banner

मई, 2022 में कोयला उत्पादन 34 फीसदी बढ़कर 71.30 मिलियन टन हुआ

भारत का कोयला उत्पादन मई, 2021 की तुलना में मई, 2022 के 53.25 मीट्रिक टन से 33.88 फीसदी  बढ़कर 71.30 मिलियन टन हो गया। कोयला मंत्रालय के अनंतिम आंकड़ों के अनुसार मई, 2022 के दौरान कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल), सिंगरेनी कोलियरीज कंपनी लिमिटेड (एससीसीएल) और कैप्टिव खानों/अन्य ने क्रमशः 54.72 मीट्रिक टन, 6.04 मीट्रिक टन और 10.54 मीट्रिक टन कोयले का उत्पादन किया। इस दौरान इनके उत्पादन में क्रमश: 30.04 फीसदी, 11.01 फीसदी और 83.33 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

इसी तरह, कोयला प्रेषण (डिस्पैच) में भी 16.05 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई और मई, 2020 के 67.06 मिलियन टन के मुकाबले मई, 2022 में 77.83 मिलियन टन कोयला भेजा गया। मई, 2022 के दौरान सीआईएल, एससीसीएल और कैप्टिव/अन्य ने क्रमशः 61.24 मिलियन टन, 6.13 मिलियन टन और 10.46 मिलियन टन प्रेषण करके 11.34 फीसदी, 5.66 फीसदी और 67.06 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की।

यह भी पढ़ें :   कोविड समीक्षा बैठक बूस्टर डोज की आवश्यकता के संबंध में केन्द्र जल्द निर्णय ले संक्रमण रोकने के लिए बढ़ाएं टेस्टिंग: मुख्यमंत्री

शीर्ष 37 कोयला उत्पादक खानों में से 23 का 100 फीसदी से अधिक और अन्य 10 खानों का उत्पादन 80 से 100 फीसदी के बीच रहा है।

कोयला आधारित विद्युत उत्पादन में मई, 2021 की तुलना में मई, 2022 में 26.18 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। मई 2022 में समग्र विद्युत उत्पादन अप्रैल 2021 की तुलना में 23.32 फीसदी और अप्रैल, 2022 में 2.63 फीसदी अधिक रहा है। कोयला आधारित विद्युत उत्पादन अप्रैल 2022 के 102529 मिलियन यूनिट की तुलना में मई 2022 में 98609 मिलियन यूनिट रहा है और इसमें 3.82 फीसदी की कमी दर्ज की गई है। हालांकि, जल और पवन ऊर्जा के कारण अप्रैल 2022 के 1,36,465 मिलियन यूनिट से बढ़कर मई, 2022 में 1,40,059 मिलियन यूनिट हो गया।

यह भी पढ़ें :   केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बाल अधिकारों पर राष्ट्रीय कार्यशाला का उद्घाटन किया

****

एमजी/एमए/एचकेपी/एसएस

यह भी देखें :   Gangapur City : श्याम भजन में झूमे नाचे श्रद्धालु | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें