Kota : रेल अधिकारी की स्थानांतरण पार्टी में छलके जाम, डीआरएम ने गाया गाना | G News Portal

Indian Railways : प्रधानमंत्री तक पहुंचा कोटा में रेल अधिकारियों की शराब पार्टी का मामला, मचा हड़कंप

Indian Railways : प्रधानमंत्री तक पहुंचा कोटा में रेल अधिकारियों की शराब पार्टी का मामला, मचा हड़कंप

Rail News Kota :  कोटा रेल मंडल अधिकारियों की शराब पार्टी का मामला शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव, बोर्ड अध्यक्ष विनय त्रिपाठी तथा पश्चिम-मध्य रेलवे महाप्रबंधक एसके गुप्ता तक भी पहुंच गया। कई लोगों ने इस खबर को ट्वीट कर मंत्री और अधिकारियों से मामले में उचित कार्रवाई की मांग की है।
मामला सामने आते ही शुक्रवार को पश्चिम-मध्य रेलवे के कोटा, भोपाल और जबलपुर मंडल सहित मुख्यालय में जबरदस्त हड़कंप मच गया। अधिकारियों ने बताया कि इस हड़कंप की आहट रेल मंत्रालय तक भी सुनाई दी।
बात फैलते ही लोग एक दूसरे से मामले की जानकारी लेते नजर आए। अधिकारियों और कर्मचारियों ने खबर और वीडियो एक दूसरे को जमकर शेयर किए। इसके बाद यह खबर और वीडियो तेजी से वायरल हुए। अधिकारियों की करतूतों को देखकर हर कोई आश्चर्यचकित और स्तब्ध नजर आया।
और भी हैं वीडियो
अधिकारियों ने बताया कि इस पार्टी के और भी वीडियो हैं। जिसमें अधिकारियों की करतूतें साफ नजर आ रही हैं। किसी खास मकसद से बनाए इन वीडियो का भी लोग बेसब्री से वायरल होने का इंतजार कर रहे हैं।
शोक की जगह मना रहे जश्न
कई लोगों ने अधिकारियों के इस कृत्य की जमकर आलोचना की। लोगों ने बताया कि एक तरफ रेलवे की गलती से भरतपुर सेवर में दो युवक मोत मुंह में चले गए। दो परिवारों के चिराग हमेशा के लिए बुझ गए। लेकिन इनके परिजनों को सांत्वना देना तो दूर उल्टे अधिकारी शराब पार्टी कर जश्न मना रहे हैं। मामले में खास बात यह है कि मंडल मुखिया भी अधिकारियों के जश्न में जोर शोर से शामिल हो रहे हैं। जबकि युवकों की मौत के लिए अधिकारी पूरी तरह जिम्मेदार है। जिन्होंने पहली घटना से कोई सबक लेना जरूरी नहीं समझा।
कई लोगों ने प्रश्न किया कि अगर यह अनहोनी किसी अधिकारी के परिजनों के साथ हो गई होती तो तब भी अधिकारी क्या इसी तरह जश्न बन रहे होते।
सुधार की जगह सूत्रों को खोजते नजर आए अधिकारी
मामला सामने आने के बाद भी अधिकारियों को कोई फर्क नहीं पड़ा। व्यवस्थाओं में सुधार की जगह अधिकारी हमेशा की तरह दिनभर खबर देने वालों की तलाश में जुटे नजर आए। कई माध्यमों और कर्मचारियों से पूछताछ कर अधिकारी वीडियो बनाने वालों की तलाश में अपनी उर्जा खपाते रहे।
खबर सामने आते ही प्रशासन ने अधिकारियों को हड़काते हुए पूरे मामले की खोज खबर लेने के आदेश दिए। इस दौरान कई कर्मचारी अपनी दुश्मनी निकालने के लिए आपस में एक दूसरे का नाम लेते नजर आए। दबाव बढ़ने पर अधिकारियों को भी इनकी बातें सही लग रही है। लेकिन कोई सबूत सामने नहीं आने के कारण अधिकारी इन कर्मचारियों पर कार्रवाई करने से हिचक रहे हैं।
यह है मामला
यह है कि गुरुवार रात को ऑफिसर क्लब में शराब पार्टी का आयोजन हुआ था। यह पार्टी एक अधिकारी अभिमन्यु सेठ के दिल्ली स्थानांतरण होने पर आयोजित की गई थी। इस पार्टी में अधिकारियों ने शराब का जमकर सेवन किया। एक-दो अधिकारियों ने तो इतनी अधिक शराब पी ली कि यह चलने तक की स्थिति में नहीं थे। वाहन चालको द्वारा जैसे-तैसे इन्हें घर पहुंचाया गया।
इस पार्टी में डीआरएम मनीष तिवारी भी मौजूद थे। इस पार्टी का जमकर लुफ्त उठाया। पार्टी में तिवारी माइक पर गाना गाते भी नजर आए।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें