fbpx
मंगलवार , सितम्बर 21 2021
Breaking News
Phone Panchayat
राजस्थान

माइंस, भूविज्ञान व पेट्रोलियम विभागों के पुनर्गठन की कवायद शुरु, वीसी से एसीएस ने लिए सुझाव व फीडबैक

माइंस, भूविज्ञान व पेट्रोलियम विभागों के पुनर्गठन की कवायद शुरु,
वीसी से एसीएस ने लिए सुझाव व फीडबैक
जयपुर, 14 सितंबर। माइंस विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा है कि देश-दुनिया में माइनिंग खोज व खनन की बदलती तकनीक को देखते हुए राज्य के माइंस, भूविज्ञान व पेट्रोलियम विभाग का पुनर्गठन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए मंगलवार को माइंस व भूविज्ञान विभाग के अतिरिक्त निदेशकों, अधीक्षण अभियंताओं, अधीक्षण भूविज्ञानियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से सुझाव व फीडबैक लिया गया।
एसीएस डॉ. अग्रवाल ने बताया कि विभाग में खान ब्लॉकों की योजनावद्ध व नियमित नीलामी के लिए अलग से विशेषज्ञों की विंग बनाने, ड्रिलिंग और प्रयोगशाला विंग को सक्रिय कर और पीपीपी मोड पर संचालित करने की संभावनाएं तलाशने, विभाग में उपलब्ध मानव संसाधन का बेहतर उपयोग करते हुए पुनर्गठन की आवश्यकता प्रतिपादित की है। उन्होंने कहा कि अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण पर नियमित और फूलप्रूफ व्यवस्था के लिए आयकर, एक्साइज, वाणिज्यकर विभाग की तर्ज पर विजिलेंस विंग गठित करने के लिए ठोस सुझाव चाहे गए हैं।
डॉ. अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा विभाग की समीक्षा बैठक में दिए गए निर्देशों और उसके तीन दिन बाद ही खान मंत्री श्री प्रमोद जैन भाया द्वारा विभागीय समीक्षा बैठक में राज्य में खनिज की अपार सम्पदा के वैज्ञानिक दोहन के लिए विभाग की भूवैज्ञानिक शाखा, ड्रिलिंग शाखा व प्रयोगशाला को सुदृढ़ करने की आवश्यकता प्रतिपादित की गई थी। उन्होंने बताया कि निदेशक माइंस श्री केबी पण्ड्या के निर्देशन में विस्तृृत प्रस्ताव तैयार किए जा रहे हैं।
वीसी के दौरान अतिरिक्त निदेशक प्रशासन श्री हर्ष सावनसूखा ने प्रजेटेंशन के माध्यम से प्रस्तावित प्रारुप प्रस्तुत किया। प्रजेटेंशन पर फिल्उ अधिकारियों से सुझाव भी प्राप्त किए गए।
वीसी में निदेशक माइंस श्री केबी पण्ड्या, जेएस श्री राजेन्द्र मक्कर, डीएस नीतू बारुपाल, अतिरिक्त निदेशक श्री नरेन्द्र कोठ्यारी, श्री बीएस सोढ़ा सहित माइंस व भूविज्ञान विभाग के अतिरिक्त निदेशकों, अधीक्षण अभियंताओं, अधीक्षण भूविज्ञानियों ने हिस्सा लिया।
अवैध परिवहन में जयपुर वृत में 20 वाहन तो उदयपुर में तीन, बालेसर में दो वाहन जब्त
अवैध खनन, भण्डारण और परिवहन के विरुद्ध राज्यभर में कार्यवाही जारी है। अवैध परिवहन पर बड़ी कार्यवाही करते हुए जयपुर वृत के अधीक्षण अभियंता श्री प्रताप मीणा के निर्देशन में रात्रिकालीन गश्त के दौरान बड़ी कार्यवाही करते हुए 20 वाहन जब्त किए गए है। इनमें सवाई माधोपुर में खनिज बजरी का अवैध परिवहन करते सात वाहन, जयपुर में 4 वाहन, रुपवास में सेंडस्टोन का अवैध परिवहन करते हुए 3 वाहन, मिनरल डस्ट का अवैध परिवहन करते हुए नीम का थाना में 3 वाहन, टोंक मेें अवैध बजरी परिवहन करते तीन वाहन और दौसा में मेसनरी स्टोन के अवैध परिवहन में लिप्त एक वाहन का जब्त किया गया है।
इसी तरह से उदयपुर में अतिरिक्त निदेशक श्री महेश माथुर के निर्देशन में गुजरात के मोरबी ले जाते ही तीन फेल्सपार के ट्रोला जब्त किए गए हैं। बालेसर मेें बजरी का अवैध परिवहन करती दो ट्रेक्टर ट्राली जब्त कर पुलिस थाने को सुपुर्द की गई है।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

निर्वाचन आयोग ने सुगम्य चुनावों के बारे में राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया

निर्वाचन आयोग ने सुगम्य चुनाव 2021 विषय पर आज एक आभासी राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com