fbpx
Breaking News

रेलवे में सबसे बड़ी चोरी, 25 हजार वोल्ट की चालू लाइन से काटे बिजली के तार

रेलवे में सबसे बड़ी चोरी, 25 हजार वोल्ट की चालू लाइन से काटे बिजली के तार, रामगंजमंडी-भोपाल नई लाइन की घटना, आज आईजी करेंगे दौरा
कोटा।  रामगंजमंडी-भोपाल नई रेलवे लाइन पर गुरुवार रात चोरी की बड़ी घटना सामने आई है। यहां झालरापाटन- जूनाखेड़ा स्टेशनों के बीच 25 हजार वोल्ट की चालू लाइन से चोर बिजली के तार (ओएचई) काट कर ले गए। चोर यहां करीब एक किलोमीटर क्षेत्र के ऊपर और नीचे लगे दोनों तार चुरा ले गए। तांबे के इन तारों का मूल्य करीब 10 लाख रुपए आंका जा रहा है। घटना का पता शुक्रवार सुबह चला। गांव वालों ने मामले की जानकारी रामगंजमंडी आरपीएफ को दी। चोरी की सूचना मिलते ही कोटा से लेकर जबलपुर मुख्यालय तक हड़कंप मच गया।
आज आईजी करेंगे निरीक्षण
चोरी की इस घटना को कोटा रेल मंडल में अब तक सबसे बड़ी बताया जा रहा ह। इसका अंदाजा इसी बात से ही लगाया जा सकता है कि पश्चिम-मध्य रेलवे के प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त (आईजी) प्रदीप कुमार गुप्ता शनिवार को कोटा आ रहे हैं। कोटा से गुप्ता सीधे घटनास्थल के लिए रवाना होंगे। इससे पहले चोरी की किसी घटना में है आईजी कोटा आए हों, ऐसा मामला संभवत पहले कभी सामने नहीं आया है।
आईजी से पहले कोटा मंडल के वरिष्ठ सुरक्षा आयुक्त विजय प्रकाश ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया। मामले की जानकारी लेकर विजय ने तुरंत मामला दर्ज करने के आदेश दिए। इसके बाद रामगंजमंडी आरपीएफ ने अज्ञात लोगों के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज कर जोर शोर से आरोपियों की तलाश शुरू कर दी।
लावारिस पड़ा है यह रेल खंड
अधिकारियों ने बताया कि झालावाड़ से जूनाखेड़ा तक करीब 20 किलोमीटर का यह रेल खंड सुना पड़ा है। मुख्य सुरक्षा आयुक्त (सीआरएस) इस रेलखंड पर ट्रेन चलाने की अनुमति दे चुके हैं। इसके बाद भी यहां पर ट्रेनों का संचालन शुरू नहीं हो सका है। सीआरएस ने झालावाड़ से झालरापाटन के बीच करीब 2 साल और झालरापाटन से जूनाखेड़ा तक पिछले साल नवंबर में ही अपनी मंजूरी दी थी।
अधिकारियों ने बताया कि इस रेलखंड पर स्टाफ की नियुक्ति भी नहीं की गई है। स्टेशनों पर केवल कुछ पॉइंट्समैन आदि ही लगाए गए हैं। कर्मचारी नहीं होने से यह रेल खंड लावारिस पड़ा है। कर्मचारियों को नहीं होने से यहां छोटे-मोटी चोरी के मामले पहले भी सामने आते रहे हैं। लेकिन रेलवे ने इससे कोई सबक लेना जरुरी नहीं समझा। यही कारण है कि यहां यह बड़ी चोरी की घटना सामने आई है।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe

Check Also

डेढ़ लाख वेतन वाले अधिकारी ने अपनी मां को बिना टिकट बिठाया ट्रेन में

डेढ़ लाख वेतन वाले अधिकारी ने अपनी मां को बिना टिकट बिठाया ट्रेन में कोटा।  …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *