fbpx
सोमवार , अक्टूबर 25 2021
Breaking News
Phone Panchayat
ऑनलाइन भर्ती परीक्षा आयोजित करने के दीर्घकालीन प्रयास हों -मुख्य सचिव

ऑनलाइन भर्ती परीक्षा आयोजित करने के दीर्घकालीन प्रयास हों -मुख्य सचिव

ऑनलाइन भर्ती परीक्षा आयोजित करने के दीर्घकालीन प्रयास हों -मुख्य सचिव
जयपुर, 28 जनवरी। मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य ने कहा कि भर्ती परीक्षाओं में बेहतर सुरक्षा, पारदर्शिता, तीव्र संचालन, मूल्याकंन एवं नियंत्रण के साथ-साथ ऑफ लाईन परीक्षाओं के बजाय ऑनलाइन परीक्षाएं आयोजित करने के दीर्घकालीन प्रयास होने चाहिये। श्री आर्य गुरूवार को शासन सचिवालय में भर्ती प्रक्रियाओं में विभिन्न चुनौतियों के निस्तारण के लिए गठित समिति द्वारा प्रस्तुत सुझावों पर समिति सदस्यों के साथ चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भर्ती परीक्षाओं को ऑनलाइन करने के लिए हमें अपनी क्षमताएं बढ़ानी होंगी तथा एक निश्चित लक्ष्य के साथ इस दिशा में सार्थक कदम उठाने होंगे।
मुख्य सचिव ने कहा कि लाखों युवाओं के भविष्य को देखते हुए भर्ती परीक्षाओं में नकल प्रकरणों को रोकने, पेपर आउट के मामलों पर पूर्णतया अंकुश लगाना होगा। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन परीक्षाओं में नकल एवं पेपर लीक प्रकरण शून्य के बराबर होने के कारण हमें परीक्षा भर्तियों के ऑनलाइन मैथड के लिए अपना इन्फ्रास्ट्रक्चर बढ़ाना होगी। उन्होंने कहा कि फिलहाल राज्य में हाइब्रिड मॉडल के आधार पर प्रथम स्तर पर ऑफ लाइन तथा द्वितीय स्तर पर ऑफ लाइन परीक्षाएं आयोजित हो।
मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि प्रश्नपत्रों के परिवहन को सर्वाेधिक महत्व देते हुए इन्हें उच्च सुरक्षा में सुरक्षित रूप से परीक्षा केन्द्रों मे पहुंचाया जाना चाहिए। इसके साथ ही प्रारम्भ से अंत तक जीपीएस ट्रेकिंग व्यवस्था अपनायी जानी चाहिए। उन्होंने परीक्षार्थियों का डिजिटल तकनीक से सत्यापन किये जाने की भी सलाह दी।
बैठक में कार्मिक विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री हेमन्त कुमार गेरा ने कहा कि वर्तमान समय में विभिन्न भर्तियों में आ रही चुनौतियों का सामना करने के लिए राज. लोक सेवा आयोग एवं राज. कर्मचारी चयन बोर्ड को आधारभूत सुविधाओं के सन्दर्भ में मजबूत किया जाना चाहिए।
उपमहानिरीक्षक (एस.ओ.जी.) श्री शरत कविराज ने पेपरलीक प्रकरणों और परीक्षाओं में नकल को रोकने के लिए ऑनलाइन परीक्षाएं आयोजित करना अत्यावश्यक है।
बैठक में कार्मिक विभाग के संयुक्त सचिव श्री जय सिंह ने समिति द्वारा दिये गये महत्वपूर्ण सुझावों को विस्तार से प्रस्तुत करते हुए बताया कि प्रत्येक परीक्षा हेतु परीक्षा केन्द्रों पर छात्रों का बायोमैट्रिक मिलान करने के साथ परीक्षा के बाद अभ्यर्थियों की उपस्थिति सीट्स की स्कैनिंग भी की जानी चाहिए।
इस अवसर पर राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के पूर्व सचिव श्री मुकुट बिहारी जांगिड़ एवं सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के तकनीकी निदेशक श्री अरूण चौहान भी उपस्थित रहे।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

282 करोड़ से एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन प्लांट कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास राजस्थान तीसरी लहर का मुकाबला करने में सक्षम ः मुख्यमंत्री

Description 282 करोड़ से एनआईसीयू, पीआईसीयू, आईसीयू, ऑक्सीजन प्लांट कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास राजस्थान तीसरी …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com