fbpx
रविवार , जनवरी 16 2022
Breaking News
कृषि मंत्री और चिकित्सा मंत्री ने की अजमेर जिले में विकास योजनाओं की समीक्षा

कृषि मंत्री और चिकित्सा मंत्री ने की अजमेर जिले में विकास योजनाओं की समीक्षा

कृषि मंत्री और चिकित्सा मंत्री ने की अजमेर जिले में विकास योजनाओं की समीक्षा
जेएलएन अस्पताल में खरीदी जाएगी नई सिटी स्कैन मशीन,
आईसोलेशन अस्पताल होगा 100 बैड का
जयपुर, 22 दिसम्बर। अजमेर जिले के प्रभारी एवं कृषि मंत्री श्री लालचन्द कटारिया तथा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने मंगलवार को अजमेर में कोरोना संक्रमण से बचाव की तैयारियां तथा विकास योजनाओं की समीक्षा की। उन्होेंने निर्देश दिए कि कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। सरकार पूरे प्रयास कर रही है। संक्रमण से बचाव में जुटे सभी विभाग पूरे अलर्ट पर रहें। उन्होंने पानी, बिजली, सड़क, मनरेगा और चिकित्सा सहित अन्य विभागों को आमजन से जुड़े कामों में संवेदनशील होकर कार्य करने के निर्देश दिए। बैठक में जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में नई सिटी स्कैन मशीन खरीदने तथा आइसोलेशन अस्पताल को 30 बैड से बढ़ाकर 100 बैड का करने की भी मंजूरी दी गई।
अजमेर जिले के प्रभारी एवं कृषि मंत्री श्री लालचन्द कटारिया एवं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के रीट कार्यालय भवन में जिले की विकास योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि कोरोना काल की शुरूआत से अब तक जिस तरह सभी विभागों ने आपसी समन्वय के साथ संक्रमण से बचाव की दिशा में काम किया है। उसी तरह और उसी जज्बे के साथ हमें आगे भी काम जारी रखना है। कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। इससे सावधानी ही बचाव है।
श्री कटारिया एवं डॉ. शर्मा ने जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए कोरोना के टेस्ट, उपचार, आईसोलेशन, ऑक्सीजन, वेंटीलेटर एवं अन्य दवाओं आदि की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि टेस्ट को जिले के लिए निर्धारित अधिकतम सीमा तक बढ़ाया जाए। हाल ही में जो नई गाइड लाइन जारी हुई है, उसकी अधिकतम पालना सुनिश्चित की जाए। नये साल के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रमों को लेकर नई गाइड लाइन है। इसकी पालना भी सख्ती से करायी जाए। कई देशों में कोरोना का नया स्ट्रेन सामने आया है। ऎसे में अपने यहां भी अतिरिक्त सावधानी रखने की जरूरत है। आगामी दिनों में संभावित वैक्सीन की पूरी तैयारी रखी जाए। अस्पतालों में ऑक्सीजन, दवा, बैड एवं वेन्टीलेटर की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। मोबाइल ओ.पी.डी वैन लगातार संचालित की जाए। साथ ही इसका रूट भी आमजन की जानकारी में होना चाहिए। उन्होंने पुष्कर में अस्पताल के लिए जमीन के मुद्दे पर भी दिशा निर्देश दिए।
प्रभारी मंत्री एवं चिकित्सा मंत्री ने महात्मा गांधी नरेगा पर चर्चा करते हुए निर्देश दिए कि कार्य स्थलों पर पूरा काम-पूरा दाम को लेकर जागरूकता बढ़ायी जाए। कार्य स्थलों पर गुणवत्ता एवं नियमों की पालना का ध्यान रखा जाए। इन कामों की नियमित मॉनिटरिंग की जाए। यह भी ध्यान रखें कि काम में अनावश्यक देरी न हो। उन्होंने आवास योजनाओं के काम भी समय पर पूरा करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि इन्दिरा रसोई एक ऎतिहासिक योजना है। इसका अधिक से अधिक लोगों तक लाभ भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि सिलीकोसिस बीमारी से बचाव के लिए उपखण्ड अधिकारी की अध्यक्षता में चिकित्सा, खनन व श्रम विभाग की कमेटी बनाकर बचाव के लिए योजनाबद्ध काम किया जाए।
उन्होंने जलदाय विभाग को निर्देश दिए कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में नियमित एवं पूरे प्रेशर से पेयजल की सप्लाई की जाए। कुछ महीनों बाद गर्मी का मौसम आ जाएगा। ऎसे में पेयजल किल्लत से बचने के लिए पहले ही योजना तैयार कर ली जाए। बिजली व सड़कों से जुड़े विभागों के अधिकारी भी आमजन को राहत देने के लिए नियमित रूप से दौरे करें। इसके लिए जनप्रतिनिधियों को भी जानकारी दी जाए ताकि विभिन्न समस्याओं का समयबद्ध निस्तारण हो सके। बैठक में जनाना अस्पताल में एमआरएस फण्ड से नये गार्ड रखने, अजमेर शहर में ब्यावर रोड़ पर फ्लाईओवर के काम में तेजी लाने, डीएमएफटी के तहत खनन प्रभावित क्षेत्रों में योजनाबद्ध विकास तथा स्मार्ट सिटी योजना के तहत चल रहे कामों को तय समय सीमा में पूरा कराने के निर्देश दिए गए। उन्होंने अभय कमाण्ड सेंटर, पुलिस थानों में स्वागत कक्ष तथा पुलिस की कार्यप्रणाली के बारे में भी जानकारी ली ।
बैठक में मसूदा विधायक श्री राकेश पारीक, किशनगढ विधायक श्री सुरेश टांक, अजमेर डेयरी अध्यक्ष श्री रामचन्द्र चौधरी, पूर्व विधायक डॉ. श्रीगोपाल बाहेती एवं श्री रामनारायण गुर्जर आदि ने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। प्रभारी मंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनप्रतिनिधियों द्वारा दिए गए सुझावों पर तुरन्त एक्शन लिया जाए।
अजमेर जिले के प्रभारी सचिव श्री भवानी सिंह देथा ने बैठक में बताया कि जिले में राज्य सरकार की विभिन्न विकास योजनाओं का प्रभावी कियान्वयन किया जा रहा है। स्मार्ट सिटी, स्वायत्त शासन विभाग, मनरेगा, रसद एवं अन्य विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की नियमित मॉनिटरिंग की जा रही है। उन्होंने जिला कलक्टर को निर्देश दिए कि अधिकारियों की फील्ड विजिट की नियमित समीक्षा करें।
जिला कलक्टर श्री प्रकाश राजपुरोहित ने बैठक में बताया कि अजमेर में स्मार्ट सिटी योजना के तहत 1060. 76 करोड़ की लागत से विभिन्न परियोजनाओं पर काम चल रहा है। इनमें कई परियोजनाएं पूरी कर ली गई है। कई प्रगतिरत है जबकि कई परियोजनाओं के टेण्डर जारी कर दिए गए है। शहर में एलिवेटेड रोड अगले साल बन कर तैयार हो जाएगा। जल व्यवस्था सुदृढ़ीकरण, सीवर लाइन, सीवर नेटवर्क, जेएलएन अस्पताल, पटेल मैदान, कलेक्ट्रेट में नया प्रशासनिक भवन सहित अन्य कामों पर करोड़ों रूपये की लागत से काम चल रहा है।
जिला कलक्टर ने जानकारी दी कि जिले में महात्मा गांधी नरेगा के तहत शानदार काम हुआ है। इसमें 1.5 करोड़ मानव दिवस सृजित कर 3.77 लाख से ज्यादा परिवारों को 6 हजार से ज्यादा कामों पर नियोजित किया गया। उन्हें पूरा काम-पूरा दाम का प्रयास किया जा रहा है। इन्दिरा रसोई योजना के तहत भी जिले में अब तक 6.31 लाख से ज्यादा लोगों को भोजन कराया जा चुका है।
पुलिस अधीक्षक श्री कुंवर राष्ट्रदीप ने अभय कमाण्ड सेन्टर व पुलिस के कामकाज से संबंधित जानकारी दी। बैठक में जिला स्तरीय अधिकारी व अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें

Check Also

राजस्थान

जन संपर्क राज्यमंत्री श्री अशोक चांदना ने 32 करोड़ रुपये लागत के विकास कार्यों की आधारशिला रखी -सादेड़ा में 19.51 करोड़ रुपये से मिनी बांध, 12.50 करोड़ रुपये से दबलाना उच्च स्तरीय पुल का होगा निर्माण

Description जन संपर्क राज्यमंत्री श्री अशोक चांदना ने 32 करोड़ रुपये लागत के विकास कार्यों …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *