fbpx
Breaking News

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने गुरूवार को जिला अस्पताल का किया निरीक्षण

जिला अस्पताल का निरीक्षण कर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने व्यवस्थाओं को बढिया बताया, अतिरिक्त डायलिसिस मशीनों की व्यवस्था के निर्देश
सवाईमाधोपुर, 17 दिसंबर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने गुरूवार को जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल परिसर में चल रहे विभिन्न निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया, चिकित्सकों, नर्सिंंग स्टाफ, ओपीडी में आये लोगों और आईपीडी में भर्ती मरीजों और उनके तीमारदारों से अस्पताल में उपलब्ध संसाधनों और सुविधाओं के बारे में फीडबैक लिया तथा आवश्यक दिशा -निर्देश दिये।
अतिरिक्त डायलिसिस मशीनों की व्यवस्था करें- डॉ. गर्ग ने पीएमओ डॉ. बी.एल. मीना को निर्देश दिये कि पीपीपी मॉडल पर या जनप्रतिनिधिगण के स्थानीय विकास फंड से अतिरिक्त डायलिसिस मशीनों की व्यवस्था करें। जिला अस्पताल में वर्तमान में 3 डायलिसिस मशीनें उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि उन्होंने भरतपुर जिला अस्पताल में अपने विधायक फंड से डायलिसिस की 9 मशीनों की व्यवस्था की है। उन्होंने निर्देश दिये कि इनमें से 1-1 मशीन एचआईवी रोगी, हेपेटाइटिस और डाइबिटिज रोगी के लिये रिजर्व रखें क्योंकि डायबिटिज रोगियों को कोरोना में आम व्यक्ति के मुकाबले ज्यादा कॉम्पलिकेशन आ रही हैं।
मनोरोग विशेषज्ञ और आयुर्वेद चिकित्सकों से काउंसलिंग करवायें- चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव से नेगेटिव हो चुके व्यक्ति का मानसिक स्वास्थ्य ठीक रखने तथा उसका मनोबल बढाने के लिये मनोरोग विशेषज्ञ और आयुर्वेद चिकित्सकों की ड्यूटी लगायी जाये। मनोरोग विशेषज्ञ उसका मनोबल बढाये, आयुर्वेद चिकित्सक उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि के लिये काढा व अन्य औषधि दे। उन्होंने जिला अस्पताल परिसर में सचालित आयुर्वेद चिकित्सालय का भी निरीक्षण किया।
गंगापुर सिटी के सैम्पल अब सवाईमाधोपुर में ही चैक होंगे- डॉ. गर्ग ने जिला अस्पताल में संचालित कोरोना जॉंच लैब का अवलोकन किया तथा स्टाफ की सराहना की। पीएमओ ने बताया कि अब स्टाफ और कन्ज्यूमेबल की कमी नहीं है तथा सवाईमाधोपुर के साथ ही गंगापुर सिटी से लिये गये सैम्पल को भी कोटा या जयपुर भेजने के बजाय यहीें जॉंचा जायेगा। डॉ. गर्ग ने बताया कि कोरोना काल के बाद इस लैब का उपयोग 110 प्रकार की अन्य जॉंचों में किया जायेगा।
ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया- जिला अस्पताल में निर्मित ऑक्सीजन उत्पादन ईकाई तथा मिनीफोल्ड ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण करने के बाद डॉ. गर्ग ने बताया कि ऑक्सीजन की उपलब्धता पर्याप्त है , बेड पर वंेटिलेटर तक सप्लाई पर निगरानी के लिये मल्टी लेवल मॉनिटरिंग सिस्टम चाक चौबंद रखें।
रैफर करने में सावधानी बरतें- डॉ. गर्ग ने निर्देश दिये कि रैफर करते समय पूर्ण विवेक से काम करें। ऐसा नहीं हो कि रैफरल रोगी की रास्ते में ही हालत बिगड जाये। अस्पताल में बहुत योग्य चिकित्सक हैं। उपलब्ध संसाधनों का श्रेष्ठ इस्तेमाल कर यहीं उपचारित करने का प्रयास करें। जिस मामले में रैफर करना आवश्यक है, बेझिझक करें।
क्वार्टरों का पूर्ण उपयोग सुनिश्चित हो- डॉ. गर्ग ने अस्पताल परिसर में 1.9 करोड़ रूपये लागत से बन रहे 10 आवासीय क्वार्टर का निरीक्षण किया। इनमें से 2 चिकित्सकों के लिये तथा 4-4 पेरा मेडिकल स्टाफ तथा सहायक कार्मिकों के लिये बनाये जा रहे हैं। डॉ. गर्ग ने निर्देश दिये कि इन क्वार्टरों में स्टाफ का रहना सुनिश्चित करें। उन्होंने 1.5 करोड रूपये लागत से निर्मित किये जा रहे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट तथा सुलभ कॉम्पलेक्स का भी निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल में सफाई और ड्रेनेज व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिये।
मदर मिल्क बैंक और एमएनसीयू की सराहना की- चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने मदर मिल्क बैंक में सफाई और साज-सज्जा की प्रशंषा की तथा प्रभारी ममता मीणा की हौसला अफजाई की। इसी प्रकार 14 बेड वाले मदर-न्यू बोर्न बेबी केयर यूनिट का अवलोकन कर इसे भी बहुत बढिया संचालित बताया।
कोरोना प्रबंधन की समीक्षा की- डा. गर्ग ने सीएमएचओ डॉ. तेजराम मीणा और पीएमओ से कोरोना संक्रमण की जिले में ताजा स्थिति की समीक्षा की। सीएमएचओ ने बताया कि दूसरी पीक अवसान पर है। जिले में अभी 147 कोरोना पॉजिटिव हैं। जिला अस्पताल में 64 बेड कोरोना डेडिकेटेड हैं, इनमें से 4 आईसीयू के हैं। जिला अस्पताल में अभी 6 कोरोना पॉजिटिव भर्ती हैं। उन्होंने बताया कि आईसीयू में 10 अतिरिक्त वेंटिलेटर हैं। अधिकांश मरीजों को वेंटिलेटर की आवश्यकता नहीं पड रही है। डॉ. गर्ग ने बताया कि संक्रमण कम हो रहा है लेकिन सैम्पलिंग और जागरूकता जन आंदोलन में ढिलाई नहीं बरती जाये। उन्होंने वैक्सीन से जुडी तैयारियों का भी फीडबैक लिया।
सभी दवा निःशुल्क उपलब्ध- डॉ. गर्ग ने ऑपरेशन थियेटर को छोडकर प्रत्येक वार्ड का सूक्ष्मता से अवलोकन किया। मेडिकल वार्ड में भर्ती अजय के परिजनों ने बताया कि कोई भी दवा बाहर से नहीं लानी पड रही। चिकित्सक भी हर 2 घंटे में राउंड पर आ रहे हैं।
इन्दिरा रसोई का निरीक्षण किया- डॉ. गर्ग ने अस्पताल परिसर में संचालित इन्दिरा रसोई का निरीक्षण किया। रजिस्ट्रेशन कम्प्यूटर का निरीक्षण किया तो 21 व्यक्तियों द्वारा भोजन करने की बात सामने आये। हाउसिंग बोर्ड निवासी खुशीराम ने बताया कि उसने 8 रूपये शुल्क का भुगतान नहीं किया है। रसोई संचालक ने बताया कि गरीब और बेसहारा के पेटे के 8 रूपये कई बार भामाशाह दे देते हैं और कई बार संचालक स्वयं इसका भार उठाती है। डॉ.गर्ग ने बर्तन, भोजन बनाने के कक्ष का भी अवलोकन किया।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe

Check Also

गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियों की खबरों के बीच सचिन पायलट के जयपुर आवास पर प्रदेशभर के कांग्रेसियों की भीड़।

गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियों की खबरों के बीच सचिन पायलट के जयपुर आवास पर प्रदेशभर के कांग्रेसियों की भीड़।

गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियों की खबरों के बीच सचिन पायलट के जयपुर …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com