Indian Railways : टूटी स्प्रिंग के साथ दौड़ी जनशताब्दी और देहरादून, बड़ी दुर्घटना टली

Indian Railways : टूटी स्प्रिंग के साथ दौड़ी जनशताब्दी और देहरादून, बड़ी दुर्घटना टली

Indian Railways : टूटी स्प्रिंग के साथ दौड़ी जनशताब्दी और देहरादून, बड़ी दुर्घटना टली

Kota Rail News : निजामुद्दीन-कोटा जनशताब्दी और बांद्रा-देहरादून एक्सप्रेस की गुरुवार को टूटी स्प्रिंग के साथ दौड़ने का मामला सामने आया है। गनीमत रही की रास्ते में बड़ी दुर्घटना टल गई। बाद में कोटा में देहरादून ट्रेन का कोच बदला गया। इसी तरह जनशताब्दी कोच की स्प्रिंग बदली गई।
कोच बदले जाने के कारण देहरादून ट्रेन करीब 2 घंटे कोटा प्लेटफॉर्म नंबर एक पर खड़ी रही। ट्रेन चलने के इंतजार में यात्री परेशान होते रहे।
Indian Railways : टूटी स्प्रिंग के साथ दौड़ी जनशताब्दी और देहरादून, बड़ी दुर्घटना टली
जांच के दौरान पकड़ी खामी
सूत्रों ने बताया कि दोनों ट्रेनों में कोटा में जांच के दौरान यह खामी पकड़ी। जांच के दौरान कर्मचारियों को देहरादून ट्रेन एस-2 तथा जनशताब्दी के डी-12 कोच की स्प्रिंग टूटी नजर आई।
इसके बाद कर्मचारियों ने मामले की सूचना स्टेशन मास्टर और अधिकारियों को दी। सूचना पर अधिकारियों ने पहले तो देहरादून ट्रेन के कोच की टूटी स्क्रीन को बदलने का निर्णय लिया। इसके लिए मोबाइल दुर्घटना राहत वैन को भी मौके पर बुलवा लिया गया। लेकिन बाद में अधिकारियों ने पूरे कोच बदलने का फैसला किया। इसके बाद यात्रियों से भरे 12 कोचों की शंटिंग करवाई गई। शंटिंग के बाद टूटी स्प्रिंग्वाले की जगह दूसरा कोच लगाया गया। इसके चलते 5:30 बजे रवाना होने वाली देहरादून 7:30 बजे रवाना हुई।
इसी तरह कोटा प्लेटफॉर्म पर टूटी स्प्रिंग वाले जनशताब्दी के कोच को भी शंटिंग कर बाकी ट्रेन से अलग किया गया। इसके बाद स्प्रिंग बदलने के लिए कोच को यार्ड में भेजा गया। बाकी ट्रेन को रखरखाव के लिए पीट लाइन पर भेजा गया।
उल्लेखनीय है कि जनशताब्दी ट्रेन में पिछले हफ्ते भी एक कोच की स्प्रिंग टूटी मिली थी। एक सप्ताह में यह दूसरी घटना है।
बड़ी घटना टली
गनीमत रही की स्प्रिंग टूटे होने के बाद भी दोनों ट्रेनें सही सलामत कोटा पहुंच गई। स्प्रिंग टूटने से आज का संतुलन बिगड़ सकता है। इसके चलते तेज रफ्तार दौड़ती ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त हो सकती है।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें