fbpx
सोमवार , सितम्बर 20 2021
Phone Panchayat
सरकारी आदेश पर बेपरवाह नजर आए रेलवे जीएम स्काउट-गाइड आयोजन को बताया अच्छा प्रयास बोले घर पर कितने दिन बैठेंगे

सरकारी आदेश पर बेपरवाह नजर आए रेलवे जीएम, स्काउट-गाइड आयोजन को बताया अच्छा प्रयास, बोले घर पर कितने दिन बैठेंगे

सरकारी आदेश पर बेपरवाह नजर आए रेलवे जीएम, स्काउट-गाइड आयोजन को बताया अच्छा प्रयास, बोले घर पर कितने दिन बैठेंगे
कोटा।  पश्चिम-मध्य रेलवे महाप्रबंधक (जीएम) शैलेंद्र कुमार सिंह राजस्थान सरकार के आदेश पर बेपरवाह नजर आए। इसके विपरीत सिंह स्काउट-गाइड आयोजन को सही ठहराते दिखे। रविवार को कोटा पहुंचे सिंह ने पत्रकारों के प्रश्न पर कहा कि आखिर आप घर पर बैठकर कितने दिन रहेंगे। यहां पर पूरे प्रोटोकोल के तहत काम किया है। अपनी भूल मानने की जगह सिंह ने इसे एक अच्छा प्रयास बताया। कोरोना काल में आयोजन के प्रश्न पर कुछ लड़खड़ाते नजर आए सिंह ने कहा कि गाइडलाइन के हिसाब से काम किया है। बच्चों ने भी यहां पर कानून कायदों का पालन किया है।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार के प्रमुख शासन सचिव (गृह) अभय कुमार ने 7 सितंबर को एक आदेश जारी कर भीड़-भाड़, सार्वजनिक, सामाजिक, राजनीतिक, खेलकूद, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, जुलूस, त्योहार, मेले तथा हाट आदि कार्यक्रमों पर आगामी आदेशों तक रोक लगा दी है।
इन आदेशों में कहीं भी यह नहीं कहा गया कि कोरोना प्रोटोकॉल या गाइड लाइन की पालना करते हुए यह कार्यक्रम आयोजित किए जा सकते हैं। डॉक्टरों की चिंता का हवाला देते हुए सरकार ने कार्यक्रमों पर पूरी तरह रोक के आदेश जारी किए हैं। इसके बावजूद भी सिंह तर्को और कोरोना नियमों की पालना का हवाला देकर इस आयोजन को सही ठहराने की कोशिश करते रहे।
250 बच्चे किए एकत्रित
गौरतलब है कि स्काउट-गाइड रैली के नाम पर रेलवे ने कोटा, भोपाल और जबलपुर मंडल के दो सौ से ढाई सौ तक बच्चे एकत्रित कर लिए। इनमें कई छोटे बच्चे भी शामिल हैं। मामले में खास बात यह है कि इन सभी बच्चों को 8 से 12 सितंबर तक एक की जगह रखा गया। बच्चों को रहने के लिए टेंट-तंबू लगाए गए। एक-एक टेंट-तंबू में कई-कई बच्चों को एक साथ रखा गया।
बच्चों को ज्यादा खतरा
उल्लेखनीय है कि कोरोना की तीसरी लहर में कई विशेषज्ञों ने बच्चों को ज्यादा खतरा बताया है। इसके बावजूद भी रेलवे ने बड़ी संख्या में बच्चे एक जगह एकत्रित कर लिए। यही नहीं राज्य सरकार ने जिन कार्यक्रमों पर रोक के आदेश दे रखें हैं, वही कार्यक्रम यहां पर आयोजित किए गए। इनमें मुख्य रूप से सांस्कृतिक सामूहिक भक्ति गीत, नुक्कड़ नाटक, लोक नृत्य, कैंप फायर आदि कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं शामिल हैं।
बच्चों को बांटे पुरस्कार
रेलवे लोको कॉलोनी स्थित आरपीएफ बैरक में आयोजित इस स्काउट-गाइड कार्यक्रम में सिंह ने कैंप का निरीक्षण कर परेड की सलामी ली। निरीक्षण के दौरान कई कलात्मक कार्यों के लिए सिंह ने बच्चों की सराहना भी की। शाम को सिंह ने बच्चों को पुरस्कृत भी किया। सोगरिया का किया निरीक्षण
अपने कोटा दौरे के दौरान सिंह ने नवनिर्मित सोगरिया स्टेशन का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सिंह ने यहां चल रहे कामों की प्रगति की जानकारी लेकर जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए। इसके बाद सिंह ने रनिंग रूम का भी निरीक्षण किया। यहां व्यवस्था से खुश होकर सिंह ने रनिंग रुम को 50 हजार रुपए इनाम की भी घोषणा की।
कर्मचारी संगठनों ने सौंपे ज्ञापन
इसके बाद सिंह ने रेलवे स्टेशन पर विभिन्न कर्मचारी संगठनों से मुलाकात की। इस दौरान कर्मचारी संगठनों ने सिंह को अपनी मांगों के ज्ञापन भी सौंपे।
रात को सिंह मेवाड़ एक्सप्रेस से उदयपुर रवाना हो गए। सिंह मंगलवार को चित्तौड़गढ़ रेल खंड का निरीक्षण करते हुए कोटा पहुंचेंगे। रात को सिंह दयोदय ट्रेन से जबलपुर रवाना हो जाएंगे।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

यात्रियों से अवैध वसूली करते तीन टीटीई पकड़े रेलवे बोर्ड विजिलेंस ने की जनशताब्दी में कार्रवाई टीम को देखते ही एक टीटीई ने फेंके पैसे

विजिलेंस कार्रवाई के बाद जागा रेल प्रशासन, जनशताब्दी में वेटिंग यात्रियों को सीट देने के जारी किए आदेश

कोटा।  रेलवे बोर्ड विजिलेंस की कार्रवाई के बाद रेल प्रशासन की आंखें खुली हैं। शनिवार …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com