंडसेट्स बेचने के लिए दूसरों पर निर्भर रही है। एप्पल को भारत में अपना यूजर बेस बनाने में भी समय संघर्ष करना पड़ा है। यहां सैमसंग, शाओमी, ओप्पो और विवो जैसे किफायती स्मार्टफोन्स ही सबसे ज्यादा खरीदे जाते हैं। हालांकि, भारतीय बाजार के लिहाज से कंपनी के लिए Q4 2020 बेहद शानदार रहा है। एप्पल ने भारत में 15 लाख यूनिट्स की बिक्री की है जोकि साल-दर-साल आधार पर 100 फीसदी बढ़ा है। काउंटरप्वाइंट मार्केट मॉनिटर सर्विस के रिसर्च से इस बारे में जानकारी मिली है।

कुक ने बुधवार को कहा, ‘हम इस एरिया में कई काम कर रहे हैं। हमनें वहां ऑनलाइन स्टोर खोला है। ऑनलाइन स्टोर्स के पिछली तिमाही ही पहली पूरी तिमाही रही है। हमें इस दौरान जबर​दस्त रिस्पॉन्स मिला है। इसका प्रभाव हमारे नतीजों पर भी देखने को मिल रहा है।’

यह भी पढ़ें :   चाइनीज मेडिकल उपकरणों की वजह से उपभोक्ता मामले विभाग  ने उठाया सख्त कदम

पिछले तिमाही में एप्पल के नतीजों पर नज़र डालें तो पिछले साल की तुलना में यह दोगुना हुआ है। इसके पहले भी एप्पल ने कुछ बाजारों पर खासा ध्यान देना शुरू कर दिया है। भारत भी उन्हीं में से एक है। भारत में कंपनी का मार्केट शेयर भले ही कम हो, लेकिन इस दौरान बिजनेस करीब दोगुना हुआ है। यही कारण है कि एप्पल अब भारत को विशेष ध्यान देने की तैयारी में है। बता दें कि स्मार्टफोन कंपनियों के लिए भारत दुनिया के सबसे बड़े बाजारों में से एक है।

यह भी देखें :   Live निजी अस्पताल और कोरोना,क्या हकीकत क्या फसाना…….

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें