fbpx
सोमवार , सितम्बर 20 2021
Phone Panchayat
राजस्थान

RBSE 10वीं-12वीं रिजल्ट का फॉर्मूला तैयार

RBSE 10वीं-12वीं रिजल्ट का फॉर्मूला तैयार:पिछली दो क्लास के आधार पर मिलेंगे मार्क्स, संतुष्ट नहीं तो एग्जाम दे सकता है स्टूडेंट; प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए अनिवार्य होगी परीक्षा – बीकानेर

अंतिम निर्णय के बाद एक दो दिन में सार्वजनिक कर दिया जाएगा फॉर्मूला

RBSE स्टूडेंट्स के लिए मार्क्स का फॉर्मूला तैयार कर मंगलवार को शिक्षा मंत्री डोटासरा के पास भेज दिया गया है। इसमें पिछली दो कक्षाओं के मार्क्स के आधार पर 10वीं और 12वीं के मार्क्स दिए जाएंगे। अगर कोई स्टूडेंट मार्क्स से संतुष्ट नहीं होता है तो राज्य का शिक्षा विभाग स्टूडेंट्स का एग्जाम भी लेगा और कॉपी चेक होने पर मार्कशीट देगा। वहीं, प्राइवेट फार्म भरने वाले किसी भी स्टूडेंट को प्रमोट नहीं किया जाएगा, बल्कि उसे एग्जाम देना ही होगा। CBSE ने भी यही व्यवस्था की है, जिसकी पूर्ण पालना राज्य का शिक्षा विभाग करने जा रहा है। जिस पर अंतिम घोषणा सरकार करेगी।

दरअसल, प्राइवेट स्टूडेंट्स की 9वीं की मार्किंग नहीं है। ऐसे में उन्हें एग्जाम ही देना होगा। राज्य सरकार की ओर से गठित 12 सदस्यीय मार्किंग कमेटी ने अपनी रिपोर्ट ये सिफारिश की है, जिसका स्वीकार होना तय माना जा रहा है। सब कुछ ठीक रहा तो यह परीक्षा अगस्त के दूसरे या तीसरे सप्ताह में आयोजित हो सकती है।

RBSE के 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को मार्किंग देने के लिए बनी प्रदेश स्तरीय समिति ने अपनी रिपोर्ट शिक्षा मंत्री गोविन्द डोटासरा को सौंप दी है। कमेटी की ओर से तय फार्मूला एक-दो दिन में ही सार्वजनिक कर दिया जाएगा। इसके बाद अगस्त के पहले सप्ताह तक स्टूडेंट‌स को मार्कशीट देने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। दरअसल, फार्मूला तय होने के बाद सभी स्कूल अपने स्टूडेंट्स के मार्क्स सरकार को भेजेंगे। वहीं 12वीं क्लास के प्रैक्टिकल एग्जाम भी होंगे। यह सभी काम करीब एक महीने में पूरे होंगे।

राज्य सरकार की कोशिश है कि जुलाई के अंतिम सप्ताह तक ही परिणाम तैयार कर लिए जाएं और अगस्त के पहले सप्ताह तक स्टूडेंट को मार्कशीट उपलब्ध करवा दी जाएं। इस समिति ने CBSE के साथ ही कई राज्यों की मार्किंग पॉलिसी का अध्ययन करने के बाद अपनी रिपोर्ट तैयार की है। इस बात का विशेष ध्यान रखा गया है कि राजस्थान के स्टूडेंट्स को अन्य राज्यों के बड़े विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों में प्रवेश लेते हुए परेशानी ना हो। खासकर दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) समेत अन्य प्रतिष्ठित कॉलेज में राजस्थान के स्टूडेंट्स को आसानी से एडमिशन मिल सके।

बहुत आसान होगा फार्मूला
समिति ने ऐसा फार्मूला तैयार किया है जिससे स्वयं स्टूडेंट भी अपना रिजल्ट तैयार कर सकेगा। 10वीं के स्टूडेंट को 8वीं व 9वीं की मार्कशीट अपने पास रखनी होगी। 12वीं के स्टूडेंट को 10वीं व 11वीं की मार्कशीट अपने पास रखनी होगी। इसी मार्कशीट के साथ वर्तमान क्लास से मिलने वाले मार्क्स भी जोड़ने होंगे। 12वीं के स्टूडेंट को प्रैक्टिकल एग्जाम देना होगा। इस क्लास के लिए प्रैक्टिकल मार्क्स ही मुख्य भूमिका निभाएंगे।

प्रैक्टिकल मोड अभी तय नहीं
ये तय है कि 12वीं के स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल एग्जाम देना होगा। खासकर विज्ञान के स्टूडेंट्स को ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन प्रैक्टिकल देना होगा। होम डिपार्टमेंट की स्वीकृति पर तय करेगा कि स्टूडेंट को स्कूल आकर प्रैक्टिकल देना है या फिर घर से ही ऑनलाइन देना होगा। दरअसल, ऑनलाइन एग्जाम में ग्रामीण क्षेत्रों में परेशानी होगी। बड़ी संख्या में गरीब स्टूडेंट्स के पास ऑनलाइन का संसाधन ही नहीं है। होम डिपार्टमेंट से इस बारे में स्वीकृति मांगी जा रही है।
अब लीजिये सुपरफास्ट शिक्षा समाचारों का आनंद
तो बने रहिए हमारे राजस्थान शिक्षा ग्रुप के साथ📚👇🏻

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

यात्रियों से अवैध वसूली करते तीन टीटीई पकड़े रेलवे बोर्ड विजिलेंस ने की जनशताब्दी में कार्रवाई टीम को देखते ही एक टीटीई ने फेंके पैसे

विजिलेंस कार्रवाई के बाद जागा रेल प्रशासन, जनशताब्दी में वेटिंग यात्रियों को सीट देने के जारी किए आदेश

कोटा।  रेलवे बोर्ड विजिलेंस की कार्रवाई के बाद रेल प्रशासन की आंखें खुली हैं। शनिवार …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com