fbpx
शनिवार , जनवरी 22 2022
Breaking News
राजस्थान

विभागीय संस्थाओं के लिए दो दिवसीय पर्यवेक्षण अभियान

Description

विभागीय संस्थाओं के लिए दो दिवसीय पर्यवेक्षण अभियानजयपुर 11 जनवरी। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा राज्य में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, बाल अधिकारिता विभाग, विशेष योग्यजन विभाग एवं अनुजा निगम के कार्यालयों, छात्रावासों, आवासीय विद्यालयों, गृृहों अथवा संस्थानों के विस्तृत पर्यवेक्षण हेतु सोमवार से दो दिवसीय सघन पर्यवेक्षण अभियान चलाया जा रहा है।डॉ0 समित शर्मा,शासन सचिव,सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने बताया कि अभियान का उद्देश्य राज्य सरकार की योजनाओं की जमीनी स्तर पर क्रियान्विति, आमजन को गुणवत्तापूर्ण राजकीय सेवाएं उपलब्ध कराना, अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बेहतर कार्य करने में मार्गदर्शन प्रदान करना, कार्यालय पद्धति में सुधार तथा सुशासन हेतु पारदर्शी व उत्तरदायी प्रशासनिक व्यवस्था लागू करना है।अभियान के लिए विभाग के अधिकारियों की जिलेवार डयूटी लगाई गई है, जिसके अनुसार अधिकारियों द्वारा स्वयं को आवंटित जिले की संस्थाओं या कार्यालयों के विजिट के साथ-साथ फील्ड विजिट कर योजनाओं के 5-5 लाभार्थियों की जमीनी स्तर पर जांच की जा रही है।शासन सचिवने बताया कि अभियान के दौरान आज सायं तक 103 कार्यालयों, 73 बाल गृह संस्थाओं, 439 छात्रावासों, 20 आवासीय विद्यालयों, 17 वृद्धाश्रमों, 29 विशेष योग्यजन विभाग की संस्थाओं तथा 5 संभाग स्तरीय नारी निकेतनों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षणकर्ता अधिकारियों द्वारा संक्षिप्त निरीक्षण प्रपत्र मय फोटो के गूगल फार्म पर अपलोड किया जा रहा है।डॉ0 शर्मा ने कहा कि गूगल फार्म से प्राप्त सूचनाओं के आधार पर कार्यालय/छात्रावास/आवासीय विद्यालयों एवं संस्थानों का रिपोर्ट कार्ड तैयार कर उत्कृृष्ट संस्थान को गणतन्त्र दिवस के अवसर पर प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जावेगा। संस्थाओं ——

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें

Check Also

राजस्थान

मुख्यमंत्री का प्रधानमंत्री को पत्र भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रतिनियुक्ति नियमों में प्रस्तावित संशोधन सहकारी संघवाद की भावना के विपरीत सरदार पटेल द्वारा ‘स्टील फ्रेम ऑफ इंडिया’ बताई गई सेवाएं भविष्य में कमजोर होंगी

Description मुख्यमंत्री का प्रधानमंत्री को पत्रभारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रतिनियुक्ति नियमों में प्रस्तावित संशोधन सहकारी …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *