fbpx
बुधवार , जनवरी 19 2022
Breaking News
लखनऊ की सड़कों पर रह कर अशोक गहलोत सरकार का विरोध कर रहे हैं राजस्थान के बेरोजगार युवक।

लखनऊ की सड़कों पर रह कर अशोक गहलोत सरकार का विरोध कर रहे हैं राजस्थान के बेरोजगार युवक।

लखनऊ की सड़कों पर रह कर अशोक गहलोत सरकार का विरोध कर रहे हैं राजस्थान के बेरोजगार युवक।
प्रियंका गांधी से मिलने तक लखनऊ में ही रहेंगे। भर्तियों में विसंगतियां और नई भर्ती नहीं होने से युवा वर्ग परेशान-उपेन यादव।
==========
राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव के नेतृत्व में दो सौ से भी ज्यादा बेरोजगार युवक 28 नवंबर को भी उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में डेरा डाले रहे। यादव ने बताया कि 27 नवंबर को युवाओं ने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी से मिलने की कोशिश की थी, लेकिन लखनऊ के कांग्रेस कार्यालय में उन्हें प्रवेश नहीं दिया। कार्यालय के बाहर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राजस्थान के युवाओं के साथ बदसलूकी भी की। यादव ने कहा कि वे प्रियंका गांधी को कांग्रेस शासित राजस्थान में बेरोजगारों की स्थिति से अवगत करवाना चाहते हैं। महासंघ ने बेरोजगार की समस्याओं को कई बार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समक्ष रखा है। अभी डेढ़ माह से जयपुर में धरना दिया जा रहा है, लेकिन हमारी समस्याओं का समाधान नहीं हुआ है। 2018 के विधानसभा चुनाव में बेरोजगारों ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी। तब राहुल गांधी ने कहा था कि कांग्रेस की सरकार बनने पर बेरोजगारों की समस्याओं का समाधान कर दिया जाएगा। राहुल के आश्वासन के बाद ही विधानसभा चुनावों में बेरोजगारों ने कांग्रेस की सरकार का समर्थन किया, लेकिन कांग्रेस की सरकार बने तीन वर्ष गुजर जाने के आद अधिकांश मांगे पूरी नहीं हुई है। प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश के बेरोजगारों के लिए जो मांग कर रही हैं, वे ही मांग राजस्थान के बेरोजगारों की है। चूंकि राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार बेरोजगारों की नहीं सुन रही है, इसलिए हमें प्रियंका गांधी से मिलने के लिए लखनऊ आना पड़ा है। प्रियंका गांधी से मिलने तक हम लखनऊ में ही रहेंगे। यादव ने बताया कि राजस्थान से आए सैकड़ों युवा बेरोजगार हैं, इसलिए लखनऊ की सड़कों पर ही ठहरे हुए हैं। रात भी खुले में गुजार रहे हैं। सार्वजनिक शौचालयों का उपयोग कर स्नान आदि कर रहे हैं। हम अपने साधनों से लखनऊ आए हैं। राजस्थान के बेरोजगारों के सामने भूखों मरने की स्थिति है।
ये हैं प्रमुख मांगे:
नर्सिंग भर्ती 2013 के वंचित अभ्यर्थियों को नियुक्ति देने, प्रयोगशाला सहायक भर्ती 2018 चिकित्सा विभाग की चयन सूची जारी करने, स्कूल व्याख्याता भर्ती 2018 में कम किए गए 689 पद जल्द से जल्द जोड़कर सूची जारी करने, रीट शिक्षक भर्ती 2021 में 5000 पदों पर विशेष शिक्षकों के पद निकालने, रीट शिक्षक भर्ती 2021 में 31 हजार से बढ़ाकर 50 हजार करने, शिक्षक भर्ती 2012 मामले में सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ताओं के पक्ष में प्रार्थना पत्र देने, रीट शिक्षक भर्ती 2018 को पूरी करने, पंचायती राज एलडीसी भर्ती 2013 का नियुक्ति प्रक्रिया का कैलेंडर जारी, टेक्निकल हेल्पर, पंचायतराज जेईएन, कंप्यूटर अनुदेशक भर्ती, फस्र्ट ग्रेडएसेकंड ग्रेड (पीटीआई भर्ती के 461 पदों की संख्या बढ़ाकर 2000 पदों पर) की विज्ञप्तियां जारी करने, नीमराणा कमलादेवी परीक्षा केंद्र पर दर्ज 6 बेरोजगार अभ्यर्थियों के मुकदमे वापस लेने, प्रतियोगी परीक्षा में गैर जमानती कानून का अध्यादेश लाने, चिकित्सा विभाग में नई भर्तियों की विज्ञप्तियां जारी करने, बाहरी राज्यों का कोटा कम करके प्रदेश के बेरोजगारों को प्राथमिकता देने, प्रतियोगी भर्ती परीक्षाओं में अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र गृह जिले में एवं परीक्षा केंद्र सरकारी स्कूलों में दिया जाए और सरकारी कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई लगाने सहित प्रतियोगी भर्ती परीक्षाओं में बायोमेट्रिक वीडियोग्राफी अनिवार्य रूप से करवाने की मांग की है।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें

Check Also

उत्तर पूर्वी क्षेत्र विकास मंत्रालय के मणिपुर के सेनापति जिले में एपेक्स क्लस्टर कम्युनिटी रिसोर्स डेवलपमेंट सोसाइटी (एसीसीओआरडीएस) द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिरता और उन्नति

एपेक्स क्लस्टर कम्युनिटी रिसोर्स डेवलपमेंट सोसाइटी (एसीसीओआरडीएस) एक गैर लाभकारी संगठन है जिसकी स्थापना वर्ष …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *