Rajasthan : गुजरात चुनाव में केजरीवाल की पार्टी की पोल खुल गई है-सीएम गहलोत।

Rajasthan : गुजरात चुनाव में केजरीवाल की पार्टी की पोल खुल गई है-सीएम गहलोत।

राजस्थान में कांग्रेस के नेता खून से पत्र लिख रहे हैं तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दिल्ली में सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खडग़े के साथ बैठे हैं।
गुजरात चुनाव में केजरीवाल की पार्टी की पोल खुल गई है-सीएम गहलोत।
=====================
19 नवंबर को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर दिल्ली में यह दिखाने का प्रयास किया है कि गांधी परिवार और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडग़े से उनके अच्छे संबंध हैं। पूर्व पीएम इंदिरा गांधी की जयंती पर आयोजित कार्यक्रमों में सीएम गहलोत सोनिया गांधी और खडग़े के साथ बैठे नजर आए। हालांकि गहलोत खुद कह चुके हैं कि राजनीति में जो दिखता है, वह होता नहीं है और जो होता है वह दिखता नहीं है। 19 नवंबर को सोनिया गांधी ओर खडग़े के साथ होने पर ही क्या नहीं दिख रहा है, यह गहलोत ही बता सकते हैं, लेकिन इधर राजस्थान के मुख्यमंत्री पद पर भ्रम की स्थिति समाप्त करने को लेकर कांग्रेस के नेता खून से पत्र लिख रहे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पंडित सुरेश शर्मा ने 18 नवंबर को ही अपने खून से एक पत्र राष्ट्रीय अध्यक्ष खडग़े को लिखा हेै। पत्र में लिखा गया है कि 25 सितंबर को कांग्रेस विधायक दल की बैठक नहीं होने से राजस्थान में भ्रम और असमंजस की स्थिति बनी हुई है। डेढ़ माह बाद भी निर्णय नहीं होने से कार्यकर्ता भी परेशान है। इससे पहले विप्र कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष महेश शर्मा ने भी खडग़े से मिलकर राजस्थान के हालातों से अवगत कराया है। सीएम गहलोत की कार्यशैली से खफा होकर अजय माकन ने प्रभारी पद छोड़ चुके हैं। कांग्रेस में इतने विवाद की स्थिति तब है, जब 3 दिसंबर से राहुल गांधी की भारत जोड़ों यात्रा राजस्थान में शुरू हो रही है। यह यात्रा 8 दिसंबर तक तक राजस्थान में रहेगी। अजय माकन, महेश शर्मा और पंडित सुरेश शर्मा को सचिन पायलट का समर्थक माना जाता है। पायलट भी कह चुके है कि मुख्यमंत्री पद पर निर्णय जल्द होना चाहिए। 19 नवंबर को दिल्ली में सीएम गहलोत राजस्थान से राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी के आवास भी गए। तिवारी को प्रियंका गांधी का भरोसेमंद नेता माना जाता है।
केजरीवाल की पोल खुली:
19 नवंबर को दिल्ली में मीडिया से संवाद करते हुए सीएम गहलोत ने कहा कि गुजरात के चुनाव में आम आदमी पार्टी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दावों की पोल खुल गई है। गहलोत ने कहा कि केजरीवाल ने पंजाब में जो वादे किए थे, उन्हें सरकार बनने पर पूरा नहीं किया है। गुजरात की जनता केजरीवाल को समझ गई है। मालूम हो कि गहलोत गुजरात चुनाव में कांग्रेस के सीनियर ऑबर्जवर हैं। गहलोत ने कहा कि गुजरात में कांग्रेस पार्टी अपने तरीके से चुनाव प्रचार कर रही है। वे स्वयं भी कई सभाएं कर चुके हैं तथा जल्द ही वापस गुजरात जाएंगे। राहुल गांधी भी कांग्रेस के प्रचार के लिए गुजरात आ रहे हैं।

यह भी देखें :  
यह भी पढ़ें :   राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के तहत बिहार के भागलपुर में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के विकास के लिए रियायत समझौते पर हस्ताक्षर किये गए
Gangapur City : यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों की धरपकड़ रात्रि में भी जारी

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें