banner

आयकर विभाग ने तमिलनाडु में छापामारी की

आयकर विभाग ने आईएमएफएल, लॉजिस्टिक्स (रसद), आतिथ्य और मनोरंजन आदि क्षेत्र के व्यवसाय में संलग्न चेन्नई स्थित एक प्रमुख औद्योगिक समूह के खिलाफ 15.06.2022 को छापामारी और जब्ती अभियान संचालित किया। इसके तहत चेन्नई, विल्लुपुरम, पुडुचेरी, कोयंबटूर और हैदराबाद में स्थित 40 से अधिक परिसरों में छापामारी की गई।

इस छापामारी अभियान के दौरान कई दोष ठहराने योग्य दस्तावेज और डिजिटल साक्ष्य जब्त किए गए हैं। इस तरह के सबूतों के विश्लेषण से संकेत मिलता है कि कर निर्धारिती समूह ने विभिन्न व्यवसायों के लेखा खातों में गैर-वास्तविक खरीद बिलों को डेबिट करके बड़े पैमाने पर 400 करोड़ रुपये से अधिक की कर चोरी की है। ये गैर-वास्तविक खरीद बिल या तो इसके नियमित सामग्री आपूर्तिकर्ताओं से या फिर समायोजन प्रविष्टि प्रदाताओं प्राप्त किए गए थे। इस अभियान में जब्त किए गए साक्ष्यों से यह भी पता चला है कि सामग्री आपूर्तिकर्ताओं को चेक के माध्यम से किए गए भुगतान को बेहिसाब निवेश करने के लिए और अन्य उद्देश्यों के लिए नकद में वापस प्राप्त किया गया है।

यह भी पढ़ें :   आरपीएससी परिवार ने दी अध्यक्ष डॉ. शिव सिंह राठौड को विदाई, 51 किलो की माला पहनाकर किया सम्मान

यह समूह भारत से अपने अंतरराष्ट्रीय होटलों की श्रृंखला (चेन) के बैक-ऑफिस परिचालन को नियंत्रित करता हुआ भी पाया गया है।

अब तक छापामारी की कार्रवाई में 3 करोड़ रुपये की अघोषित नकदी और 2.5 करोड़ रुपये के बेहिसाब सोने के आभूषण बरामद किए गए हैं।

आगे की जांच जारी है।

यह भी पढ़ें :   आएफएससीए ने आई-स्प्रिंट’21 के तहत “स्प्रिंट01: बैंकटेक” हैकेथॉन के विजेताओं की घोषणा की

****

एमजी/एएम/एचकेपी/सीएस

यह भी देखें :   Live :मोबाईल लेकर भागा चोर। पूरा घटना क्रम cctv में दर्ज।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें