अब जीपीएस से सीधे ही कट जाएगा टोल टैक्स

अब जीपीएस से सीधे ही कट जाएगा टोल टैक्स

अब जीपीएस से सीधे ही कट जाएगा टोल टैक्स

2 साल में हटेंगे देश के 566 टोल, हाईवे पर नियत दूरी तय करने पर सीधे खाते से कटेगी राशि गंगापुर सिटी
देशभर की राष्ट्रीय राजमार्ग सहित टोल वाली सड़कों पर आने वाले समय में तकनीकी के साथ सफर करने का अंदाज भी बदलने वाला है।केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री ने 3 दिन पहले एसोचैम की बैठक में इस बात की घोषणा की है कि आने वाले 2 साल में पूरे देश की टोल वाला सड़कों को प्लाजा से मुक्त करते हुए जीपीएस से जोड़कर सीधे टोल व्यवस्था को खत्म कर दिया जाएगा1एक साल पहले फास्टैग को अनिवार्य करने, इस दिशा में सरकार का पहला कदम था डिजिटल इंडिया और ई गवर्नेन्स की दिशा में सरकार का यह अत्याधुनिक तरीका हाईवे पर सफर का अनुभव बदलने वाला साबित होगा वही लोगों का मूल्यवान समय भी बचेगा<स्रद्ब1>5 साल में1,34000 करोड़ टोल टैक्स प्राप्त करने का लक्ष्य जानकारी के अनुसार देश में लगातार बढ़ते तकनीकों के प्रयोग के बीच सरकार अब ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम से कॉल कलेक्ट करने की योजना पर काम करके राजेश बढ़ाने पर कार्य कर रही है जहां साल 2019 – 20 मार्च तक सरकार ने हर महीने 2237 करोड़ रुपए कमाए, वही अब 2 साल के भीतर टोल खत्म करके सरकार 5 साल में1.34 ट्रिलियन तक आय बढ़ा लेगी। रूस के साथ भागीदारी बच्चे का टोल पर रुकने का समय और टोल व्यवस्था पर होने वाला खर्च स्वचालित रूप से लिए जाने वाले टोल की पूरी प्रक्रिया आने वाले 2 साल के भीतर मानव रहित होगी। सीधे सेटेलाइट के डाटा से गाड़ी का टोल वाहन मालिक के अटैक एकाउंट से लिया जाएगा। इसके लिए रोज की सहायता से विकसित की गई तकनीक लगभगअंतिम चरण में है वहीं अब टोल को हटाए जाने के बाद टोल पर लगने वाली लाइन और टोल प्लाजा के रखरखाव से जुड़े खर्च भी गुजरे जमाने की बात हो जाएगी।
एनएचएआई की एक मीटिंग में इस तकनीक को लेकर एक प्रेजेटिशन भी रागिनी दिया गया था जिसके तेज 2 साल मैं पुराने वाहनों में जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम अनिवार्य रूप से लगेगा जबकि नए भान पहले से ही इस सुविधा से लैस हैं।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें