श्री जी किशन रेड्डी और श्री अश्विनी वैष्णव ने आज दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रामायण सर्किट पर चलने वाली भारत गौरव पर्यटक रेलगाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

केंद्रीय पर्यटन, संस्कृति एवं उत्तरी-पूर्व क्षेत्र विकास मंत्री श्री जी किशन रेड्डी ने रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव के साथ आज दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से भारत गौरव पर्यटक रेलगाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस पहल के बाद पहली बार भारत और नेपाल एक पर्यटक रेलगाड़ी से जुड़ जायेंगे।

 

उद्घाटन अवसर पर श्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि यह भारत और नेपाल को जोड़ने वाली पहली पर्यटक रेलगाड़ी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत गौरव पर्यटक रेलगाड़ी आज से 18 दिनों के लिए अपनी पहली श्री रामायण यात्रा शुरू कर रही है। उन्होंने बताया कि रामायण सर्किट पर चलने वाली ट्रेन की पहली यात्रा के दौरान अयोध्या, नंदीग्राम, सीतामढ़ी, वाराणसी, प्रयागराज, चित्रकूट, पंचवटी (नासिक), हम्पी, रामेश्वरम और भद्राचलम जैसे अन्य लोकप्रिय स्थानों के अलावा पहली बार जनकपुर (नेपाल में) के धार्मिक स्थल को भी कवर किया जायेगा।

 

श्री रेड्डी ने कहा कि पर्यटन मंत्रालय ने आईआरसीटीसी और रेल मंत्रालय के साथ मिलकर कृष्णा सर्किट, बौद्ध सर्किट तथा कई अन्य यात्रा सर्किटों के लिए भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेनों का प्रस्ताव रखा है। भारत गौरव रेलगाड़ियां भारत के लोगों को देश की समृद्ध सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और ऐतिहासिक रूप से संरक्षित विरासत को दिखाने और जानने का एक प्रयास है। उन्होंने कहा कि रेल मंत्रालय द्वारा परिकल्पित भारत गौरव ट्रेनों की अनूठी अवधारणा देश भर में बड़े पैमाने पर पर्यटन को बढ़ावा देने में सहायक होगी और यह रेलगाड़ी राष्ट्र के सभी हिस्सों के लोगों को देश की स्थापत्य, सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक विरासत को जानने तथा समझने का अवसर प्रदान करेगी।

यह भी पढ़ें :   प्रधानमंत्री 19 नवंबर को उत्तर प्रदेश का दौरा करेंगे और 6250 करोड़ रुपये से भी अधिक की लागत वाली कई विकास परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे

 

श्री रेड्डी ने यह भी बताया कि ट्रेनों के डिब्बों के बाहरी हिस्से को देश की जीवंत परंपराओं या भारत के गौरव के बहुरूपदर्शक (कलाइडोस्कोप) के रूप में डिजाइन किया गया है, जिसमें भारत की समृद्ध विरासत के विभिन्न पहलुओं जैसे स्मारकों, नृत्यों, योग, लोक कला आदि को विशेष तौर पर दर्शाया गया है।

 

इस मौके पर केंद्रीय रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि आज हम सभी के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की ओर से अपने नागरिकों के लिए एक उपहार है, और प्रधानमंत्री का एक सपना अब साकार हो चुका है। श्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि भारत गौरव रेलगाड़ी का मुख्य उद्देश्य भारत की विविध संस्कृति और समृद्ध विरासत को प्रदर्शित करना है।

यह भी पढ़ें :   प्रदेश में जल्द शुरू होगी जिनोम सिक्वेंसिंग की सुविधा, स्ट्रेन का पता लगाकर किया जा सकेगा उपचार - चिकित्सा मंत्री

 

आईआरसीटीसी भारत गौरव पर्यटक ट्रेनों के रूप में ब्रांडेड और थीम आधारित पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इन विशेष आरामदायक श्रेणी की पर्यटक रेलगाड़ियों का संचालन कर रहा है। ट्रेन के डिब्बों का हाल ही में नवीनीकरण किया गया है और इन्हें सुविधाओं एवं सेवाओं को उन्नत किया गया है।

******

 

एमजी/एएम/एनके

यह भी देखें :   Gangapur City : रेल पटरी से उतरा रेल इंजन | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें