प्रधानमंत्री के रूप में श्री नरेन्द्र मोदी के 8 वर्षों ने 2047 के लिए भारत का दृष्टिकोण दिया और अमृत काल के अगले 25 वर्षों के लिए रोडमैप रखा, जो दुनिया में एक अग्रणी राष्ट्र के रूप में भारत के उदय का गवाह बनेगा- डॉ. जितेंद्र सिंह

विज्ञान और प्रौद्योगिकी (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री, पृथ्वी विज्ञान (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री, प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने आज यहां कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में श्री नरेन्द्र मोदी के 8 वर्षों ने 2047 के लिए भारत का दृष्टिकोण दिया और अमृत काल के अगले 25 वर्षों के लिए रोडमैप रखा, जो विश्व में अग्रणी राष्ट्र के रूप में भारत के उदय का गवाह बनेगा।

जम्मू के कठुआ में विशाल ‘जन कल्याण’ जनसभा को संबोधित करते हुए डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि इन 8 वर्षों में अभूतपूर्व प्रगति और विकास देखा गया है, लेकिन अक्सर जिस बात पर चर्चा नहीं की जाती है वह है आम भारतीय लोगों में आत्म-सम्मान के साथ-साथ पार्टी कार्यकर्ताओं में आत्मविश्वास का सुदृढीकरण।

डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि एक आम आदमी की नजर से देखें तो 2014 से लेकर अब तक का 8 साल निराशावाद से आशावाद और निराशा से उम्मीद का सफर रहा है। एक समय था जब विदेश जाने वाले भारतीय युवा कभी-कभी अपनी पहचान का खुलासा करने से कतराते थे, जबकि आज, उन्हें न केवल अत्यधिक सम्मान दिया जाता है, बल्कि अपने पश्चिमी समकक्षों द्वारा पेशेवर नौकरियों और स्टार्ट-अप पहल के लिए भी प्राथमिकता दी जाती है।

यह भी पढ़ें :   केंद्रीय कृषि मंत्री ने नागालैंड में राष्ट्रीय मिथुन अनुसंधान केंद्र, आईसीएआर संस्थान व खेत का किया दौरा

लोकसभा क्षेत्र उधमपुर-कठुआ-डोडा में पिछले 8 वर्षों के दौरान 75 प्रमुख विकास कार्यों और पहलों के विवरण वाली एक पुस्तिका का विमोचन करते हुए, डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि यदि कोई लखनपुर में प्रवेश करता है, तो उसे हर 2 या 3 किलोमीटर के बाद विकास का एक स्मारक मिलेगा, जो पिछले वर्षों में स्थापित किए गए थे। उन्होंने कहा कि इनमें कीडयान-गंडियाल पुल, महाराजा गुलाब सिंह की प्रतिमा, बीज प्रसंस्करण संयंत्र, बायो-टेक औद्योगिक पार्क, राजमार्ग गांव, केंद्रीय वित्त पोषित इंजीनियरिंग कॉलेज, केंद्रीय विद्यालय, जुथाना पुल, 200 से अधिक पुल, उधमपुर नदी देविका परियोजना, भद्रवाह उच्च ऊंचाई चिकित्सा संस्थान, किश्तवाड़ हवाई अड्डा, चेनानी नैशविले सुरंग, अटल सेतु, कटरा से दिल्ली तक एक्सप्रेस रोड कॉरिडोर आदि शामिल हैं। इसके अलावा, लगभग 200 पुल और कम से कम 3 नए राष्ट्रीय राजमार्ग बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें :   राजस्थान यूनिवर्सिटी : विश्विद्यालय की मुख्य परीक्षा में आवेदन से वंचित छात्रों को एक और मौका, 5 जुलाई तक करे आवेदन

डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा, लगभग 3 साल पहले स्थापित अपनी तरह का पहला कठुआ का बिड़ला पार्क, जिसे गांधी नगर जम्मू के ग्रीन बेल्ट पार्क से बेहतर दर्जा दिया गया है। उन्होंने कहा कि यह संभवत: एकमात्र लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र है जिसमें 4 साल के भीतर केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित 3 मेडिकल कॉलेज स्थापित किए गए थे।

***

एमजी/ एमए/ एसकेएस/वाईबी

यह भी देखें :   Live : करौली में हिन्दू नववर्ष के अवसर पर निकाली जा रही बाइक रैली पर पथराव के मामले में प्रेसवार्ता

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें