एमआईएफएफ ने भारत-जापान राजनयिक संबंधों की 70वीं वर्षगांठ का उत्सव मनाया

इस पैकेज में शॉर्ट शॉर्ट्स फिल्म महोत्सव और एशिया (एसएसएफएफ एंड एशिया) की पांच शॉर्ट फिक्शन फिल्मों को चुना गया है। यह 1999 से टोक्यो में आयोजित एक वार्षिक ऑस्कर-क्वालीफाइंग शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल है। यह एशिया के सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय लघु फिल्म समारोहों में से एक है।

आइए, हम इस विशेष पैकेज के तहत प्रदर्शित होने वाली फिल्मों पर एक नजर डालते हैं

निर्देशक: जेम्स जिराजू

एक टैक्सी ड्राइवर, युवा लड़की और बैकर पैकर एक विलक्षण टोक्यो की यात्रा करते हैं, जो क्रमशः अफ्रीका, यूरोप और दक्षिण-पूर्व एशिया स्थित उन हर एक के घर से जुड़ा हुआ है। अकीको एक जापानी महिला है, जो सभी यात्राओं में शामिल होती हैं।

निदेशक : यूकू सैतो

 

डाउन सिंड्रोम के साथ शेक्सपियर का एक ऑस्ट्रेलियाई प्रशंसक अपने दबंग बड़े भाई से दूर होने और अपनी स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए टोक्यो की यात्रा करने के रूप में एक एकल साहसिक कार्य पर निकलता है। अपनी इस यात्रा में वह जिरहपोश के अपने ज्ञान, अपनी स्केचबुक और अपनी बुद्धि का उपयोग उन लोगों का दिल जीतने के लिए करता है, जिनसे वह मिलता है।

निदेशक : किमिये तनाका

यह फिल्म एक युवा मेक्सिकन व्यक्ति जोस और उसकी टोक्यो की पहली यात्रा की कहानी है, जब वह एक सोशल मीडिया हस्ती एलेक्स के लिए काम करता है। अपने सपनों को पूरा करने के प्रयास में शहर में चारों ओर घुमते हुए जोस को शहर के आकर्षण का पता चलता है।

यह भी पढ़ें :   केंद्रीय इस्पात मंत्री श्री राम चंद्र प्रसाद सिंह ने सेल, एनएमडीसी तथा एमओआईएल के साथ बैठक की, कुछ खदानों के परिचालनगत न होने पर चिंता जताई

निदेशक : बेन सुजुकी

यह फिल्म केंटो और एलिस की कहानी है। केंटो को सिंगापुर की एक कंपनी में कर्मचारी के रूप में चुना गया है। केंटों को कंपनी के अध्यक्ष एलिस क्वांग, जो टोक्यो आए हैं, के साथ रहने का काम सौंपा गया है। उनका उत्साह हीन व्यवहार एलिस को हैरान करता है। हालांकि, जब वे एक साथ टोक्यो में दर्शनीय स्थलों की यात्रा पर जाते हैं, तो हृदय में एक परिवर्तन होता है।

 

निदेशक : यूकू सैतो

एक चिंतित पिता शोजो यह देखने के लिए कि उनकी बेटी का मंगेतर उसके योग्य है या नहीं, एक पड़ताल करता है। उनकी पत्नी शाबू-शाबू भोजन के लिए एक नाबे (खाना पकाने का बर्तन) तैयार करती हैं।

********

 

हमारा मानना ​​है कि आप जैसे फिल्म-प्रेमी के अच्छे शब्दों से अच्छी फिल्में चलती हैं। हैशटैग #एनीथिंग फॉर फिल्म्स / #फिल्म्स के लिए कुछ भी और # एमआईएफएफ 2022 का उपयोग करके सोशल मीडिया पर फिल्मों के लिए अपने लगाव को साझा करें। हाँ, फ़िल्मों के लिए लगाव को फैलाएँ!

यह भी पढ़ें :   प्रधानमंत्री ने तमिलनाडु में 31,500 करोड़ रुपये से अधिक की 11 परियोजनाओं का लोकार्पण किया और आधारशिला रखी

कौन सी # एमआईएफएफ 2022 फिल्मों ने आपके दिल की धड़कन को कम या ज्यादा कर दिया? हैशटैग #माईएमआईएफएफलव का उपयोग करके दुनिया को अपनी पसंदीदा एमआईएफएफ फिल्मों के बारे में बताएं

यदि आप कहानी से प्रभावित हैं, तो संपर्क करें! क्या आप फिल्म या फिल्म निर्माता के बारे में अधिक जानना चाहेंगे? विशेष रूप से, क्या आप पत्रकार या ब्लॉगर हैं जो फिल्म से जुड़े लोगों से बात करना चाहते हैं? पीआईबी आपको उनसे जुड़ने में मदद कर सकता है, हमारे अधिकारी महेश चोपडे से +91-9953630802 पर संपर्क करें। आप हमें [email protected] पर भी लिख सकते हैं।

महामारी के बाद फिल्मोत्सव के पहले संस्करण के लिए, फिल्म प्रेमी उत्सव में ऑनलाइन भी भाग ले सकते हैं। https://miff.in/delegate2022/hybrid.php?cat=aHlicmlk पर एक ऑनलाइन प्रतिनिधि (अर्थात हाइब्रिड मोड के लिए) के रूप में मुफ्त में पंजीकरण करें। प्रतियोगिता की फिल्में, जब उपलब्ध होंगी, यहां देखी जा सकती हैं।

 

********

एमजी/एमए/एचकेपी

यह भी देखें :   Lalsot : ERCP परियोजना जागरूकता अभियान | Live – 1

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें