बसपा के उम्मीदवार कोरोना गाइड लाइन का पालन करे गंगापुर सिटी

महिला एवं बाल विकास मंत्री 22 दिसम्बर को करौली में

महिला एवं बाल विकास मंत्री 22 दिसम्बर को करौली में
करौली, 18 दिसम्बर। महिला एवं बाल विकास विभाग स्वतंत्र प्रभार जन अभाव निराकरण अल्पसंख्यक मामलात एवं वक्फ विभाग की मंत्री श्रीमति ममता भूपेश 22 दिसम्बर मंगलवार को प्रातः 7ः30 बजे जयपुर से प्रस्थान कर 11 बजे करौली पहुचेगीं।मंत्री के निजी सहायक ने बताया कि प्रातः 11ः30 बजे सरकार के 2 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य मंे जिले में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में भाग लंेगी एवं विभिन्न योजनाओं की कलेक्ट्रेट सभागार में समीक्षा करेंगी।
महिला एवं बाल विकास मंत्री दोपहर 3 बजे धौलपुर के लिये रवाना हांेगी।
कोविड-19 वैक्सीनेशन तैयारियों पर प्रशिक्षण संपन्न
कोविड वैक्सीनेशन के फेज-1 की होगी जल्द शुरूआत, समय पर जुटा ले डाटा- सीएमएचओ
करौली, 18 दिसम्बर। कोविड-19 वैक्सीनेशन की तैयारियों पर तीन ब्लॉकों की एक दिवसीय टीओटी कार्यशाला का आयोजन एएनएम ट्रेनिंग सेंटर में सीएमएचओ डॉ. दिनेशचंद मीना की अध्यक्षता में आयोजित हुआ, जिसमें पीपीटी के माध्यम से विभिन्न स्तरों पर वैक्सीनेशन शुरूआत पूर्व तैयारियों पर प्रशिक्षण प्रदान किया गया एवं सूचनाऐं एकत्रित कर भिजवाने हेतू निर्देशित किया गया।
टीओटी कार्यशाला को संबोधित करते हुए सीएमएचओ डॉ. मीना ने कहा कि फर्स्ट फेज वैक्सीनेशन हेतू 5253 स्वास्थ्य कर्मियों का डाटा अपलोड किया जा चुका है लेकिन आगामी फेज में बृहद स्तर पर किये जाने वाली टीकाकरण के प्रबंधन और तैयारिया हमें हर स्तर पर समय पर करनी है। उन्होंने प्रतिभागियों से आशा जताई की टीओटी में प्राप्त जानकारियों को सेक्टर स्तर तक पहुंचाऐं एवं राज्यस्तर की आशानुरूप कार्य और व्यवहार हेतू सर्ज रहें। उन्होंने कोल्ड चौन सैट को दुरूस्त रखने, कमियों को समय रहते सुधारने, वैक्सीनेटर का रजिस्ट्रेशन समय पर करने, सेंशन साईट सलेक्शन में लापरवाही न बरतने, टीकाकरण हेतू टीमों का गठन वैक्सीनेशन अनुपात में करने ,एईएफआई केसों मंे प्रबंधन एवं मीडिया प्रबंधन हेतू मॉनीटरिंग की संख्त आवश्यकता जताई।
प्रशिक्षण में आरसीएचओ डॉ. जयंतीलाल मीना, डीपीएम आशुतोष पांडेय, डीएनओ रूपसिंह धाकड एवं आईईसी समन्वयक लखनसिंह लोधा ने कोविड वैक्सीनेशन जरूरी घटकों को विस्तार से रखते हुए
टीकाकरण सत्र स्थल की स्थापना एवं संचालन , टीकाकरण सत्र हेतू आवश्यक कमरों का चयन, आवश्यक मानव संसाधन, वैक्सीन की सुरक्षा एवं कोल्ड चौन में प्रबंधन , टीकाकरण अपशिष्ट प्रबंधन, एईएफआई केसों में प्रबंधन सहित टीकाकरण हेतू मीडिया सहभागिता एवं प्रबंधन के संबंध में पीपीटी के माध्यम से प्रशिक्षण दिया गया। पाटनर संस्था यूएनएफपीए से मनीष द्वारा को-विन सॉफ्टवेयर में टेक्नीकल स्थितियों के बारे में बताया गया, इस दौरान हिंडौन, टोडाभीम, गुढाचंद्रजी ब्लाॉक से बीसीएमओ, सीएचसी-पीएचसी प्रभारी, बीपीएम एवं कोल्ड चौन प्रभारी मौजूद रहे।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें