fbpx
सोमवार , दिसम्बर 6 2021
Breaking News
SLSA Fashion

282 करोड़ से एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन प्लांट कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास राजस्थान तीसरी लहर का मुकाबला करने में सक्षम ः मुख्यमंत्री

Description

282 करोड़ से एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन प्लांट कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास राजस्थान तीसरी लहर का मुकाबला करने में सक्षम ः मुख्यमंत्रीजयपुर, 24 अक्टूबर। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार ने कोरोना महामारी की भयावह चुनौती को अवसर में बदलते हुए प्रदेश में व्यापक स्तर पर उच्च गुणवत्ता की स्वास्थ्य सुविधाएं विकसित की हैं। राजधानी से लेकर गांव-ढाणी तक मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया गया है। उन्होंने कहा कि अगर कोरोना की तीसरी लहर आती है तो अब राजस्थान उसका मुकाबला करने के लिए पूरी तरह सक्षम है। श्री गहलोत रविवार को राज्य में चिकित्सा एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधीन संचालित चिकित्सा संस्थानों में एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन जनरेशन एवं लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट के लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने करीब 231.66 करोड़ रूपए की लागत के कार्यों का लोकार्पण एवं लगभग 50.61 करोड़ रूपए की लागत के कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड महामारी अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुई है। यूके, रूस सहित दुनिया के कई मुल्कों में कोरोना से हालात फिर गंभीर हो गए हैं। कई राज्यों में भी केस बढ़ने लगे हैं। ऎसे में, सजगता और सतर्कता बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पहली और दूसरी लहर में कोरोना का बेहतरीन प्रबंधन कर लोगों का जीवन बचाया है। हमारे प्रयासों की देश और दुनिया में सराहना हो रही है। हमारी सरकार ने तीसरी लहर से मुकाबले के लिए टेस्टिंग सुविधाओं को बढ़ाने, वैरिएंट की पहचान के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग सुविधा प्रारंभ करने, ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता हासिल करने, आईसीयू बैड्स बढ़ाने सहित तमाम आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत किया है। श्री गहलोत ने कहा कि निःशुल्क जांच एवं दवा योजना के बाद इस कार्यकाल में हमारी सरकार ने निरोगी राजस्थान और मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य जीवन बीमा जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं शुरू की है। इनका उद्देश्य है कि लोग स्वस्थ जीवन शैली को अपनाएं। यदि बीमार हों भी तो उन्हें भारी-भरकम खर्च की चिंता नहीं करनी पड़े। स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से उन्हें 5 लाख रूपए तक का कैशलेस उपचार मिल रहा है। नगरीय विकास मंत्री श्री शांति धारीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री की दूरदर्शी सोच से कोरोना का बेहतरीन प्रबंधन संभव हो सका। नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन विभाग के माध्यम से क्वारेंटीन सुविधाएं विकसित करने, मास्क वितरण, इंदिरा रसोई के माध्यम से भोजन उपलब्ध कराने, जरूरतमंदों को अनुग्रह राशि का वितरण जैसे महत्वपूर्ण कार्य किए गए। अब ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट स्थापित करने के कार्य को तेजी से पूरा किया जा रहा है। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि दूसरी लहर के समय पूरा देश ऑक्सीजन के संकट से जूझ रहा था, लेकिन राज्य सरकार ने प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित की। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने तीन वरिष्ठ मंत्रियों की टीम को दिल्ली भेजा। ऑक्सीजन आपूर्ति की लगातार गहन मॉनिटरिंग की गई। अब हम ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना के काम को प्राथमिकता से पूरा कर रहे हैं। राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती संगीता बेनीवाल ने कहा कि बाल कल्याण के लिए संचालित योजनाओं का लाभ बच्चों तक पहुंचाने के लिए आयोग पूरी प्रतिबद्धता से काम कर रहा है। इसी कड़ी में, आयोग का प्रयास है कि प्रदेश में संचालित किशोर गृहों, शिशु गृहों, बालिका गृहों, शैल्टर होम्स आदि में बच्चों को कोविड से बचाव की बेहतर सुविधाएं मिलें। चिकित्सा शिक्षा सचिव श्री वैभव गालरिया ने प्रदेश को ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिन स्वास्थ्य सेवाओं का आज लोकार्पण किया गया है, उससे प्रदेश में चिकित्सा ढांचे को मजबूती मिलेगी। आयुक्त चिकित्सा शिक्षा शिवांगी स्वर्णकार ने आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम में 349 आईसीयू बैड, 178 एनआईसीयू बैड, 10 पीआईसीयू बैड, 160 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट, 2 लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट और दानदाताओं के माध्यम से निर्मित 23 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का लोकार्पण किया गया। पीपाड़, भोपालगढ़ और नोहर में विधायक कोष से तैयार ऑक्सीजन प्लांट्स का लोकार्पण किया गया। साथ ही, 404 एनआईसीयू बैड और 469 पीआईसीयू बैड्स की सुविधा विकसित करने के कार्य का शिलान्यास किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग एवं कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रन फाउण्डेशन की ओर से प्रदेश के बाल संरक्षण गृहों, सुधार गृहों, शिशु गृहों, बालिका गृह आदि के लिए कोविड केयर किट वितरण का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य, प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा श्री अखिल अरोरा, नगरीय विकास विभाग के प्रमुख सचिव श्री कुंजीलाल मीणा, स्वायत्त शासन विभाग के सचिव श्री भवानी सिंह देथा, जेडीसी श्री गौरव गोयल, एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भण्डारी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। राज्य मंत्रिपरिषद के सदस्य, सांसद, विधायक, अन्य जनप्रतिनिधि, संभागीय आयुक्त, जिला कलेक्टर, मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य, सीएमएचओ एवं चिकित्सा विभाग के अन्य अधिकारी भी वीडियो कॉन्फे्रंस के माध्यम से कार्यक्रम में शामिल हुए। —-

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
SLSA Fashion

Check Also

ओमीक्रोन

जिनोम सीक्वेंसिंग से हुई 9 व्यक्तियों में ओमीक्रोन वायरस मिलने की पुष्टि विभाग ने कांटेक्ट ट्रेसिंग कर संपर्क में आए व्यक्तियों को किया आइसोलेट

जिनोम सीक्वेंसिंग से हुई 9 व्यक्तियों में ओमीक्रोन वायरस मिलने की पुष्टि विभाग ने कांटेक्ट …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com