fbpx
Breaking News

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से बड़ी खबर, पहली बार विद्यालय के विषय अध्यापक ही लेंगे बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षा

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से बड़ी खबर, पहली बार विद्यालय के विषय अध्यापक ही लेंगे बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षा

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने कोरोना के व्यापक प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए निर्णय लिया है कि वर्ष 2021 की उच्च माध्यमिक की प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए ब्राह्य परीक्षकों की नियुक्ति नहीं की जाएगी। बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षाएं विद्यालय के विषय अध्यापक द्वारा ही ली जाएगी।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ डीपी जारोली ने बताया की बोर्ड की पूर्ववर्ती व्यवस्था के अनुसार उच्च माध्यमिक की प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए प्रत्येक विद्यालय के लिए बोर्ड स्तर पर ब्राह्य परीक्षक की नियुक्ति की जाती थी, जो 4-5 दिन में 5 से 7 विद्यालयों की प्रायोगिक परीक्षा लेते रहे हैं। इस कारण परीक्षकों को अपने कार्यस्थल से न्यूनतम 40-50 किलोमीटर की यात्रा करनी होती थी। वर्तमान में कोविड-19 का ग्राफ दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है तथा राज्य सरकार द्वारा भी अनेक प्रकार की सावधानी बरतने के निर्देश भी दिए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोरोना के प्रसार को लेकर गंभीर है और उनके स्तर पर भी इस महामारी से बचाव के लिए विभिन्न स्तरों पर बार-बार सावधानी बरतने के निर्देश जारी किए जा रहे है। इसको दृष्टिगत रखते हुए राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने विषय-विशेषज्ञों की 5 सदस्यीय समिति का गठन किया। समिति ने अपनी अनुशंषा में कहा कि कोरोना को दृष्टिगत रखते हुए विद्यार्थी और शिक्षक हित में केवल वर्ष 2021 की प्रायोगिक परीक्षाएं विधायक में आंतरिक स्तर पर आयोजित की जाये।

समिति ने अपनी अनुशंषा में कहा कि विद्यालय में कार्यरत योग्य शिक्षक ही प्रायोगिक परीक्षाओं में परीक्षक का कार्य करेंगे। शाला प्रधान परीक्षा तिथि एवं समय का निर्धारण करके सबंधित जिला शिक्षा अधिकारी को परीक्षा कार्यक्रम से 2 दिन पहले आवश्यक रूप से सूचित करेंगे। जिन विद्यालयों में उपयुक्त शिक्षक, परीक्षक बनने हेतु उपलब्ध नहीं है ऐसे विद्यालय में आवश्यकतानुसार प्रायोगिक परीक्षा विषयवार परीक्षक की नियुक्ति हेतु प्रधानाचार्य जिले के जिला शिक्षा अधिकारी से संपर्क कर परीक्षक नियुक्त करवा सकेंगे।

बोर्ड अध्यक्ष डॉ डीपी जारोली ने बताया कि बोर्ड स्तर पर राज्य के सभी जिलों के जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) मुख्यालय और उनके अधीनस्थ सभी सीबीईओ को बोर्ड के प्रायोगिक परीक्षा मापदंडों के अनुसार परीक्षा आयोजन सुनिश्चित करने के लिए सभी राजकीय और निजी विद्यालयों का निरीक्षण करने के लिए अधिकृत किया गया है। यह सब जानकारी राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी है।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe

Check Also

मुख्य समाचार

मुख्य समाचार ■ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडन के निमंत्रण पर आज …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *