ट्रेनों में आरपीएफ ने बढ़ाई एस्कॉटिेंग ,पहली बार AK 47 से लैस रहेंगे जवान 

ट्रेनों में आरपीएफ ने बढ़ाई एस्कॉटिेंग ,पहली बार AK 47 से लैस रहेंगे जवान

मंडल से होकर गुजरने वाली 44 ट्रेनों में रेलवे सुरक्षा बल ने एस्कॉर्टिग बढ़ाने का फैसला-गंगापुर सिटी
दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर कोटा मंडल से होकर चलने वाली 44 ट्रेनों में रेलवे सुरक्षा बल ने एस्कॉर्टिग बढ़ाने का फैसला किया है। आरपीएफ अब साप्ताहिक ट्रेनों में भी आरपीएफ के जबान तैनात करेगा। कोटा रेल मंडल में राजधानी, अगस्त क्रांति,स्वर्ण मंदिर एक्सप्रेस, पश्चिम एक्सप्रेस, निजामुददीन -इंदौर इँटर सिटी एक्सप्रेस, गोरखपुर -बांद्रा अवध एक्सप्रेस,मुजफ्फरपुर -बांद्रा,कोटा- देहरादून नंदादेवी सहित 44 ट्रेनों का संचालन हो रहा है। इसके अलावा कुछ साप्ताहिक ट्रेन में भी चल रही है। अभी तक रोज चलने वाली ट्रेनों में केवल 3 आरपीएफ जवान लगाए जा रहे थे। अब रेलवे सुरक्षा बल 4 जवानों को तैनात करेगा, जो हथियारबंद होंगे।वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त विजय प्रकाश पंडित के अनुसार रोजाना चलने वाली ट्रेनों के अलावा साप्ताहिक के दो में भी एस्कॉर्टिग लगाई जा रही है। रेलवे सुरक्षा बल कमांडेंट द्वारा जारी के आदेश में कहा कि एस्कॉर्टिग स्टाफ यात्रियों के साथ मधुरता और शालीनता से पेश आएगा। एस्कॉर्टिग के सभी दल सदस्यों के पास हथियार गोंली, बॉकी -टॉकी सर्च लाइट होगी। एस्कॉर्टिग टीम प्रारंभिक स्टेशन से रवाना होने से पूर्व तथा गांतव्य स्टेशन पर पहुंचने पर रोजनामचे में एंट्री करेंगे।ट्रेन कंडक्टर को नोट कराएंगे मोबाइल नंबर एस्कॉट टीम टीम के इंचार्ज मोबाइल नंबर कंट्रोल व ट्रेन कंडक्टर को नोट कराएंगे। मोबाइल पर गेम खेलना, व्हाट्सएप,वीडियों खेलकर अनावश्यक उपयोग न किया जाए। एस्कॉर्टिग स्टाफ के पास रास्ते में पड़ने वाले संबंधित निरीक्षक प्रभारी के मोबाइल नंबर होने चाहिए। ताकि जरुरत पड़ने पर तुरेंत सहायता ली जा सके।सीटीयू कंडक्टर से एयरपोर्ट अंदर मिलेंगा साथी वीवीआइपी के यात्रा के बारे में जानकारी भी हासिल करेगा। ट्रेन में किसी प्रकार की घटना होने पर कंट्रोल व पास के आरपीएफ थाने को सूचना देनी होगी।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें