fbpx
मंगलवार , सितम्बर 21 2021
Breaking News
Phone Panchayat

रणथंभोर में हर बाघ से प्रतिवर्ष 60 लाख की कमाई,बाघों की बेहतरी के लिए कोई योजना नहीं

रणथंभोर में हर बाघ से प्रतिवर्ष 60 लाख की कमाई

बाघों की बेहतरी के लिए कोई योजना नहीं

रामगढ़ विषधारी व कुंभलगढ़ को टाइगर रिजर्व घोषित करने मांग

सवाई माधोपुर ।
दुनियां में बाघों के लिए विख्यात रणथंभोर टाईगर रिजर्व में प्रतिवर्ष एक बाघ 60 लाख रूपया पर्यटकों से कमाकर दे रहा है बावजूद उसके बाघों की बेहतरी व सुरक्षा के लिए वन विभाग के पास कोई ठोस योजना नहीं है। पीपुल फाॅर एनीमल्स के प्रदेश प्रभारी बाबूलाल जाजू ने सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त प्रमाणित आंकड़ो के अनुसार बताया कि वर्ष 2019-20 में बाघों को पर्यटकों को दिखाकर वन विभाग ने रणथंभोर राष्ट्रीय पार्क में 29 करोड़ 95 लाख 49 हजार 284 रूपये कमाए । वहीं सरिस्का टाईगर रिजर्व में 1 करोड़ 54 लाख 57 हजार 775 रूपये कमाए। जाजू ने आगे बताया कि रणथंभोर टाईगर रिजर्व में मौजूदा प्रत्येक बाघ 60 लाख रूपया प्रतिवर्ष कमाकर दे रहा है। टाइगर रिजर्व प्रशासन का सूचना तंत्र कमजोर होकर नाकाम हो गया है। टाईगर रिजर्व के अधिकारी बाघों की सुरक्षा भी ठीक से नहीं कर पा रहे हैं व आये दिन बाघों के साथ ही अन्य वन्यजीवो के शिकार की घटनाएं बढ़ रही है। जाजू ने बताया कि वन विभाग बाघों को दिखाकर केवल धन बटोरने में लगा है। जाजू ने आगे कहा कि बाघों को दिखाकर धन कमाने के बाद भी विभाग द्वारा रणथंभोर के आसपास बसे हुए गांवो को विस्थापन की योजना को मूर्त रूप नहीं दे रहा है न ही टाईगर रिजर्व के आसपास बसे गांवो के ग्रामीण जनो के लिए रोजगार, उच्च शिक्षा, चिकित्सा व्यवस्था की जा रही है जिससे ग्रामीणजन टाईगर रिजर्व को सहयोग करने के बजाय शिकारियों को सहयोग कर रहे हैं। जाजू ने रणथंभोर के आसपास के निवासियों को आज की दर से मुआवजा देकर विस्थापित करने व उनके रोजगार, उच्च शिक्षा व चिकित्सा की व्यवस्था उपलब्ध कराने की पैरवी की। जाजू ने रणथंभोर टाईगर रिजर्व में बाघों की संख्या को दृष्टिगत रखते हुए जल्दी ही बूंदी के रामविषधारी में 800 वर्ग किमी व कुम्भलगढ़ अभयारण्य जो कि 610 वर्ग किमी के क्षेत्रफल में फैला है उसमें अलग से बजट का प्रावधान कर टाईगर रिजर्व बनाने की मांग मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से की है। जाजू ने बताया कि कुम्भलगढ़ घना जंगल व बाघों के लिए सुरक्षित स्थल होकर उदयपुर, राजसमंद व पाली से जुड़ा हुआ है। जाजू ने यहां यह भी बताया कि रामविषधारी बूंदी में रणथंभोर से बाघ लगातार आ रहे हैं, ऐसे में नये टाईगर रिजर्व जल्द ही बनाने की आवश्यकता है।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

75 हजार छात्र-छात्राएं वर्तमान में अंग्रेजी माध्यम से निःशुल्क शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं  - शिक्षा राज्य मंत्री 

75 हजार छात्र-छात्राएं वर्तमान में अंग्रेजी माध्यम से निःशुल्क शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं  – शिक्षा राज्य मंत्री 

75 हजार छात्र-छात्राएं वर्तमान में अंग्रेजी माध्यम से निःशुल्क शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं – …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com