fbpx
सोमवार , अक्टूबर 25 2021
Breaking News
Phone Panchayat

मुख्यमंत्री श्री गहलोत के प्रयास रंग लाए एसीएस एनर्जी की दिल्ली में कोल सचिव व पर्यावरण सचिव से मुलाकात राजस्थान के लिए कोल इंडिया व कोल ब्लॉक से कोयले की 20 रैक डिस्पेच – अतिरिक्त मुख्य सचिव, एनर्जी

Description

मुख्यमंत्री श्री गहलोत के प्रयास रंग लाएएसीएस एनर्जी की दिल्ली में कोल सचिव व पर्यावरण सचिव से मुलाकातराजस्थान के लिए कोल इंडिया व कोल ब्लॉक से कोयले की 20 रैक डिस्पेच- अतिरिक्त मुख्य सचिव, एनर्जीजयपुर, 13 अक्टूबर। कोयले के देश व्यापी आपूर्ति संकट के बीच आज राहत भरी खबर यह रही कि राजस्थान के लिए देर रात तक कोयले की 20 रैक डिस्पैच कराने की कामयाबी मिल गइ्र्र। अतिरिक्त मुख्य सचिव एनर्जी डॉ. सुबोध अग्रवाल ने समन्वय बनाते हुए कोल इंडिया की अनुषंगी इकाइयों और विद्युत उत्पादन निगम व अडानी के संयुक्त उपक्रम से कोयले की पांच रैक अधिक डिस्पैच होने से बड़ी राहत मिली है।गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के निर्देश पर मंगलवार को दिन में अतिरिक्त मुख्य सचिव एनर्जी डॉ. अग्रवाल दिल्ली के लिए रवाना हुए और बुधवार को दिल्ली में केन्द्रीय कोयला सचिव श्री अनिल कुमार जैन और केन्द्रीय पर्यावरण सचिव श्री आरपी गुप्ता से अलग अलग मुलाकात कर कोयले की आपूर्ति बढ़वाने व संयुक्त उपक्रम में फेज दो की पर्यावरण स्वीकृति जारी कराने के लिए चर्चा की। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार के दोनों ही सचिवों से वार्ता उत्साहजनक रही और दोनों ही सचिवों ने सहयोग का विश्वास दिलाया।एसीएस एनर्जी डॉ. अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत देशव्यापी विद्युत संकट को लेकर गंभीर है और उन्होंने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री श्री गहलोत के निर्देशों का परिणाम रहा है कि प्रदेश में कोयले की रैक डिस्पैच में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। जहां पहिले दस ग्यारह तक रैक डिस्पैच की स्थिति आ गई थी उसमें सुधार होते हुए देररात को 20 रैक डिस्पेच हुई है।उन्होंने बताया कि कोल इंडिया की अनुषंगी इकाई एनसीएल से 4 रैक डिस्पेच हुई है वहीं एसईसीएल से जहां मुश्किल से एक रैक डिस्पैच हो रही थी वह बढ़कर रेल व रोड मार्ग से 3 अतिरिक्त रैक सहित 4 रैक डिस्पेच हुई है। इसी तरह से विद्युत उत्पादन निगम और अडानी के संयुक्त उपक्रम से कोयले की 12 रैक डिस्पेच करवाई गई है। इस तरह से प्रदेश के लिए 20 रैक डिस्पैच हुई है जबकि इससे पहले वाले दिन 16 और उससे पहले एक बार तो 10 से 11 व इससे कम रैक की स्थिति आ गई थी। उन्होंने बताया कि कोयले की रैक डिस्पेच मात्रा में सुधार के साथ ही विद्युत उत्पादन और आपूर्ति में तेजी से सुधार आएगा।एसीएस एनर्जी डॉ. सुबोध अग्रवाल ने दिल्ली में केन्द्रीय कोयला सचिव श्री अनिल जैन से कोयला की आपूर्ति बढ़ाने सहित विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की । केन्द्रीय कोयला सचिव श्री जैन ने डॉ. अग्रवाल को राजस्थान के लिए कोयला की आपूर्ति में लगातार सुधार के लिए आश्वस्त किया। श्री जैन ने कहा कि बरसात व अन्य कारण से आपूर्ति प्रभावित हुई है जिससे जल्दी ही सामान्य कर दिया जाएगा।एसीएस डॉ. अग्रवाल ने इसके साथ ही दिल्ली में बुधवार को ही केन्द्रीय सचिव वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय श्री आरपी गुप्ता से भी मुलाकात कर राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम और अड़ानी के संयुक्त उपक्रम परसा ईस्ट एवं कांता बासन की द्वितीय चरण वन भूमि 1136 हैक्टेयर के हस्तांतरण होना है। उन्होंने बताया कि परसा कोल ब्लॉक की दूसरे चरण की वन स्वीकृति प्राप्त होना पेंडिंग है। केन्द्रीय पर्यावरण सचिव ने दोनों स्वीकृतियों पर शीघ्र कार्यवाही का विश्वास दिलाया है।इस बीच एसीएस डॉ. अग्रवाल दिल्ली से ही जयपुर में संयुक्त सचिव श्री आलोक रंजन, सीएमडी विद्युत वितरण निगम श्री आरके शर्मा और तकनीकी निदेशक उर्जा विकास निगम श्री पीएस सक्सेना, मुख्य अभियंता श्री मुकेश बंसल व अन्य अधिकारियों से फीड बैक लेते हुए विद्युत आपूर्ति, उपलब्धता व मांग की समीक्षा करते रहे।—–

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

282 करोड़ से एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन प्लांट कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास राजस्थान तीसरी लहर का मुकाबला करने में सक्षम ः मुख्यमंत्री

Description 282 करोड़ से एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन प्लांट कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास राजस्थान तीसरी …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com