fbpx
Breaking News
निवेश के अनुकूल माहौल तैयार करने की दिशा में कई कदम उठाए -उद्योग मंत्री

निवेश के अनुकूल माहौल तैयार करने की दिशा में कई कदम उठाए -उद्योग मंत्री

पाली में 100 करोड के सीईटीपी का शिलान्यास
निवेश के अनुकूल माहौल तैयार करने की दिशा में कई कदम उठाए -उद्योग मंत्री
जयपुर, 28 जनवरी। उद्योग मंत्री श्री परसादी लाल मीणा ने गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास से पुनायता (पाली) में स्थापित संयुक्त जल परिशोधन संयंत्र (सीईटीपी) नंबर 6 में जीरो लिक्विड डिस्चार्ज तकनीक अपग्रेडेशन का वीसी के माध्यम से शिलान्यास किया। 100 करोड रूपए की लागत की 12 एमएलडी क्षमता की इस परियोजना से प्रतिदिन करीब एक करोड़ लीटर भू-जल का संरक्षण होगा और पानी की गुणवत्ता में भी सुधार होगा।
संयंत्र के शिलान्यास के बाद संबोधित करते हुए उद्योग मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राज्य सरकार ने उद्यमियों को सुविधा प्रदान करने एवं प्रदेश में निवेश के अनुकूल माहौल तैयार करने की दिशा में हरसंभव कदम उठाए हैं।
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में निवेश बोर्ड का गठन किया गया है। प्रदेश में औद्योगिक वातावरण तैयार करने एवं निवेशकों को आकर्षित करने के लिए रिप्स-2019, वन स्टॉप शॉप प्रणाली, राजस्थान उद्योग नीति जैसे नीतिगत सुधार किए गए हैं।
श्री मीणा ने कहा कि रीको द्वारा उपखंड मुख्यालय पर भी औद्योगिक क्षेत्र विकसित किए जा रहे हैं। इसके लिए जिला कलेक्टर के माध्यम से प्रस्ताव मंगवाए गए हैं। प्रदेश में नए उद्योग लगें और बेरोजगारी दूर हो इसके लिए मुख्यमंत्री लघु उद्योग रोजगार योजना के तहत नए उद्योग लगाने वाले युवा उद्यमियों को पांच से आठ प्रतिशत तक की सब्सिडी उपलब्ध कराई जा रही है।
उद्योग मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशा है कि प्रदूषण की समस्या के कारण उद्योग धंधे बंद नहीं हों। सीईटीपी के अपग्रेडेशन से पाली में उद्योग धंधों में तेजी आएगी और वस्त्र उद्योग से होने वाले प्रदूषण को कम करने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा जारी आदेशों के अनुरूप सीईटीपी को अपगे्रड किया जा रहा है ताकि वहां स्थापित उद्योगों को राहत मिल सके। उन्होंने कहा कि जोधपुर एवं भिवाड़ी में भी सीईटीपी उन्नयन का कार्य जल्द ही किया जाएगा।
उद्योग विभाग के सचिव श्री आशुतोष एटी पेडनेकर ने कहा कि विभाग वस्त्र उद्योग को संबल प्रदान करने के लिए हरसंभव प्रयास करेगा। आयुक्त, उद्योग श्रीमती अर्चना सिंह ने अपने प्रस्तुतीकरण में बताया कि केन्द्र सरकार की इंटीग्रेटेड प्रोसेसिंग डवलपमेंट स्कीम (आईपीडीएस) के तहत 12 एमएलडी क्षमता का यह प्रोजेक्ट 100 करोड की लागत से तैयार होगा। इसमें भारत सरकार की हिस्सा राशि 50 करोड़ रूपए, राज्य सरकार की 25 करोड़ एवं एसपीवी पाली की भागीदारी 25 करोड़ रूपए होगी।
पाली टैक्सटाइल कॉमन इफ्यूलैंट ट्रीटमेंट प्लांट के चैयरमेन श्री अनिल गुलेछा ने शिलान्यास कार्यक्रम की शुरूआत में सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि यह सीईटीपी पाली उद्योग जगत के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने कहा कि सितंबर तक यह परियोजना पूरी हो जाएगी।
स्वायत्त शासन संस्था के अध्यक्ष श्री केवलचंद गुलेछा ने सीईटीपी के अपग्रेडेशन के लिए मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वस्त्र उद्योग से राजस्थान में लाखों युवाओं को रोजगार मिलता है। उन्होंने पाली में सीईटीपी फेज-7 के लिए रीको द्वारा 23 हजार 400 वर्ग मीटर जमीन आवंटित किए जाने के लिए पाली टैक्सटाइल इंडस्ट्रीज की ओर से धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि राजस्थान में टैक्सटाइल इंडस्ट्रीज में जीरो डिस्चार्ज पॉल्यूशन के मामले में पाली मॉडल बनेगा।
कार्यक्रम के दौरान पाली सांसद श्री पीपी चौधरी, पूर्व सांसद श्री बद्री जाखड़, विधायक श्री ज्ञानचंद पारख, रीको के चैयरमेन श्री कुलदीप रांका एवं अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी उपस्थित थे।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe

Check Also

निजी अस्पतालों में कोविड-19 टीकाकरण की 250 रुपए प्रति डोज दर रहेगी

निजी अस्पतालों में कोविड-19 टीकाकरण की 250 रुपए प्रति डोज दर रहेगी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *