Indian Railways: स्टेशन पर सोते यात्री के 2.87 लाख चोरी, पांच गिरफ्तार, खबर के 5 दिन बाद किया जीआरपी का खुलासा

Indian Railways: स्टेशन पर सोते यात्री के 2.87 लाख चोरी, पांच गिरफ्तार, खबर के 5 दिन बाद किया जीआरपी का खुलासा

कोटा। कोटा रेलवे स्टेशन पर सोते यात्री के 2 लाख 87 हजार रुपए चोरी का मामला सामने आया है। मामले में जीआरपी ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। ‘कोटा रेल न्यूज़’ की खबर के 5 दिन बाद पुलिस ने इस पूरे मामले का खुलासा किया है।  शुक्रवार को ही इस मामले का खुलासा कर दिया गया था, लेकिन जीआरपी घटना के 12 दिन तक इस मामले को छुपाती रही।
पुलिस ने बताया कि अलवर राजगढ़ निवासी देवानंद सरस्वती (75) अपने साथी बजरंग लाल के साथ 29 मई को जोधपुर भोपाल ट्रेन से किसी काम से कोटा आया था। रात होने पर यह दोनों प्लेटफार्म नंबर चार पर ही सो गए। पुलिस ने बताया कि देवानंद के पास एक छोटा थैला था। इस थैले में देवानंद के 2 लाख 87 हजार 600 रुपए, आधार कार्ड, पैन कार्ड, पंजाब नेशनल बैंक की पासबुक तथा दवाइयां आदि रखी हुई थीं। रात को सोते समय कोई अज्ञात चोर देवानंद का यह थैला चुरा ले गया।
सुबह उठने पर देवानंद को थैला चोरी का पता चला।
जीआरपी में दर्ज कराई रिपोर्ट
थैले के साथ मोटी रकम चोरी होने पर देवानंद के होश उड़ गए। इसके बाद देवानंद ने तुरंत जीआरपी थाने में मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई। रिपोर्ट दर्ज होते ही पुलिस ने मामले की जांच तुरंत शुरू कर दी। जांच के दौरान स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने रेलवे कॉलोनी गोपाल विहार कला तालाब निवासी श्रीराम बेरवा उर्फ गुंगा (28), जिला बारां अंता हाल साजीदेहडा किशोरपुरा निवासी सलमान उर्फ मन्या उर्फ शराफत (24) पुत्र आशिक अली, किशोरपुरा साजीदेहड़ा निवासी फैजल उर्फ बिट्टल (21) पुत्र अख्तर तथा बारां अंता निवासी राजाराम बेरवा उर्फ फाल्या (25) पुत्र श्री राम प्रसाद को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इनके कब्जे से एक लाख रुपए नगद, आधार कार्ड तथा बैंक की पासबुक बरामद कर ली। बाकी रुपयों और आरोपियों का पता लगाने के लिए पुलिस ने अदालत से आरोपियों को डिमांड पर ले लिया। डिमांड के दौरान पूछताछ में गुंगा ने चोरी के 70 हजार रुपए अपने साथी रेलवे कॉलोनी गोपाल विहार कला तालाब निवासी सैयद फैजान अली (24) पुत्र सैयद जाकिर अली को देना बताया। इसके बाद पुलिस ने फैजान को भी गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से पूछताछ कर पुलिस बाकी रकम का भी पता लगाने का प्रयास कर रही है।